होम लोन के लिए इस तरह कर सकते हैं सही टेन्‍योर का चुनाव, जाने पूरी डिटेल

Home Loan लेने से पहले इस बारे में अच्‍छे से विचार करें कि आपको अगले 15 से 20 वर्षों के लिए बैंक को एक निश्चित अमाउंट ईएमआई के रूप में चुकाना होगा.

  • Money9 Hindi
  • Publish Date - December 6, 2021 / 02:04 PM IST
होम लोन के लिए इस तरह कर सकते हैं सही टेन्‍योर का चुनाव, जाने पूरी डिटेल
इसे के साथ इमरजेंसी फंड भी बनाकर रखें. ऐसा मान लें कि कोरोना की तरह कोई खतरनाक वायरस फैल गया है और सब कुछ बंद हो गया है

होम लोन (Home Loan) लेने का निर्णय करना आपका अपने सपनों के घर में रहने का पहला चरण है. हमें पूरा विश्‍वास है कि आपके दिमाग में पहले से ही एक शानदार और बेहद सुंदर घर की पूरी तस्‍वीर होगी. आप अपनी सुविधा के हिसाब से अपने सपनों के घर को सजाना चाहेंगे. जिस तरह आपने अपनी जरूरत के हिसाब से अपने सपनों के घर की योजना बनाई है, उसी तरह आपका होम लोन (Home Loan) भी आपके लिए कस्टम मेड होना चाहिए. वह भी उन शर्तों के साथ जो आपके लिए एकदम सही हैं. होम लोन (Home Loan) लेने से पहले इस बारे में अच्‍छे से विचार करें कि आपको अगले 15 से 20 वर्षों के लिए बैंक को एक निश्चित अमाउंट ईएमआई के रूप में चुकाना होगा.

ऐसे में जरूरी है कि आगे एक आरामदायक फाइनेंशियल स्थिति के लिए आपको कुछ शर्तों का मसौदा तैयार करना होगा, जिसपर दोनों पक्ष सहमत हों. होम लोन के लिए कोई भी टेन्‍योर और ईएमआई देने से पहले अपनी मौजूदा और भविष्य की फाइनेंशियल जरूरतों को समझना जरूरी है. आइए इसे ऐसे समझते हैं –

मौजूदा पारिवारिक आय

आपको सभी स्रोतों से अपनी कुल मासिक आय का एक नोट बनाना होगा. इसमें आय के सभी स्रोतों को शामिल करें, जैसे नौकरी के अलावा फ्रीलांस और अन्‍य जगहों से होने वाली आय आदि सभी को इसमें नोट कर लें. अगर आपको साल में कोई बोनस भी मिलता है तो उसे भी डाउन पेमेंट के रूप में इसमें कर लें.

कुल खर्च

ऊपर दी गई कैल्‍कुलेशन के मुताबिक, आपकी कुल घरेलू आय में से अपने हर महीने होने वाले खर्चों को घटा लें. इसमें उन सभी ईएमआई, एसआईपी को शामिल करें जिन्हें आप जारी रखना चाहते हैं और सभी बड़े या छोटे खर्चे शामिल करें. इसमें अपने आने वाले खर्चे भी जोड़ें. इसी के साथ अगर आपने किसी बड़े निवेश की योजना बनाई गई है, जैसे कार और परिवार के लिए अतिरिक्त या सर्जरी इसे भी इसमें शामिल कर लें.

इसे के साथ इमरजेंसी फंड भी बनाकर रखें. ऐसा मान लें कि कोरोना की तरह कोई खतरनाक वायरस फैल गया है और सब कुछ बंद हो गया है. ऐसे में ये सुनिश्चित करें कि आपके पास अगले छह महीनों के खर्चों के लिए पर्याप्‍त अमाउंट है.

अब आने वाले समय के लिए अपने खर्चों को आय से घटाने के बाद आपको जो संख्या मिलती है वह आपकी कुल मासिक बचत होती है. थंब रूल का एक सामान्‍य नियम है कि आपकी ईएमआई कभी भी 40% से ज्‍यादा नहीं होनी चाहिए. ऐसे में आपकी मौजूदा कैल्‍कुलेशन का 40% आदर्श रूप से आपका होम लोन ईएमआई होना चाहिए. इससे ज्‍यादा कुछ भी बोझ साबित हो सकता है.

हर महीने अपनी ईएमआई के अतिरिक्त किसी भी मामूली राशि का भुगतान करें और अपनी कुल मूल राशि को कम करें. जैसा कि आप नियमित रूप से पूर्व भुगतान करना जारी रखते हैं, आप पहले से हुए समझौते की तुलना में बहुत पहले ही अपने लोन को खत्‍म कर देंगे. इससे आप कई अतिरिक्त ब्याज भुगतान के साथ ही अपना बुऔर बहुत सारा पैसा बचा सकते हैं.

(लेखक गौरव मोहता होमफर्स्ट फाइनेंस कंपनी के चीफ मार्केटिंग ऑफिसर हैं. विचार निजी हैं)

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष