युवाओं की रोजगार क्षमता बढ़ाने के लिए डिजी सक्षम कार्यक्रम की हुई शुरुआत

माइक्रोसॉफ्ट इंडिया के साथ यह संयुक्त पहल ग्रामीण और अर्ध-शहरी क्षेत्रों के युवाओं को समर्थन देने के लिए सरकार के चल रहे कार्यक्रमों का विस्तार है.

  • Money9 Hindi
  • Publish Date - October 1, 2021 / 02:15 PM IST
युवाओं की रोजगार क्षमता बढ़ाने के लिए डिजी सक्षम कार्यक्रम की हुई शुरुआत
अर्ध शहरी क्षेत्रों के नौकरी चाहने वालों को प्राथमिकता देती है, जिनमें वे लोग भी शामिल हैं जिन्होंने कोविड -19 महामारी के कारण अपनी नौकरी खो दी है

केंद्रीय श्रम और रोजगार मंत्री भूपेंद्र यादव ने गुरुवार को डिजिटल कौशल प्रदान करने के लिए डिजिटल कौशल प्रदान करने के लिए एक डिजिटल कौशल कार्यक्रम, डिजी सक्षम (Digi Saksham) लॉन्च किया है. ये एक तेजी से प्रौद्योगिकी संचालित युग में जरूरी है. श्रम मंत्रालय के एक बयान में कहा गया है कि माइक्रोसॉफ्ट इंडिया के साथ यह संयुक्त पहल ग्रामीण और अर्ध-शहरी क्षेत्रों के युवाओं को समर्थन देने के लिए सरकार के चल रहे कार्यक्रमों का विस्तार है.

डिजी सक्षम (Digi Saksham) पहल के माध्यम से, पहले वर्ष में 3 लाख से अधिक युवाओं को बुनियादी कौशल के साथ-साथ एडवांस कंप्यूटिंग सहित डिजिटल कौशल में मुफ्त प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा. वहीं नौकरी हासिल करने वाले राष्ट्रीय करियर सेवा (एनसीएस) पोर्टल के माध्यम से प्रशिक्षण प्राप्त कर सकते हैं.

यह पहल वंचित समुदायों से संबंधित अर्ध शहरी क्षेत्रों के नौकरी चाहने वालों को प्राथमिकता देती है, जिनमें वे लोग भी शामिल हैं जिन्होंने कोविड -19 महामारी के कारण अपनी नौकरी खो दी है. इस कार्यक्रम के लॉन्च पर बोलते हुए, केंद्रीय मंत्री ने कहा कि तेज गति से प्रौद्योगिकी उन्नयन के साथ, निरंतर कौशल, कौशल और अप-कौशल बहुत जरूरी है. डिजी सक्षम पहल के तहत, मूल रूप से तीन प्रकार के प्रशिक्षण होंगे, डिजिटल कौशल – स्व-गति से सीखना, वीआईएलटी मोड प्रशिक्षण (आभासी प्रशिक्षक के नेतृत्व में) और आईएलटी मोड प्रशिक्षण शामिल हैं.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष