टारसंस प्रॉडक्ट्स के IPO में निवेश करने से पहले जान लें ये 9 जरूरी बातें

ऑफर 15 नवंबर को सब्सक्रिप्शन के लिए खुलेगा. बोली लगाने की आखिरी तारीख 17 नवंबर होगी. एंकर बुक के सब्सक्रिप्शन की प्रक्रिया एक दिन पहले शुरू हो जाएगा

  • Money9 Hindi
  • Updated On - November 12, 2021 / 08:45 AM IST
टारसंस प्रॉडक्ट्स के IPO में निवेश करने से पहले जान लें ये 9 जरूरी बातें
निवेशक न्यूनतम 22 शेयरों के लिए बोली लगा सकते हैं. यानी, प्राइस बैंड के हाई एंड पर उन्हें कम से कम 14,564 रुपये की बोली लगानी होगी

टारसंस प्रॉडक्ट्स का IPO अगले सप्ताह आने वाला है. अगर आप इसमें निवेश करने की सोच रहे हैं, तो पहले ये 9 जरूरी बातें जान लें.

इशू की तारीख

ऑफर 15 नवंबर को सब्सक्रिप्शन के लिए खुलेगा. बोली लगाने की आखिरी तारीख 17 नवंबर होगी. एंकर बुक के सब्सक्रिप्शन की प्रक्रिया एक दिन पहले 14 नवंबर को शुरू हो जाएगी.

प्राइस बैंड

कंपनी ने IPO के लिए 635-662 रुपये प्रति शेयर तय किया है. इसकी फेस वैल्यू दो रुपये प्रति शेयर है.

लॉट साइज

निवेशक न्यूनतम 22 शेयरों के लिए बोली लगा सकते हैं. यानी, प्राइस बैंड के हाई एंड पर उन्हें कम से कम 14,564 रुपये की बोली लगानी होगी. रिटेल निवेशक अधिकतम 13 लॉट या 286 शेयर के लिए 1,89,332 रुपये के लिए बोली लगा सकते हैं.

इशू साइज

पब्लिक ऑफर 1,023.47 करोड़ रुपये का होगा. इसमें 150 करोड़ रुपये के फ्रेश इशू होंगे. शेयरधारकों की ओर से 873.47 करोड़ रुपये के 1,32,00,000 शेयर ऑफर फॉर सेल (OFS) के तहत पेश किए जाएंगे.

IPO का लक्ष्य

फ्रेश इशू के जरिए जुटाए जाने वाले फंड का इस्तेमाल कर्ज के रीपेमेंट/प्रीपेमेंट के लिए होगा. साथ ही मैन्युफैक्चरिंग फैसिलिटी के कैपिटल एक्सपेंडिचर के लिए भी इसका इस्तेमाल होगा.

रिटेल निवेशकों के लिए क्या है खास

ऑफर के करीब 50 प्रतिशत शेयर क्वॉलिफाइड इंस्टिट्यूशनल इन्वेस्टर्स के लिए आरक्षित है. रिटेल निवेशकों के लिए 35 फीसदी और बाकी 15 पर्सेंट गैर-संस्थागत निवेशकों के लिए हैं.

कंपनी के बारे में

टारसंस प्रॉडक्ट्स देश की प्रमुख लाइफ साइंसेज कंपनी है. कंपनी तीन दशक से अधिक समय से लैबवेयर का उत्पादन और सप्लाई कर रही है. फिलहाल इसकी पांच मैन्युफैक्चरिंग यूनिट हैं. कंपनी का रेवेन्यू वित्त वर्ष 2021 में 234.29 करोड़ रुपये था, जो वित्त वर्ष 2019 में 184.72 करोड़ रुपये था. इस दौरान उसका मुनाफा 38.96 करोड़ रुपये से उछलकर 68.87 करोड़ रुपये पहुंच गया.

बुक मैनेजर और रजिस्ट्रार

IPO के लीड बुक मैनेजर ICICI सिक्योरिटीज, एडलवाइज फाइनेंशियल सर्विसेज और SBI कैपिटल मार्केट्स हैं. रजिस्ट्रार KFintech है.

इशू टाइमलाइन

इशू के अलॉटमेंट का तरीका 17 नवंबर तक तय हो जाएगा. रिफंड 24 नवंबर तक किए जाएंगे. अलॉट हुए शेयर 25 नवंबर तक निवेशकों को क्रेडिट हो जाएंगे. कंपनी 26 नवंबर को शेयर बाजार में कदम रख सकती है.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष