लगातार पांचवें महीने दोहरे अंकों में रही मुद्रास्फीति, ये है कारण

Inflation: प्याज की महंगाई दर 62.78 फीसदी, जबकि दालों की महंगाई दर 9.41 फीसदी रही. सब्जियों में यह अगस्त में (-) 13.30 फीसदी था.

  • Money9 Hindi
  • Publish Date - September 14, 2021 / 01:35 PM IST
लगातार पांचवें महीने दोहरे अंकों में रही मुद्रास्फीति, ये है कारण
अगस्त 2021 में मुद्रास्फीति की उच्च दर मुख्य रूप से गैर-खाद्य वस्तुओं, खनिज तेलों, कच्चे पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस, मूल धातुओं जैसे विनिर्मित उत्पादों, खाद्य उत्पादों, वस्त्रों, रसायनों और रासायनिक उत्पादों आदि की कीमतों में वृद्धि के कारण है

Inflation: थोक मूल्य आधारित मुद्रास्फीति (Inflation) अगस्त में मामूली रूप से बढ़कर 11.39 प्रतिशत हो गई, जिसका मुख्य कारण मैन्‍यूफैक्‍चरर वस्तुओं की ऊंची कीमतें थीं, जबकि खाद्य पदार्थों की कीमतों में नरमी आई थी. दो महीने के आसान ट्रेंड को तोड़ते हुए, थोक मूल्य सूचकांक मुद्रास्फीति अगस्त में बढ़ी और लगातार पांचवें महीने दोहरे अंकों में रही. 

वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय ने एक बयान में कहा

वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय ने एक बयान में कहा जुलाई 2021 में WPI मुद्रास्फीति 11.16 प्रतिशत थी. अगस्त 2020 में, WPI मुद्रास्फीति 0.41 प्रतिशत थी.

“अगस्त 2021 में मुद्रास्फीति की उच्च दर मुख्य रूप से गैर-खाद्य वस्तुओं, खनिज तेलों, कच्चे पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस, मूल धातुओं जैसे विनिर्मित उत्पादों, खाद्य उत्पादों, वस्त्रों, रसायनों और रासायनिक उत्पादों आदि की कीमतों में वृद्धि के कारण है.

खाद्य पदार्थों की मुद्रास्फीति लगातार चौथे महीने कम हुई, अगस्त में (-) 1.29 प्रतिशत दर्ज की गई, जुलाई में शून्य प्रतिशत से, यहां तक ​​कि प्याज और दालों की कीमतों में भी वृद्धि हुई.

प्याज की महंगाई दर 62.78 फीसदी, जबकि दालों की महंगाई दर 9.41 फीसदी रही. सब्जियों में यह अगस्त में (-) 13.30 फीसदी था. कच्चे पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस की मुद्रास्फीति अगस्त में 40.03 प्रतिशत थी.

विनिर्मित उत्पादों में मुद्रास्फीति अगस्त में 11.39 प्रतिशत रही, जबकि जुलाई में यह 11.20 प्रतिशत थी.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष