Krsnaa Diagnostics IPO: वो 9 बातें जो आपको पता होनी चाहिए

Krsnaa Diagnostics IPO: 31 दिसंबर, 2020 तक यह 1,801 डायग्नोस्टिक सेंटर चला रही थी. ये 13 शहरों में रेडियोलॉजी और पैथोलॉजी सेवाएं प्रदान कर रहे हैं.

Krsnaa Diagnostics IPO: वो 9 बातें जो आपको पता होनी चाहिए
image: Unsplash, विजया डायग्नॉस्टिक सेंटर (Vijaya Diagnostic Centre IPO) दक्षिण भारत की सबसे तेजी से बढ़ने वाली डायग्नॉस्टिक चेन्स में से एक है.

Krsnaa Diagnostics IPO: डायग्नोस्टिक चेन कृष्णा डायग्नोस्टिक्स (Krsnaa Diagnostics) अगले हफ्ते इनीशियल पब्लिक ऑफर (IPO) के जरिए 1,213.76 करोड़ रुपये जुटाने की तैयारी में है. यहां ऑफर के बारे में पूरी जानकारी दी गई है.

ओपन और क्लोज डेट

ऑफर सब्सक्रिप्शन के लिए 04 अगस्त को खुलेगा और बिडिंग 06 अगस्त को बंद होगी. एंकर बुक, यदि कोई हो, इश्यू खुलने से एक दिन पहले यानी 03 अगस्त के लिए खुलेगी.

प्राइस बैंड

प्राइस बैंड कृष्णा डायग्नोस्टिक्स (Krsnaa Diagnostics IPO) के लिए 933-954 रुपये प्रति शेयर निर्धारित किया गया है, जिसकी फेस वैल्यू 5 रुपये प्रति शेयर है.

लॉट साइज

निवेशक कम से कम 15 इक्विटी शेयरों और इसके गुणांक में बोली लगा सकते हैं. यानी प्राइस बैंड के उच्च स्तर पर आपको कम से कम 14,310 रुपये का निवेश करना होगा.

एक खुदरा निवेशक अधिकतम 13 लॉट या 195 शेयरों के लिए 1,86,030 रुपये में आवेदन कर सकता है.

इश्यू साइज

1,213.76 करोड़ रुपये के सार्वजनिक प्रस्ताव में 400 करोड़ रुपये के फ्रेश इक्विटी शेयर और 85.3 करोड़ शेयरों की बिक्री (OFS) कुल मिलाकर 813.76 करोड़ रुपये शामिल हैं. OFS में पीएचआई कैपिटल ट्रस्ट-पीएचआई कैपिटल ग्रोथ फंड- I द्वारा 16 लाख शेयरों की बिक्री, किटारा पीआईआईएन 1104 द्वारा 33.4 लाख शेयर, समरसेट इंडस हेल्थकेयर फंड I लिमिटेड द्वारा 35.6 लाख शेयर और लोटस मैनेजमेंट द्वारा 21,380 शेयरों तक की बिक्री शामिल है.

इश्यू का मकसद

फ्रेश इश्यू के 150.81 करोड़ रुपये का उपयोग पंजाब, कर्नाटक, हिमाचल प्रदेश और महाराष्ट्र में डायग्नोस्टिक्स सेंटर स्थापित करने की लागत के वित्तपोषण के लिए किया जाएगा. जबकि फर्म अपने द्वारा लिए गए कुछ उधारों के रीपेमेंट के लिए 125.70 करोड़ रुपये का उपयोग करेगी.

जून 2021 तक, कंपनी की विभिन्न वित्तीय व्यवस्थाओं के तहत कुल कर्ज 141.73 करोड़ रुपये था, और बाकी का उपयोग सामान्य कॉरपोरेट मकसदों के लिए किया जाएगा.

खुदरा निवेशकों के लिए इसमें क्या है?

कुल प्रस्ताव का 75% से अधिक योग्य संस्थागत खरीदारों के लिए, 10% तक खुदरा निवेशकों के लिए और शेष 15% गैर-संस्थागत खरीदारों के लिए आरक्षित किया गया है.

कंपनी क्या करती है?

कृष्णा डायग्नोस्टिक्स (Krsnaa Diagnostics IPO) भारत में सबसे तेजी से बढ़ने वाली डायग्नोस्टिक चेन्स में से एक है. कंपनी निजी और सार्वजनिक अस्पतालों, मेडिकल कॉलेजों और सामुदायिक स्वास्थ्य के लिए इमेजिंग/रेडियोलॉजी सेवाओं (एक्स-रे, एमआरआई, आदि), नियमित नैदानिक प्रयोगशाला परीक्षण, पैथोलॉजी, और टेली-रेडियोलॉजी सेवाओं जैसी नैदानिक सेवाओं की एक विस्तृत श्रृंखला प्रदान करती है.

31 दिसंबर, 2020 तक, यह 1,801 डायग्नोस्टिक सेंटर संचालित कर रही थी. ये भारत के 13 विभिन्न शहरों में रेडियोलॉजी और पैथोलॉजी सेवाएं प्रदान कर रहे हैं. वित्त वर्ष 2020 में, कंपनी ने 52.7 लाख रोगियों की सेवा की है.

31 मार्च, 2021 को समाप्त वित्तीय वर्ष के लिए, कंपनी ने वित्त वर्ष 19 में 528.99 करोड़ रुपये की तुलना में कुल 604.53 करोड़ रुपये का रेवेन्यू दर्ज किया है. वित्त वर्ष 2020-21 में 184.93 करोड़ रुपये का लाभ कमाया, जबकि वित्त वर्ष 2019 में 58.06 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ था.

IPO के लिए बुक रनिंग लीड मैनेजर और रजिस्ट्रार

इश्यू के बुक रनिंग लीड मैनेजर जेएम फाइनेंशियल, डीएएम कैपिटल एडवाइजर्स, इंक्वायर्स कैपिटल और IIFL सिक्योरिटीज हैं. इस इश्यू का रजिस्ट्रार KFintech है.

इश्यू टाइमलाइन

इश्यू के 11 अगस्त तक आवंटन के आधार को अंतिम रूप देने की संभावना है, और रिफंड की शुरुआत 12 अगस्त तक होगी. जबकि इक्विटी शेयरों का क्रेडिट आवंटी के डिपॉजिटरी खातों में 13 अगस्त को किया जाएगा. डायग्नोस्टिक्स चेन के शेयर 17 अगस्त, 2021 को शेयर बाजार में लिस्ट हो सकते हैं.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष