Q2FY22 में भी अच्छी रह सकती है IT सेक्टर की ग्रोथ

भले ही आईटी शेयर प्रीमियम पर ट्रेड कर रहे हैं, किंतु अच्छे परिदृश्य के चलते इनमें तेजी बनी रह सकती है.

Q2FY22 में भी अच्छी रह सकती है IT सेक्टर की ग्रोथ
Motilal Oswal Financial Services का विचार है कि टियर-2 के मुकाबले टियर-1 की कंपनियां ज्यादा बेहतर नजर आ रही हैं. PC: Pixabay

मौजूदा वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के नतीजे अब आने लगेंगे. आईटी कंपनी TCS 8 अक्टूबर को अपने नतीजे जाहिर करेगी. उम्मीद की जा रही है कि अच्छी मांग की वजह से आईटी कंपनियों की आमदनी में बढ़ोतरी होगी. Motilal Oswal Financial Services का मानना है कि टियर-1 की आईटी कंपनियां तिमाही-दर-तिमाही आधार पर 3.9 से 6.9 फीसदी की रेवेन्यू ग्रोथ हासिल कर सकती है. जबकि टियर-2 कंपनियां के लिए यह आंकड़ा 4.9 से 10.5 फीसदी के बीच रह सकता है.

इस ब्रोकरेज फर्म के अनुसार इंफोसिस आईटी कंपनियों को लीड कर सकती है. इसकी ग्रोथ 5.7 फीसदी, तिमाही-दर-तिमाही आधार पर, रह सकती है. जबकि विप्रो के लिए यह दर 6.9 फीसदी रह सकती है. इसके बाद TCS (+4.2% QoQ CC), TECHM (+4.2% QoQ CC), और HCLT (3.9% QoQ CC) का नंबर रह सकता है.

टियर-2 आईटी कंपनियों में Mindtree की ग्रोथ 8.5% QoQ CC रह सकती है. Persistent Systems और Mphasis (Direct business) भी अच्छा प्रदर्शन कर सकती हैं. इनकी आमदनी ग्रोथ 6 फीसदी से ऊपर रहने की उम्मीद है.

मार्जिन पर हो सकता असर

Emkay Global का मानना है कि EBITM (Earnings Before Interest Tax Margin) पर दबाव बना रह सकता है. इसकी वजह वेतन बढ़ोतरी, ऊंची लागत, नई नौकरियां वगैरह हैं. हालांकि, कुछ कंपनियों के लिए EBITM स्थिर रह सकता है या फिर इसमें इजाफा हो सकता है.

Motilal Oswal के मुकुल गर्ग का कहना है, “आपूर्ति दबाव (नई नौकरियां आदि) की वजह से मार्जिन में कमी आ सकती है. साथ ही Infosys, Wipro, Persistent Systems, और Zensar Technologies पर वेतन बढ़ोतरी के कारण दबाव बढ़ सकता है. टियर-1 कंपनियों के मामले में TCS का मार्जिन बढ़ सकता है, जबकि वेज हाइक के कारण Wipro का मार्जिन कम हो सकता है. टियर-2 कंपनियों में Coforge रुझान के उलट चल सकती है, इसके मार्जिन में 2 फीसदी की वृद्धि हो सकती है. Zensar Technologies के मार्जिन में 3.4 फीसदी की
कमी आने की संभावना है. इसकी वजह वेतन-बढ़ोतरी और निवेश वगैरह हैं.”

वैल्यूएशन

भले ही आईटी शेयर प्रीमियम पर ट्रेड कर रहे हैं, किंतु अच्छे परिदृश्य के चलते इनमें तेजी बनी रह सकती है. Motilal Oswal Financial Services का विचार है कि टियर-2 के मुकाबले टियर-1 की कंपनियां ज्यादा बेहतर नजर आ रही हैं, क्योंकि इनका वैल्यूएशन आकर्षक लग रहा है. इस क्षेत्र में यह ब्रोकरेज फर्म Infosys, HCL Tech, L&T Technology Services, Mphasis, Zensar Technologies और Cyient को लेकर पॉजिटिव है.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष