त्योहारों ने जॉब मार्केट को कर दिया खुशहाल, अर्थव्यवस्था में लौटी रिकवरी की चाल, 9 पॉइंट्स में समझें पूरी बात

रोजगारी से जुड़े तीन अलग-अलग रिपोर्ट्स के मुताबिक, बडे पैमाने पर नौकरी के अवसर खुल गए हैं. यहां जानिए कौन से सेक्टर और शहरों को मिल रहा है फायदा.

  • Vijay Parmar
  • Publish Date - November 13, 2021 / 01:11 PM IST
त्योहारों ने जॉब मार्केट को कर दिया खुशहाल, अर्थव्यवस्था में लौटी रिकवरी की चाल, 9 पॉइंट्स में समझें पूरी बात
भारत में फर्म की कैंपस हायरिंग रणनीति का एक प्रमुख एलिमेंट इंटर्नशिप के माध्यम से टैलेंट को शामिल करना है

Festive Cheer For Jobseekers: त्योहारों के मौसम ने जोब मार्केट को खुशहाल कर दिया हैं. पिछले तीन महीनोें में विभिन्न प्रकार की नौकरियों के लिए कंपनियों ने बडी मात्रा में भर्ती की. फ्रेशर्स से लेकर एक्सपीरियेंस्ड और ड्राईवर से लेकर डेटा एनालिस्ट की डिमांड इस बात की पुष्टि करता है कि भारतीय अर्थतंत्र एक मुश्किल वर्ष के बाद रिकवरी की राह पर है. हाइपरलोकल अवसरों, उच्च वेतन और अधिक दक्षता के कारण विभिन्न भूमिकाओं के लिए लोगों ने जम कर आवेदन किए है, ऐसी जानकारी तीन कंपनियों के रिसर्च रिपॉर्ट्स से प्राप्त हो रही हैं.

जॉब्स इन डिमांड

भारत के सबसे बड़े रोजगार और पेशेवर नेटवर्किंग प्लेटफॉर्म apna.co के मुताबिक, टेली-कॉलर, बैक-ऑफिस काम, सेल्स एग्जीक्यूटिव, डेटा एंट्री ऑपरेटर, अकाउंट्स, फाइनेंस एंड मार्केटिंग और बिजनेस डेवलपमेंट एक्जीक्यूटिव जैसी भूमिकाओं के लिए लोगों ने जम कर आवेदन भेजे हैं. ऑफिस आसिस्टेंट, डिलिवरी स्टाफ, रिटेल प्रॉफेशनल्स और ड्राइवरों की भी मांग बढी हैं.

9 प्रतिशत की वृद्धि

मॉन्स्टर एम्प्लॉयमेंट इंडेक्स के मुताबिक, अक्टूबर 2020 के मुकाबले अक्टूबर 2021 में भर्ती की मांग में 9 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई, जो एक मजबूत रिकवरी दिखाती हैं.

3.7 करोड़ इंटरव्यू

ब्लू-कॉलर जॉब्स ऐप स्टार्ट-अप Apna ने त्योहारी सीजन में (सितंबर-नवंबर तिमाही) 1.2 करोड़ जॉब ओपनिंग की. इस एप ने 3.7 करोड़ से अधिक इंटरव्यू करवाए. सितंबर से नवंबर तक इस ऐप ने 50 लाख नए यूजर्स दर्ज किए.

ट्रावैल सेक्टर को फायदा

यात्रा और पर्यटन उद्योग में 7 प्रतिशत की मासिक वृद्धि देखी गई और खास तौर पर चंडीगढ़, जयपुर और कोच्चि जैसे शहरों में डिमांड बढी. होस्पिटालिटी और ट्रावैल सेक्टर में विभिन्न भूमिकाओं में पेशेवरों की भर्ती में महीने-दर-महीने सबसे अधिक वृद्धि देखी गई, जो आने वाले महीनों में यात्रा क्षेत्र के लिए एक समग्र आशाजनक वसूली का संकेत देती है.

बैक-टू-ऑफिस का असर

बैक-टू-ऑफिस ट्रेंड के कारण अक्टूबर 2021 में ऑफिस इक्विपमेंट जैसे उद्योगों ने उल्लेखनीय सुधार दिखाया. Quess कंपनी Monster.com के इंडेक्स के मुताबिक, इस कैटेगरी में नौकरियों की डिमांड 30 फीसदी बढी.

ई-भर्ती

अक्टूबर 2020 की तुलना में, अक्टूबर 2021 में ई-भर्ती गतिविधि तेज हो गई. सबसे अधिक 46% वृद्धि BFSI (बैंकिंग, फाइनेंशल सर्विजेज, इंश्योरेंस) उद्योग ने दिखाई. इसके बाद दूरसंचार/ISP (38%), IT-हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर (37%), प्रिंटिंग/पैकेजिंग (31%), ऑफिस इक्विपमेंट/ऑटोमेशन (27%) जैसे उद्योग का प्रदर्शन अच्छा रहा.

नौकरी की पोस्टिंग

अक्टूबर 2021 में, कोयंबटूर (3%) और जयपुर (1%) जैसे टियर-2 शहरों में नौकरी पोस्टिंग में सबसे अधिक मासिक वृद्धि देखी गई. हैदराबाद, कोच्चि, मुंबई और दिल्ली-NCR में हायरिंग गतिविधि में स्थिरता देखी गई.

वरिष्ठ पेशेवरों की मांग

Naukri JobSpeak सर्वे के मुताबिक, अक्टूबर में 8-12 वर्षों के कार्य अनुभव वाले वरिष्ठ पेशेवरों की मांगों में सबसे अधिक 55% और 0-3 साल के अनुभव वाले लोगों के लिए 36% की वृद्धि देखी गई.

डिजिटलाइजेशन से फायदा

महामारी के कारण डिजिटलाइजेशन बढने से हायरिंग के मामले में IT (+85%) और टेलिकोम (+84%) सबसे तेजी से बढ़ते क्षेत्रों के रूप में उभरे.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष