इंफोसिस ने किया 9,200 करोड़ रुपये का बायबैक पूरा, जानें क्यों उठाया कंपनी ने ये कदम

Infosys BuyBack Shares: 8 सितंबर को समाप्त हुइ बायबैक ऑफर के बाद इंफोसिस में प्रमोटर्स की हिस्सेदारी 12.95 फीसदी से बढ़कर 13.12 फीसदी हो गई है.

  • Money9 Hindi
  • Publish Date - September 14, 2021 / 02:03 PM IST
इंफोसिस ने किया 9,200 करोड़ रुपये का बायबैक पूरा, जानें क्यों उठाया कंपनी ने ये कदम
image: Unsplash, इंफोसिस ने 1,648.53 रुपये प्रति इक्विटी शेयर के वॉल्यूम वेटेज एवरेज मूल्य पर शेयरों को वापस खरीदा है.

Infosys Completes Buy-Back Offer: देश की दूसरी सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर सेवा प्रदाता इंफोसिस ने कहा है कि उसने अपने लगभग 9,200 करोड़ रुपये के बायबैक ऑफर के तहत 5.58 करोड़ से अधिक इक्विटी शेयर वापस खरीदे हैं. कंपनी ने जारी किए सार्वजनिक नोटिस के अनुसार, शेयरों को 1,648.53 रुपये प्रति इक्विटी शेयर के वॉल्यूम वेटेज एवरेज मूल्य पर वापस खरीदा गया था.

प्रमुख IT सर्विसेज कंपनी इंफोसिस के मुताबिक, “कंपनी ने कुल 5,58,07,337 इक्विटी शेयर (कंपनी की प्री-बायबैक पेड-अप इक्विटी शेयर पूंजी का 1.31 प्रतिशत) वापस खरीदे हैं और बायबैक के लिए उपयोग की गई कुल राशि 91,99,99,99,599.80 रुपये है, जिसमें लेनदेन लागत शामिल नहीं हैं.” उच्चतम मूल्य जिस पर इक्विटी शेयरों को वापस खरीदा गया था, वह 1,750 रुपये था, जबकि सबसे कम कीमत 1,538.10 रुपये प्रति इक्विटी शेयर थी.

नोटिस में कहा गया है, “इक्विटी शेयरों को 1,648.53 रुपये प्रति इक्विटी शेयर के वॉल्यूम वेटेड एवरेज मूल्य पर वापस खरीदा गया था. कंपनी ने बायबैक के तहत खरीदे गए सभी इक्विटी शेयरों को समाप्त कर दिया है.” बायबैक के बाद कंपनी में प्रमोटर्स की हिस्सेदारी 12.95 फीसदी से बढ़कर 13.12 फीसदी हो गई है.

इंफोसिस बोर्ड ने 9,200 करोड़ रुपये तक की बायबैक योजना को मंजूरी दी थी, जो 25 जून को शुरू हुई थी. कंपनी ने भारतीय स्टॉक एक्सचेंजों के माध्यम से खुले बाजार के माध्यम से अधिकतम 1,750 रुपये की कीमत पर शेयर वापस खरीदने का प्रस्ताव रखा था. यह ऑफर 8 सितंबर, 2021 को बंद हुआ था.

मंगलवार को इंफोसिस के शेयर BSE पर 0.01% बढ़कर 1,691.20 रूपये की कीमत पर ट्रेड हो रहे हैं. 24 अगस्त को कंपनी के शेयर ने 1,755.60 रूपये की 52-सप्ताह की उंचाई हो छुआ था. इंफोसिस ने वित्त वर्ष 2021-22 की दूसरी तिमाही के परिणामों पर विचार करने के लिए फर्म की बोर्ड बैठक 12 और 13 अक्टूबर, 2021 को बुलाई है. बोर्ड बैठक के दौरान अंतरिम डिविडेंड की घोषणा भी हो सकती है.

इंफोसिस ने जून में समाप्त तिमाही के लिए समेकित (consolidated) शुद्ध लाभ में 2.3% क्रमिक वृद्धि के साथ 5,195 करोड़ रुपये का प्रोफिट दर्ज किया था. कंपनी को परिचालन (operations) से समेकित राजस्व 27,896 करोड़ रुपये था, जो क्रमिक रूप से 6 प्रतिशत अधिक था.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष