बिड़ला कॉर्पोरेशन ने निवेशकों की तगड़ी कमाई कराई, यह रही उछाल की वजह

Birla Corporation Share Price: कंपनी के प्रोडक्शन को 3 करोड़ टन तक बढ़ाने के ऐलान बाद इसके शेयर आज 6% बढ़कर 1,438.80 रुपये पर ट्रेड करते दिखे

  • Money9 Hindi
  • Publish Date - September 30, 2021 / 07:11 PM IST
बिड़ला कॉर्पोरेशन ने निवेशकों की तगड़ी कमाई कराई, यह रही उछाल की वजह
बिड़ला कॉर्पोरेशन ने अपनी सालाना सीमेंट उत्पादन क्षमता को 2027 तक बढ़ाकर तीन करोड़ टन तक पहुंचाने की योजना बनाई है

एमपी बिड़ला ग्रुप के अध्यक्ष हर्ष वी लोढ़ा ने 29 सितंबर 2021 को हुई कंपनी की एनुअल जनरल मीटिंग में ऐलान किया कि बिड़ला कॉर्पोरेशन अपनी सालाना सीमेंट उत्पादन क्षमता को 2027 तक बढ़ाकर तीन करोड़ टन कर देगी. इससे पहले कंपनी का लक्ष्य 2025 तक अपनी उत्पादन क्षमता को बढ़ाकर 2.5 करोड़ टन करने का था.

ऐसा लग रहा है कि दलाल स्ट्रीट ने कंपनियों के एक्सपेंशन प्लान को मंजूरी दे दी है, क्योंकि स्टॉक का प्राइस आज 6% बढ़कर 1,438.80 रुपये पर ट्रेड करता दिखा.

बिड़ला कॉरपोरेशन की वर्तमान प्रोडक्शन कैपेसिटी 1.56 करोड़ टन है, जो चालू फाइनेंशियल ईयर के अंत तक लगभग दो करोड़ टन हो सकती है, क्योंकि तब तक नागपुर के पास मुकुटबन में इसका ग्रीनफील्ड 39 लाख टन वाला प्लांट चालू हो जाएगा.

साथ ही कंपनी की 2027 तक तीन करोड़ टन के लक्ष्य तक पहुंचने के लिए कई योजनाएं चल रही हैं. लोढ़ा ने शेयरधारकों से कहा कि योजनाओं के डिटेल की घोषणा तब की जाएगी, जब उन्हें बोर्ड द्वारा अप्रूवल मिल जाएगा. अध्यक्ष हर्ष वी लोढ़ा का यह भी कहना है कि एग्रेसिव एक्सपेंशन प्लान कंपनी की प्रोफिटेबिलिटी और कैश फ्लो में सुधार को दर्शाते हैं.

लोढ़ा के मुताबिक, बिड़ला कॉरपोरेशन उन बाजारों में एक्सपेंशन करेगा, जहां कंपनी को प्रतिस्पर्धा पर बढ़त हासिल है और सीमेंट की मांग मजबूत होने का अनुमान है. कंपनी की पुरानी संपत्तियों की तुलना में नए प्लांट अधिक कुशल और लाभदायक होने जा रहे हैं. बिड़ला कॉरपोरेशन की सहायक कंपनी RCCPL (पूर्व में रिलायंस सीमेंट कंपनी, जिसे 2016 में अधिग्रहित किया गया था) के ऑपरेटिंग पैरामीटर्स के आधार पर भारत में सर्वश्रेष्ठ हैं. भले ही यह पिछले कुछ वर्षों में इंडस्ट्री एवरेज से तेजी से बढ़ने की कोशिश कर रहा है, लेकिन नीति के रूप में बिड़ला कॉरपोरेशन बॉरोइंग पर कंसर्वेटिव रहेगा.

कच्चे माल के बारे में बात करते हुए कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर और चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर अरविंद पाठक ने कहा कि बिड़ला कॉर्पोरेशन के पास अपने मौजूदा संचालन के पैमाने पर पिछले दशकों के लिए पर्याप्त चूना पत्थर का भंडार है. कंपनी की कुंदनगंज इकाई की क्षमता को 20 लाख टन से बढ़ाकर 30 लाख टन करने की योजना अपरिवर्तित बनी हुई है. केवल कैपिटल एक्सपेंडिचर में कमी आई है.

कंपनी ने हाल ही में राजस्थान में न्यू चंदेरिया सीमेंट वर्क्स की क्षमता को लगभग पांच लाख टन तक बढ़ाने की परियोजना समाप्त की. कंसोलिडेटेड बेसिस पर, बिड़ला कॉरपोरेशन का नेट प्रॉफिट 115.16% से बढ़कर 141.51 करोड़ रुपये हो गया है. साथ ही कंपनी की नेट सेल्स Q1 जून 2020 की तुलना में Q1 जून 2021 में 43.14% की वृद्धि के साथ 1749.11 करोड़ रुपये हो गई है.

आपको बता दें कि MP बिड़ला ग्रुप की प्रमुख कंपनी बिड़ला कॉर्पोरेशन की सीमेंट और जूट के सामान इंडस्ट्री में रुचि है. कंपनी और उसकी सब्सिडियरी RCCPL के देशभर में फैले 10 सीमेंट प्लांट हैं. इनकी वार्षिक स्थापित क्षमता 1.56 करोड़ टन है. साथ ही कंपनी का महाराष्ट्र में मुकुटबन 3.9 MTPA सीमेंट प्लांट पर काम चल रहा है. इसके इसी साल के अंत तक चालू होने की संभावना है.

(कैपिटल मार्केट – लाइव न्यूज़ द्वारा संचालित)

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष