पंजाब और हरियाणा में 11 अक्‍टूबर से शुरू होगी न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य पर धान की खरीद

हरियाणा के आढ़तियों का कहना है कि मंडियां पहले से ही धान से अटी पड़ी हैं. अगर सरकारी खरीद 11 से हुई तो मंडियां पूरी तरह से भर जाएंगी.

पंजाब और हरियाणा में 11 अक्‍टूबर से शुरू होगी न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य पर धान की खरीद
भारतीय किसान यूनियन समेत आढ़ती एसोसिएशन ने इस फैसले का विरोध करते हुए आंदोलन की चेतावनी है. PC: Pixabay

केन्‍द्र सरकार ने निर्णय‍ लिया है कि पंजाब और हरियाणा में इस महीने की 11 तारीख से न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य पर धान की खरीद की जाएगी. उपभोक्‍ता मामलों, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय ने सभी एजेंसियों से इसके लिए तैयार रहने को कहा है, ताकि किसानों को इसका लाभ मिल सके. मंत्रालय ने कहा है कि इस वर्ष सितम्‍बर के दूसरे पखवाडे के दौरान पंजाब और हरियाणा में अत्यधिक वर्षा हुई है. बेमौसम की बारिश से दोनों ही राज्‍यों में धान की खड़ी फसल को नुकसान पहुंचा है. इस कारण तापमान में भी कमी रिकार्ड की गई.

मंत्रालय का कहना है कि बेमौसम की वर्षा के कारण धान के दानों के पकने में देरी हुई. पंजाब और हरियाणा की सरकारों से कहा गया है कि वे मंडियों में पहुंचे धान को सुखाने और खलिहान में पडे धान को सुखा कर मंडी पहुंचाने की व्यवस्था करें.

बता दें कि भारतीय किसान यूनियन समेत आढ़ती एसोसिएशन ने इस फैसले का विरोध करते हुए आंदोलन की चेतावनी है. हरियाणा सरकार एक अक्टूबर से धान की सरकारी खरीद की घोषणा कर चुकी थी. इसके लिए सभी मंडियों में तैयारियां भी की गई हैं. दूसरी तरफ केंद्र सरकार का कहना है कि बारिश के कारण अभी तक धान की फसल पूरी तरह पकी नहीं है, इससे फसल में नमी है. यह कारण है कि अब 11 अक्टूबर से धान की एमएसपी पर खरीद शुरू करने का फैसला लिया गया है.

वहीं, हरियाणा के आढ़तियों का कहना है कि मंडियां पहले से ही धान से अटी पड़ी हैं. अगर सरकारी खरीद 11 से हुई तो मंडियां पूरी तरह से भर जाएंगी. ऐसे में जल्द ही एमएसपी पर खरीद शुरू करनी चाहिए.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष