दोपहिया वाहनों, ट्रैक्टर की बिक्री में आई गिरावट

वाणिज्यिक वाहनों एवं तिपहिया वाहनों जैसे अन्य खंडों में एक साल पहले की समान अवधि की तुलना में पिछले महीने खुदरा बिक्री में वृद्धि देखी गई.

  • Money9 Hindi
  • Publish Date - October 7, 2021 / 05:10 PM IST
दोपहिया वाहनों, ट्रैक्टर की बिक्री में आई गिरावट
दोपहिया वाहनों की बिक्री पिछले महीने 9,14,621 इकाई रही, जो सितंबर 2020 की 33,895 इकाइयों से 11.54 प्रतिशत कम है

Decline in sales: दोपहिया वाहनों और ट्रैक्टर की बिक्री में कमी के साथ सितंबर में देश में वाहन क्षेत्र की खुदरा बिक्री में सालाना आधार पर पांच प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गयी. इसकी बिक्री में तेजी की उम्‍मीद की जा रही थी. लेकिन बिक्री में गिरावट के चलते चिंता बढ गई है. ऑटोमोबाइल डीलरों के संगठन फाडा के मुताबिक, पिछले महीने कुल खुदरा बिक्री सितंबर 2020 की 13,68,307 इकाइयों की तुलना में 5.27 प्रतिशत की गिरावट के साथ 12,96,257 इकाई रही. जहां दोपहिया वाहनों और ट्रैक्टरों की बिक्री में गिरावट दर्ज की गयी. वहीं यात्री वाहनों, वाणिज्यिक वाहनों एवं तिपहिया वाहनों जैसे अन्य खंडों में एक साल पहले की समान अवधि की तुलना में पिछले महीने खुदरा बिक्री में वृद्धि देखी गई.

फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (फाडा) ने 1,562 क्षेत्रीय परिवहन कार्यालयों (आरटीओ) में से 1,357 से वाहन पंजीकरण का आंकड़ा एकत्र किया और उसके आधार पर यह जानकारी दी.

फाडा के मुताबिक दोपहिया वाहनों की बिक्री पिछले महीने 9,14,621 इकाई रही, जो सितंबर 2020 की 33,895 इकाइयों से 11.54 प्रतिशत कम है.

इसी तरह, ट्रैक्टर की खुदरा बिक्री पिछले महीने 23.85 प्रतिशत घटकर 52,896 इकाई रह गई, जो एक साल पहले इसी अवधि में 69,462 इकाई थी.

दूसरी ओर, यात्री वाहनों की बिक्री सितंबर में 2,33,308 इकाई रही, जो पिछले साल के इसी महीने की 2,00,576 इकाई से 16.32 प्रतिशत अधिक है.

वाणिज्यिक वाहनों की खुदरा बिक्री सितंबर 2021 में सितंबर 2020 की 40,112 इकाइयों की तुलना में 46.64 प्रतिशत बढ़कर 58,820 इकाई रही.

तिपहिया वाहनों की बिक्री पिछले महीने 50.9 प्रतिशत बढ़कर 36,612 इकाई हो गई. एक साल पहले इसी अवधि में यह 24,262 इकाई थी.

फाडा के अध्यक्ष विंकेश गुलाटी ने एक बयान में कहा, ‘एंट्री लेवल वर्ग में अभी तक स्वस्थ वृद्धि ना होने की वजह से दोपहिया वाहन क्षेत्र का खराब प्रदर्शन जारी है. इस क्षेत्र का प्रदर्शन अब पूरे वाहन क्षेत्र के सुधार के रास्ते पर लौटने के लिहाज से महत्वपूर्ण होता जा रहा है, क्योंकि अच्छे त्योहारी सीजन की उम्मीद में डीलर के पास पहले का बचा माल 30-35 तक बढ़ गया है.’ उन्होंने कहा कि सेमीकंडक्टर की कमी ने भी 150 सीसी से अधिक के वर्ग को प्रभावित करना शुरू कर दिया है.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष