भारती एयरटेल डिस्काउंट पर बेचेगी शेयर, राइट इश्यू 5 अक्टूबर से खुलेगा, जानें कौन ले सकेगा भाग

Bharti airtel: इस इश्यू के तहत 535 रुपये प्रति शेयर के दाम पर शेयर जारी किए जाएंगे. यह राइट इश्यू पांच अक्टूबर से शुरू होगा और 21 अक्टूबर को बंद होगा.

  • Money9 Hindi
  • Publish Date - September 23, 2021 / 04:17 PM IST
भारती एयरटेल डिस्काउंट पर बेचेगी शेयर, राइट इश्यू 5 अक्टूबर से खुलेगा, जानें कौन ले सकेगा भाग
सितंबर तिमाही में कंपनी का मुनाफा 300 प्रतिशत उछलकर 1,134 करोड़ रुपये पहुंच गया. जून तिमाही में इसे 283 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था

देश की दिग्गज टेलीकॉम कंपनी भारती एयरटेल का 21 हजार करोड़ रुपये का राइट इश्यू आगामी पांच अक्टूबर को खुलेगा. बीते अगस्त में कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने इसके लिए मंजूरी दी थी. राइट इश्यू के जरिए एयरटेल अपने शेयरहोल्डर के बीच भारी डिस्काउंट पर शेयर बेचेगी. इस इश्यू के तहत 535 रुपये प्रति शेयर के दाम पर शेयर जारी किए जाएंगे. यह राइट इश्यू पांच अक्टूबर से शुरू होगा और 21 अक्टूबर 2021 को बंद होगा.

जानें क्या होता है राइट इश्यू

राइट इश्यू के जरिए शेयर बाजार में लिस्टेड कंपनी एक्स्ट्रा फाइनेंस जुटा सकती हैं. जब किसी कंपनी को एक्स्ट्रा फंड की जरूरत होती है तो वह राइट इश्यू का सहारा लेती है. हालांकि इस प्रोसेस में वहीं भाग ले सकता है जिसके पास कंपनी के शेयर हों. एयरटेल के राइट इश्यू में सिर्फ कंपनी के शेयर होल्डर ही भाग ले सकते हैं.

कैसे होता है शेयर्स का बंटवारा

एयरटेल ने 1:14 रेश्यो से राइट इश्यू लाने का ऐलान किया है. ये अतिरिक्त शेयर आपको 535 रुपये की कीमत में मिल जाएंगे. इसमें 230 रुपये प्रति शेयर प्रीमियम राशि शामिल है.

रिकॉर्ड तारीख 28 सितंबर

एयरटेल ने शेयर बाजार को दी गई सूचना में कहा कि राइट्स इश्यू के लिए रिकॉर्ड तारीख 28 सितंबर तय की गई है. इसके मुताबिक जो शेयर होल्डर इस दिन तक रजिस्टर्ड होंगे वहीं अगले महीने पांच अक्टूबर को होने वाले राइट इश्यू में भाग ले सकेंगे.

5 से 21 अक्टूबर तक होगा राइट इश्यू

एयरटेल से मिली जानकारी के मुताबिक यह राइट इश्यू पांच अक्टूबर से शुरू होगा और 21 अक्टूबर 2021 को बंद होगा. भारती एयरटेल का मार्केट कैपिटलाइजेशन चार लाख करोड़ रुपये पर पहुंच चुका है.

राइट इश्यू का कारण 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी तो नहीं

जानकारों की मानें तो इसके अलावा 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी होने वाली है. टेलीकॉम कंपनियों को अगले साल की शुरुआत में 5जी स्पेक्ट्रम को खरीदने के लिए पैसों की जरूरत होगी. कंपनी का राइट इश्यू लाने का एक कारण यह भी हो सकता है.

 

पर्सनल फाइनेंस पर ताजा अपडेट के लिए करें।