26 महीने में 650% रिटर्न, क्या आपको खरीदना चाहिए नए दौर का ये मल्टीबैगर स्टॉक

एडवर्टाइजमेंट बजट डिजिटल मीडियम में शिफ्ट करने का फायदा यह रहा क‍ि 20-21 के लिए, एफल ने बीते साल 70.9 करोड़ रुपये की तुलना में 129.36 करोड़ लाभ कमाया.

  • Money9 Hindi
  • Publish Date - October 5, 2021 / 06:55 PM IST
26 महीने में 650% रिटर्न, क्या आपको खरीदना चाहिए नए दौर का ये मल्टीबैगर स्टॉक
pixabay, एफल ने बीते साल 70.9 करोड़ रुपये की तुलना में 129.36 करोड़ रुपये का लाभ कमाया.

दलाल स्ट्रीट के एक्सपर्ट्स भारत के ऐड-टेक लीडर एफल इंडिया को लेकर बुलिश हैं. ब्रोकरेज फर्म प्रभुदास लीलाधर ने 7,023 रुपये का टारगेट निर्धारित किया है, जो मौजूदा बाजार मूल्य 5,800 रुपये से 20% अधिक है. वहीं, स्पार्क कैपिटल ने 6,250 रुपये का टारगेट प्राइस तय किया है. अगस्त 2019 में लिस्टिंग के बाद से कंपनी के शेयरों ने निवेशकों को पहले ही मल्टीबैगर रिटर्न दिया है. बीते एक साल में शेयर में 110 फीसदी से ज्यादा की बढ़त हुई है और ये शेयर 745 रुपये के इश्यू प्राइस के मुकाबले 678% बढ़ा है.

अगला लक्ष्य क्या है?

मार्केट पर नजर रखने वालों के साथ, एफल एडवर्टाइजमेंट बजट को डिजिटल मीडियम में शिफ्ट करने का एक यह फायदा रहा है. स्मार्टफोन की बढ़ती पहुंच और बढ़ते ऑनलाइन खरीदारों (अगले पांच वर्षों में 24 फीसदी के 120 मिलियन से 450 मिलियन सीएजीआर) के साथ भारतीय सेक्टर में 35% सीएजीआर (रेवेन्यू का 50%) पर पहुंचने की उम्मीद है.

फाइनेंशियल ईयर 2020-21 के लिए, एफल ने बीते साल 70.9 करोड़ रुपये की तुलना में 129.36 करोड़ रुपये का लाभ कमाया. कंपनी का टॉप लाइन पिछले साल के 339.87 करोड़ रुपये की तुलना में 2020-21 में बढ़कर 558.31 करोड़ रुपये हो गया. एफल के एमडी और CEO अनुज खन्ना सोहम ने कहा, फाइनेंशियल ईयर 2022 के लिए हमारा दृष्टिकोण पॉजिटिव है और हम नए बाजार की रफ्तार का लाभ उठाने और अविश्वसनीय कंसोलिडेशन के मौकों का निवेश करने के लिए दृढ़ता से तैनात हैं.

ब्रोकरेज के नजरिए से

हाल ही में प्रभुदास लीलाधर ने ‘बाय’ रेटिंग के साथ एफल इंडिया पर कवर शुरू किया. इसमें कहा गया है कि कंपनी उभरते मार्केट में काम करती है, जिनकी डिजिटल विज्ञापन में हायर ग्रोथ है (फाइनेंशियल ईयर 2011-25 ई से अधिक 30% सीएजीआर) में उच्च इजाफा है और ग्लोबल लेवल पर लगभग 50% बनाम लगभग 30% डिजिटल विज्ञापन खर्च पर कम है.

प्रभुदास लीलाधर ने कहा इसने इन्वेस्टमेंट-ड्रिवन प्राइसिंग मॉडल, उच्च रिटर्न के साथ एंड-टू-एंड डिजिटल विज्ञापन क्षमता अलग-अलग है, यूनिक टेक क्षमताओं के साथ अधिग्रहण को फायदेमंद रूप से बढ़ाकर पता योग्य बाजार हिस्सेदारी का विस्तार करने की क्षमता और इसने लो-यूनिट इकोनॉमिक्स के साथ उभरते मार्केट्स में ऑपरेशन के बावजूद एवरेज से अधिक मार्जिन बनाए रखा. हम फाइनेंशियल ईयर 2011-24 ई में रेवेन्यू / EPS CAGR 54% /30% की उम्मीद करते हैं और 7023 रुपये के DCF आधारित टारगेट प्राइज पर पहुंचते हैं.

कंपनी ने हाल ही में कंपनी के 10 रुपये के फेस वैल्यू के एक इक्विटी शेयर को 2 रुपये के अंकित मूल्य के पांच इक्विटी शेयरों में विभाजित करने की मंजूरी दी है. स्टॉक स्प्लिट की रिकॉर्ड तिथि 8 अक्टूबर, 2021 है. दूसरी ओर, स्पार्क कैपिटल ने कहा कि एफल एडवरटाइजमेंट एजेंसियों को लिमिटेड सेवाओं और स्वयं-सेवा सूट देने के लिए डिजिटल विज्ञापन प्लेटफॉर्म बनाता है और ऑपरेट करता है.

ब्रोकरेज ने कहा कि एफल 20 अरब डॉलर के प्रभावी TAM के साथ विकास के लिए बड़े रनवे सहित सभी बॉक्सों पर टिक करता है और लगभग 25% की दर से बढ़ रहा है. Affle का लगभग 85% व्यवसाय एक प्रदर्शन-आधारित रेवेन्यू मॉडल से है, जिसके दो लाभ हैं – ऑपरेशनल डिसिप्लिन और कस्टमर रिंग-फेंसिंग कई प्लेटफॉर्म्स के ऑपरेशनल का ट्रैक रिकॉर्ड और तालमेल को चलाने के लिए इन-ऑर्गेनिक एक्विजिशन को एकजुट करना, वर्तमान टेल विंड के लाभार्थी जो डिजिटल शिफ्टिंग कर रहे हैं. iOS से लेकर एंड्रॉइड तक का बजट, विज्ञापन एजेंसियों से आने वाले लगभग 30% व्यवसाय के साथ सीधे ब्रांडों के साथ संबंध और शीर्ष -10 कस्टमर कंस्ट्रेशन रिस्क में लगातार कमी (फाइनेंशियल ईयर 19 में 65% से फाइनेंशियल ईयर 21 में 43%) करना है.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष