एशियन पेंट्स के नतीजों के बाद क्या कह रहे हैं ब्रोकरेज फर्म, जानें यहां

कंपनी कच्चे माल के दबाव को ऑफसेट करने के लिए कीमतों में बढ़ोतरी करने का इरादा रखती है, जिसने दूसरी तिमाही में मार्जिन को काफी प्रभावित किया

  • Money9 Hindi
  • Publish Date - October 22, 2021 / 04:04 PM IST
एशियन पेंट्स के नतीजों के बाद क्या कह रहे हैं ब्रोकरेज फर्म, जानें यहां
एशियन पेंट्स के शेयर 1.39% की गिरावट के साथ 2,960 रुपये पर खुले. दूसरी तिमाही में कंपनी का मुनाफा 28.2% घटकर 595.96 करोड़ रुपये रहा

सितंबर तिमाही के निराशाजनक नतीजों के बाद भारत की सबसे बड़ी पेंट कंपनी एशियन पेंट्स (Asian Paints) के शेयर (share prices) शुक्रवार को 1.39% की गिरावट के साथ 2,960 रुपये पर खुले. वित्त वर्ष 2022 की दूसरी तिमाही में कंपनी का मुनाफा 28.2% घटकर 595.96 करोड़ रुपये रहा. जबकि Q2 FY21 में कंपनी का मुनाफा 852 करोड़ रुपए पर रहा था. Q2 FY22 में कंपनी का रेवेन्यू 32.6% बढ़कर 7,096 करोड़ रुपए हो गया, जो Q2 FY21 में 5,350 करोड़ रुपए था. Q2 FY22 में Q2 FY21 की तुलना में प्रॉफिट बिफोर टैक्स 27.8% घटकर 826.24 करोड़ रुपये हो गया.

इस बीच, बोर्ड ऑफ डायरेक्टर ने 3.65 रुपये प्रति इक्विटी शेयर के इंटरिम डिविडेंड (अंतरिम लाभांश) के पेमेंट को मंजूरी दे दी है. अंतरिम लाभांश के भुगतान के लिए 29 अक्टूबर 2021 की तारीख निर्धारित की गई है.

ऑपरेटिंग लेवल पर, EBITDA (अर्निंग बिफोर इंटरेस्ट, टैक्स, डेप्रिसिएशन एंड अमोरटाइजेशन) साल-दर-साल 28.5% घटकर 904.4 करोड़ रुपये हो गया और कच्चे माल की ऊंची कीमतों से प्रभावित Q2FY22 में मार्जिन 1,085 bps से 12.75% तक कम हो गया. एक प्रतिशत 100 बेसिस पॉइंट के बराबर है.

मैनेजिंग और CEO अमित सिंगल ने कहा, “इस कैलेंडर ईयर की शुरुआत के बाद से कच्चे माल की कीमतों में तेजी ने तिमाही में सभी बिजनेस में ग्रॉस मार्जिन को प्रभावित किया है.”

इस तरह के निराशाजनक प्रदर्शन के बाद ब्रोकरेज फर्म का Q2 रिजल्ट और कंपनी पर नजरिया.

Jefferies | रेटिंग: अंडरपरफॉर्म | टारगेट प्राइस: 2,200 रुपये

Q2 ग्रॉस मार्जिन 10 प्रतिशत अंक गिरकर एक दशक के निचले स्तर पर आ गया. इसका हवाला देते हुए जेफरीज ने EPS (अर्निंग पर शेयर) में 10-15% की कटौती की है और राय है कि खराब परफॉर्मेंस के कारण स्टॉक डी-रेटिंग का हकदार है.

Credit Suisse | रेटिंग: आउटपरफॉर्म | टारगेट प्राइस: 3,500 रुपये

क्रेडिट सुइस को उम्मीद है कि अगली दो तिमाहियों में मार्जिन का दबाव कम हो जाएगा, लेकिन FY22 के लिए अर्निंग एस्टीमेट में 9%, FY23 7% और FY24 में 5% की कटौती की है.

Macquarie | रेटिंग: आउटपरफॉर्म | टारगेट प्राइस: 3,900 रुपये

MACQUARIE का कहना है FY22 कि दूसरी छिमाही में 10% प्लस सेल्स ग्रोथ की डिमांड गाइडिंग के चलते इस स्टॉक पर बुलिश नजरिया है. कच्चे माल पर दबाव के चलते दूसरी तिमाही में नतीजे कमजोर रहे हैं. कंपनी द्वारा चौथी तिमाही तक मार्जिन में वापसी के लिए प्राइस हाइक की उम्मीद है. इसका लक्ष्य चौथी तिमाही तक मार्जिन को 18-20% तक वापस लाना है. दूसरी तिमाही के निराशाजनक प्रदर्शन को ध्यान में रखते हुए ब्रोकरेज फर्म ने EPS में 12% की कटौती की है.

(डिस्क्लेमर: स्टॉक रिकमेंडेशन एक्सपर्ट या ब्रोकरेज फर्म द्वारा की गई हैं वेबसाइट या उसके मैनेजमेंट की ओर से नहीं. Money9.com निवेशकों को सलाह देता है कि कोई भी खरीद, बिक्री का निर्णय लेने से पहले सर्टिफाइड एडवाइजर से सलाह लें)

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष