लंबी अवधि में इंडेक्स के मुकाबले ज्यादा रिटर्न कमाना है तो ये स्ट्रैटेजी आ सकती है आपके काम

इस रणनीति में आपको गुणवत्ता वाले स्टॉक या उच्च रेटिंग वाली म्यूचुअल फंड स्कीम का चयन करना हैं, जो एक मौलिक रूप से मजबूत कंपनी या फंड का प्रतीक है.

  • Vijay Parmar
  • Publish Date - October 17, 2021 / 12:11 PM IST
लंबी अवधि में इंडेक्स के मुकाबले ज्यादा रिटर्न कमाना है तो ये स्ट्रैटेजी आ सकती है आपके काम
कचोलिया की तरह मुकुल अग्रवाल ने भी अपने पोर्टफोलियो में कुछ बदलाव किए हैं.

Coffee Can Investing Strategy: भारतीय महिलाएं कई वर्षों से किराने के बक्से में पैसा जमा करती रही हैं और बाद में निवेश के लिए इसका इस्तेमाल करती हैं. इस तरह की रणनीति को इन्वेस्टमेंट मार्केट में कॉफी इन्वेस्टिंग स्ट्रैटेजी नाम से जाना जाता है. लंबी अवधि के लिए निवेश करने से जुड़ी इस स्ट्रैटेजी से पैसे बनाने में काफी मदद मिलती है क्योंकि लंबी अवधि के लिए निवेश करने से आपको पावर ऑफ कंपाउंडिंग का फायदा मिलता है और डिविडेंड हासिल करने का मौका मिलता है. कॉफी केन इन्वेस्टिंग स्ट्रैटेजी में एक कॉफी केन पोर्टफोलियो बनाना होता हैं, जो ज्यादातर स्टॉक या म्यूचुअल फंड जैसे एसेट क्लास की गुणवत्ता से संबंधित है. एक निवेशक के रूप में, आपको एक गुणवत्ता वाले स्टॉक या फंड का चयन करना चाहिए.

कॉफी केन इंवेस्टिंग स्ट्रैटेजी क्या हैं?

कॉफी कैन इनवेस्टिंग एक कम जोखिम वाला तरीका हैं, जिसमें उच्च ग्रोथ हासिल करने वाली कंपनियों के शेयरों को खरीद कर 10 साल तक रख दिया जाता हैं. लगातार अच्छा प्रदर्शन करने वाली कंपनियों के शेयरों में निवेश करने के लिए “खरीदें और भूल जाएं” दृष्टिकोण को कॉफी निवेश कहते हैं. इन कंपनियों की नियमित रूप से दूसरों की तरह निगरानी नहीं की जाती है. शेयरों में इस तरह का निवेश एक “कॉफी केन पोर्टफोलियो” बनाता है.

मुख्य रूप से, यह एक लंबी अवधि की निवेश रणनीति है जिसकी समयावधि 10 साल से अधिक है. 10 वर्षों के अंत में आपके पास कुछ स्टॉक होंगे जो विकसित नहीं हुए हैं, अन्य जो मूल्य खो चुके हैं, और दो से चार आउटपरफॉर्मर होंगे.

वे आउटपरफॉर्मर निवेश पर उच्च रिटर्न प्रदान करेंगे. ये ऐसे स्टॉक्स होंगे हर साल 15% से अधिक की पूंजी पर रिटर्न (ROCE) उत्पन्न किया है.

कैसे बनाएं कॉफी केन पोर्टफोलियो

कॉफी केन पोर्टफोलियो ज्यादातर स्टॉक की गुणवत्ता से संबंधित है. एक निवेशक के रूप में, आपको एक गुणवत्ता वाले स्टॉक का चयन करना चाहिए, जो एक मौलिक रूप से मजबूत कंपनी का प्रतीक है. ऐसा पोर्टफोलियो बनाने के लिए यहां कुछ पॉइंट्स दिए हैः
– कंपनी को कम से कम 10 साल से अस्तित्व में होना चाहिए.
– राजस्व वृद्धि CAGR या SAGR नहीं, बल्कि सालाना कम से कम 10% होनी चाहिए.
– 10 वर्षों के लिए कम से कम 15% का ROCE होना चाहिए.
– मार्केट केपिटलाइजेशन 100 करोड़ रूपये से अधिक होना चाहिए.
– कंपनी की ब्रांड वैल्यू अच्छी होनी चाहिए.
– कंपनी के पास प्रतिस्पर्धा में बढ़त होनी चाहिए.

कॉफी कैन पोर्टफोलियो में कैसे करेंगे निवेश

– एकमुश्त निवेश कर सकते हैं.
– सिस्टैमेटिक इंवेस्टमेंट प्लान (SIP) के जरिए निवेश कर सकते हैं.
– कीमत कम हो जाए तब खरीद सकते हैं.

कॉफी केन पोर्टफोलियो का निर्माण करते ये बातों का रखें ध्यान

– ऐसी कंपनियां चुनें जो मार्केट लीडर हों.
– 10–15 कंपनियों का एक पोर्टफोलियो बनाएं और प्रति वर्ष एक से कम स्टॉक का चर्निंग करें.
– उन कंपनियों को चुनें जिनका एक दशक से अधिक का उत्कृष्ट विकास ट्रैक रिकॉर्ड है.
– एक प्रकार के स्टॉक पर ध्यान केंद्रित न करें; डाइवर्सिफाय रहने कि कोशिश करें.

किसके लिए है सही?

कॉफी कैन पोर्टफोलियो उन निवेशकों के लिए उपयुक्त है जो इंडेक्स फंड से अधिक रिटर्न प्राप्त करना चाहते हैं और 10 से अधिक वर्षों के लिए निवेश करने के इच्छुक हैं. जो लोग निष्क्रिय रूप से निवेश करना चाहते हैं, उनके लिए यह अन्य विकल्पों के मुकाबले एक व्यवहार्य विकल्प है.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष