लिस्टिंग से अब तक 350% रिटर्न! क्या आपको Polycab में निवेश करना चाहिए?

Polycab Share: वायर और केबल क्षेत्र में पॉलीकैब मार्केट लीडर है. वित्त वर्ष 2026 तक कंपनी अपने कारोबार को 20 हजार करोड़ रुपये तक ले जाना चाहती है

  • Money9 Hindi
  • Publish Date - September 15, 2021 / 01:56 PM IST
लिस्टिंग से अब तक 350% रिटर्न! क्या आपको Polycab में निवेश करना चाहिए?
अप्रैल 2019 में पॉलिकैब की लिस्टिंग हुई थी. तब से अब तक यह करीब 354% उछाल चुका है. इतनी बढ़त के बाद भी एनालिस्ट इसे लेकर और तेजी का रुख रखते हैं

फास्ट मूविंग इलेक्ट्रिकल गुड्स (FMEG) सेक्टर की कंपनी पॉलीकैब (Polycab) के शेयरों ने बीते एक साल में 175 फीसदी का रिटर्न (return) दिया है. अब इसकी कीमत (share price) चढ़कर 2,440 रुपये हो चुकी है. शेयरों में इस तेजी की प्रमुख वजह केबल-वायर सेगमेंट में मिली अच्छी ग्रोथ है.

अप्रैल 2019 में शेयर की लिस्टिंग हुई थी. तब से अब तक इसमें करीब 354 फीसदी का उछाल आ चुका है. इतनी बढ़त के बाद भी एनालिस्ट शेयर को लेकर और तेजी का रुख रखते हैं.

वायर और केबल क्षेत्र में पॉलीकैब मार्केट लीडर है. वित्त वर्ष 2026 तक कंपनी अपने कारोबार को 20 हजार करोड़ रुपये तक ले जाना चाहती है. इसके लिए यह ब्रांड स्थापित करने, बेहतर संचालन और बिजनेस पर ध्यान दे रही है.

वित्त वर्ष 2017 से 2021 के बीच वायर और केबल सेगमेंट 9 फीसदी का CAGR हासिल हुआ, FMEG ने इसी अवधि में 33% का CAGR प्राप्त किया.

सेक्टर का परिदृश्य

बाजार के जानकारों का कहना है कि घरेलू मांग में वृद्धि हो रही है. इससे सेक्टर के लिए आने वाला समय बेहतर रहेगा. देश के विद्युत उपकरण (electric equipment) बाजार में वायर और केबल 40-45 फीसदी हिस्सा रखता है. वित्त वर्ष 2014 से 2028 के बीच इस सेगमेंट में 23 फीसदी के CAGR से बढ़ोतरी की उम्मीद है.

शेयरखान (Sharekhan) ने अपनी रिपोर्ट में कहा है, ‘वित्त वर्ष 2023 तक यह उद्योग करीब एक लाख करोड़ रुपये का हो जाएगा. हालांकि, रियल एस्टेट में अनिश्चितता की वजह से सेगमेंट की ग्रोथ में कुछ कमी आ सकती है.’

सरकार ने वित्त वर्ष 2020 से 2025 तक इंफ्रा सेक्टर में 111 लाख करोड़ रुपये के खर्च की योजना बनाई है. इससे इस उद्योग में तेजी आने की संभावना है. उपभोक्ताओं की बढ़ती उम्मीद, जागरूकता, अधिक आय, इलेक्ट्रिफिकेशन, शहरीकरण जैसी वजहों से FMEG सेक्टर में अच्छा माहौल बना हुआ है.

वित्तीय स्थिति

चालू वित्त वर्ष की जून तिमाही में कंपनी के नेट इनकम में 36 फीसदी की गिरावट देखी गई. इसकी आय करीब 75 करोड़ रुपये रही. साल-दर-साल आधार पर पहली तिमाही में कर के पहले का मुनाफा 151 फीसदी बढ़कर करीब 98 करोड़ रुपये रहा.

पिछले वित्त वर्ष में कंपनी की आमदनी 8926 करोड़ रुपये रही, जो इसके पिछले साल 8830 करोड़ रुपये थी. सेंट्रम ब्रोकिंग (Centrum Broking) का मानना है कि वित्त वर्ष 2022 तक कंपनी की आमदनी 11,014 करोड़ रुपये पहुंच सकती है.

क्या आपको निवेश करना चाहिए

ब्रोकरेज इस शेयर में 20 फीसदी और तेजी देख रहे हैं. सेंट्रम ब्रोकिंग का मानना है कि शेयर के दाम 3,065 तक पहुंच सकते हैं. शेयरखान का कहना है कि कंपनी B2B और B2C बिजनेस में ध्यान दे रही है. ब्रोकरेज ने इसके लिए 2,850 रुपये की लक्ष्य कीमत तय की है.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष