NRI बनते ही बंद हो जाता है आपका PPF अकाउंट, जानिए क्या हैं नियम?

PPF: कोई भी भारतीय नागरिक PPF खाता खोल सकता है लेकिन NRI और HUF को PPF खाता खोलने की अनुमति नहीं है.

  • Paurav Joshi
  • Publish Date - September 12, 2021 / 11:08 AM IST
NRI बनते ही बंद हो जाता है आपका PPF अकाउंट, जानिए क्या हैं नियम?
PPF में खाता खोलने वाला कोई व्यक्ति अगर मैच्यॉरिटी अवधि से पहले NRI बन जाता है, तो उसका अकाउंट तत्काल प्रभाव से बंद हो जाता है.

वर्तमान में भारतीय बाजार में कई सारे निवेश उत्पाद उपलब्ध हैं. हालांकि, PPF या पब्लिक प्रोविडेंट फंड अभी भी जोखिम-प्रतिकूल निवेशकों और आम आदमी के लिए सबसे बेहतर निवेश मार्गों में से एक बना हुआ है. कारण यह है कि बेहतर रिटर्न देने के साथ ही यह योजना आयकर लाभ भी देती है जो केवल कुछ सीमित निवेश उत्पादों द्वारा प्रदान की जाती है.

कोई भी भारतीय नागरिक पीपीएफ खाता खोल सकता है, लेकिन NRI और HUF को PPF खाता खोलने की अनुमति नहीं है. तो, उन PPF अकाउंट होल्‍डर्स का क्या होगा जिनकी नागरिकता PPF अकाउंट की मैच्‍योरिटी से पहले भारतीय से NRI में बदल जाती है? आइए आपको भी बताते हैं कि आखि‍र PPF में इन परिस्‍थ‍ितियों के लिए क्‍या रूल रखा है.

कौन हैं NRI?

अनिवासी भारतीय ऐसे लोग हैं, जिनका जन्म तो भारत में हुआ है लेकिन नौकरी या अन्य बिजनेस करने के लिए भारत के बाहर रहते हैं. कानून के मुताबिक, अगर कोई भारतीय एक साल में भारत में 182 दिनों से कम अवधि तक रहता है तो उसे NRI का दर्जा मिल जाता है. काफी समया से NRI भारत सरकार से दोहरी नागरिकता की मांग कर रहे हैं. लेकिन, अब तक सरकार ने इस बारे में कोई फैसला नहीं किया है.

NRI के लिए क्या है नियम?

PPF में खाता खोलने वाला कोई व्यक्ति अगर मैच्यॉरिटी अवधि से पहले NRI बन जाता है, तो उसका अकाउंट तत्काल प्रभाव से बंद हो जाता है. हालांकि खाताधारक को खाता बंद होने की तारीख तक का ब्याज मिलेगा. लेकिन, जानकारों के मुताबिक, अकाउंट मैच्‍योर होने से पहले विदेश जाने वाले PPF खाताधारक को अपने PPF खाते में निवेश जारी रखने की अनुमति है. खाताधारक 1.5 लाख रुपये का निवेश जारी रख सकता है.

किसी के PPF खाते में प्रति वर्ष और आयकर अधिनियम की धारा 80 C के तहत दिए गए आयकर लाभ का दावा कर सकता है अगर अकाउंट होल्‍डर्स भारत में आयकर रिटर्न (ITR) दाखिल कर रहा है. लेकिन NRI को मैच्योरिटी अवधि के बाद अपने पीपीएफ अकाउंट को आगे बढाने की परमीशन नहीं मिलती है.

अगर PPF अकाउंट होल्‍डर फिर से वापस आते हैं और PPF अकाउंट की मैच्‍योरिटी की समाप्ति से पहले भारतीय नागरिक बन जाते हैं, तो उस स्थिति में उन्हें अपने PPF अकाउंट का विस्तार करने की अनुमति दी जाएगी.

वास्तव में, यदि PPF अकाउंट होल्‍डर्स ने PPF खाते का विस्तार किया है और फिर उसकी नागरिकता एक भारतीय से NRI में बदल जाती है, तो उस स्थिति में भी PPF खाताधारक खाते की मैच्‍योरिटी पीरियड तक निवेश जारी रख सकता है.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष