84 फीसदी भारतीयों को लगता है कि ऑफिस लौटना सुरक्षित है: डेलॉयट सर्वे

सर्वे रिपोर्ट के मुताबिक वैक्सीनेशन की तेज़ रफ्तार से लोगों का ऑफिस लौटने को लेकर भरोसा बढ़ा है.

  • Money9 Hindi
  • Updated On - September 22, 2021 / 02:30 PM IST
84 फीसदी भारतीयों को लगता है कि ऑफिस लौटना सुरक्षित है: डेलॉयट सर्वे
जुलाई-सितंबर 2021 में ऑफिस स्पेस का स्तर बढ़कर 16.4 प्रतिशत हो गया है, जो एक साल पहले की अवधि में 13.5 प्रतिशत था

कोरोना महामारी ने दुनिया भर में कामकाज के तरीकों को बदल कर रख दिया है. वर्क फ्रॉम ऑफिस की जगह वर्क फ्रॉम होम ने ले ली है. लेकिन अब लोग वर्क फ्रॉम होम से बोर होने लगे हैं. डेलॉयट के एक सर्वे (Deloitte survey) के अनुसार बड़ी संख्या में भारतीय अब वर्क फ्रॉम ऑफिस की तरफ लौटना चाहते हैं. सर्वे के मुताबिक 84 फीसद भारतीयों को अब ऑफिस जाने में डर महसूस नहीं होता है. अब लोग ऑफिस जाकर काम करना चाहते हैं.

वर्क फ्रॉम होम से बोर होने लगे हैं लोग

डेलॉयट सर्वे के मुताबिक तकरीबन 60 फीसद ऐसे लोग हैं जो आमने सामने बैठकर बातचीत करना चाहते हैं और ऑफिस मीटिंग्स में हिस्सा लेना चाहते हैं. अब वीडियो कॉल्स पर मीटिंग अटेंड करने में लोगों की दिलचस्पी घटने लगी है. सर्वे के अनुसार भारतीयों की एक बड़ी संख्या घर पर काम करने से अब बोर होने लगी है, वो अब ऑफिस जा कर काम करना चाहती है. सर्वे में शामिल 59 फीसद लोगों ने हवाई यात्रा के दौरान खुद को सुरक्षित महसूस किया. पब्लिक ट्रांसपोर्ट से यात्रा करने को लेकर कम लोगों ने ही दिलचस्पी दिखाई है महज 30 फीसद लोगों ने पब्लिक ट्रांसपोर्ट का उपयोग करने की इच्छा दिखाई.

लोगों में ऑफिस लौटने को लेकर बढ़ा भरोसा

सर्वे रिपोर्ट के मुताबिक वैक्सीनेशन की तेज़ रफ्तार से लोगों का ऑफिस लौटने को लेकर भरोसा बढ़ा है. डेलॉयट ने यह सर्वे अगस्त महीने में 1000 लोगों के बीच किया था. इस सर्वे को ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर किया गया था. डेलॉयट की इस सर्वे रिपोर्ट को ग्लोबल स्टेट ऑफ कंज्यूमर ट्रैकर के नाम से पब्लिश किया है. सर्वे में शामिल लोग ऑफिस तो लौटना चाहते हैं लेकिन पब्लिक ट्रांसपोर्ट का इस्तेमाल कम करना चाहते हैं. 67 फीसद लोगों का मानना है कि वो कैब या व्यक्तिगत वाहन का प्रयोग करना ज्यादा पसंद करेंगे.

लोग अंतर्राष्ट्रीय यात्रा की कर रहे हैं प्लानिंग

छुट्टियां बिताने के लिए लोग अब अंतर्राष्ट्रीय यात्रा पर जाना चाहते हैं. कई देशों ने भारत के लिए यात्रा प्रतिबंध भी हटा दिए हैं. सर्वे में शामिल 75 फीसद भारतीय अगले तीन महीनों में छुट्टियां बिताने के लिए के लिए अंतरराष्ट्रीय यात्रा की योजना बना रहे हैं. बड़ी संख्या में लोग टूर एंड ट्रैवेल केंद्रों पर संपर्क कर रहे हैं. जैसे जैसे कोरोना के मामलों में कमी आ रही हैं वैसे वैसे लोगों के दिलों से अब बाहर निकलने का डर खत्म होता जा रहा है.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष