‘टॉप-अप’ प्लान और ‘सुपर टॉप-अप’ हेल्‍थ प्‍लान में क्या है फर्क, कैसे काम करता है

टॉप-अप हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी एक सप्लीमेंटल हेल्थ इंश्योरेंस प्लान है जो न सिर्फ कवरेज को बढ़ाता है बल्कि प्रीमियम भी अफोर्डेबल होती है.

  • Paurav Joshi
  • Publish Date - September 20, 2021 / 01:30 PM IST
'टॉप-अप' प्लान और 'सुपर टॉप-अप' हेल्‍थ प्‍लान में क्या है फर्क, कैसे काम करता है
टॉप अप प्लान से आप साल में एक क्लेम कर सकते हैं, वहीं सुपर टॉप अप हेल्थ इंश्योरेंस प्लान में आप एक से अधिक क्लेम कर सकते हैं.

बढ़ते स्वास्थ्य खर्चों को लेकर आज हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी आज जरूरत बन चुकी है. हालांकि अगर इसका कवरेज कम रहा तो फायदा कम मिल पाता है. ऐसे में टॉप-अप हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी एक सप्लीमेंटल हेल्थ इंश्योरेंस प्लान है जो न सिर्फ कवरेज को बढ़ाता है बल्कि प्रीमियम भी अफोर्डेबल होती है. आप अपने इंश्योरेंस प्लान को ‘टॉप-अप’ या ‘सुपर टॉप-अप’ हेल्थ प्लान से भी अपग्रेड कर सकते हैं.

क्या होता है टॉप अप प्लान

जिनके पास पहले से कोई हेल्थ पॉलिसी है, वे टॉप और सुपर टॉप अप ले सकते हैं. यह इंश्योरेंस की राशि को बढ़ाता है जिससे कवरेज अपने आप बढ़ जाती है.

सस्ता पड़ता है टॉप-अप

मान लीजिए आप पर 10 लाख रुपए का इंश्योरेंस कवर है और आप इस कवर को 10 लाख रुपए तक बढ़ाना चाहते हैं तो इसके लिए आप नई रेगुलर हेल्थ पॉलिसी ले सकते हैं. लेकिन अगर आप ऐसा करते हैं तो इसके लिए आपको ज्यादा पैसा खर्च करना होंगे. जबकि इतनी की कीमत का टॉप-अप प्लान कहीं कम प्रीमियम पर मिल जाएगा.

किस तरह काम करता है टॉप-अप प्लान?

मान लीजिए आपको लगता है कि 10 लाख रुपए का हेल्थ इंश्योरेंस कवर पर्याप्त नहीं है और इसमें इजाफा किया जाना चाहिए. हेल्थ कवर की राशि जैसे-जैसे बढ़ती जाती है, प्रीमियम की राशि भी बढ़ती जाती है. ऐसे में आप 15 लाख रुपए का टॉप अप कवर लेकर इसे 25 लाख कर सकते हैं. अब अगर किसी वजह से क्लेम करने की जरूरत पड़ती है और क्लेम की राशि 20 लाख रुपए होती है तो 10 लाख रुपए का क्लेम आप अपनी बेस पॉलिसी और बाकी 10 लाख रुपए का क्लेम टॉप अप पॉलिसी से कर सकते हैं.

क्या है सुपर टॉप-अप हेल्थ इंश्योरेंस प्लान

टॉप अप प्लान से आप साल में एक क्लेम कर सकते हैं, वहीं सुपर टॉप अप हेल्थ इंश्योरेंस प्लान में आप एक से अधिक क्लेम कर सकते हैं. सुपर टॉप अप हेल्थ इंश्योरेंस प्लान बिल्कुल टॉप अप हेल्थ इंश्योरेंस की तरह काम करता है. इसमें एक साल में कुल क्लेम राशि को ध्यान में रखा जाता हैं. सीमा से नीचे की राशि जो भी होगी, उसका भुगतान आपकी नियमित स्वास्थ्य बीमा द्वारा या आपकी जेब से होनी चाहिए और शेष राशि सुपर टॉप-अप योजनाओं द्वारा देय होगी.

सुपर टॉप-अप प्लान से कैसे होता है फायदा

मान लीजिए, आपके पास 5 लाख रुपये की सीमा (कटौती योग्य) वाली 10 लाख रुपये की टॉप अप स्वास्थ्य बीमा योजना है. यानी, 5 लाख रुपये से अधिक का कोई भी क्लेम इस टॉप-अप स्वास्थ्य बीमा द्वारा देय होगा. लेकिन, 5 लाख रुपये से कम के दावे को आपकी नियमित स्वास्थ्य बीमा योजना द्वारा निपटाया जाएगा. इस तरह से टॉप-अप प्लान आपके काम आता है. लेकिन, एक वर्ष में एक से अधिक दावे हैं, तो ऐसा टॉप-अप प्लान उपयोगी नहीं होगा क्योंकि ये टॉप-अप प्लान प्रति वर्ष केवल एक दावे पर लागू होते हैं. ऐसे में सुपर टॉप-अप हेल्थ इंश्योरेंस प्लान आपके काम आ सकते हैं.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष