Flight cancellation insurance: क्या इसे लेना चाहिए? जानिए इसके साथ जुडी शर्तें और चार्ज

यदि आप 24 घंटे पहले तक भी अपनी फ्लाइट रद्द करते हैं तो आपको फ्लाइट कैंसिलेशन इंश्योरेंस की मदद से पैसा वापस पाने में मदद मिलती हैं.

  • Vijay Parmar
  • Publish Date - September 18, 2021 / 10:57 AM IST
Flight cancellation insurance: क्या इसे लेना चाहिए? जानिए इसके साथ जुडी शर्तें और चार्ज
Pixabay - Ixigo, HappyEasyGo, Yatra.com, Flipkart द्वारा इंश्योरेंस कंपनियों के साथ साझेदारी में ट्रिप कैंसिलेशन कवर प्रदान किए जाते हैं.

Flight cancellation insurance: यदि एयरलाइन कंपनी आपकी फ्लाइट किसी कारण रद्द करती हैं तो या तो नई फ्लाइट रिशिड्युअल कर देती हैं या टिकट का पैसा रिफंड करती हैं. लेकिन, यदि आप टिकट रद्द करते हैं तो कंपनी कैंसिलेशन चार्ज के तौर पर भारी रकम काट लेती हैं. कुछ ऐसी परिस्थितियों का निर्माण होने से कई बार फ्लाइट कैंसिल करवाने की नौबत आती हैं, और ऐसे मामलो में भारी नुकसान जेलना पडता हैं, क्योंकि जब आप फ्लाइट टिकट कैंसिल करते है, तो टिकट के किराए की राशि का एक बड़ा हिस्सा एयरलाइंस द्वारा पेनल्टी के रूप में काट लिया जाता है. आपको मिलने वाला रिफंड भी टिकट की कुल कीमत की तुलना में आमतौर पर बहुत कम होता है.

ऐसे हालात में यदि आपके पास फ्लाइट कैंसिलेशन इंश्योरेंस पॉलिसी है तो आपके द्वारा फ्लाइट रद्द करने पर भी आपको पूरा रिफंड मिल जाता हैं और नई फ्लाइट के लिए अतिरिक्त शुल्क भी चुकाना नहीं पडता हैं. एक नियमित ट्रावैल इंश्योरेंस पॉलिसी द्वारा प्रदान किए जाने वाले लाभों के अलावा, इस तरह के उत्पाद आपको अपनी बुकिंग रद्द करने और प्रत्येक टिकट पर कुछ अमाउंट तक की धनवापसी प्राप्त करने का विकल्प देते है.

फ्लाइट कैंसिलेशन इंश्योरेंस

Ixigo, HappyEasyGo, Yatra.com जैसे ऑनलाइन ट्रैवल एजेंट और दिग्गज ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म Flipkart द्वारा इंश्योरेंस कंपनियों के साथ साझेदारी में ट्रिप कैंसिलेशन कवर प्रदान किए जाते हैं. जब आप फ्लाइट टिकट बूक करते हैं तो आपको यह विकल्प चुनना होता हैं. हाल ही में लिबर्टी जनरल इंश्योरेंस ने ट्रावैल प्लेटफॉर्म यात्रा और इ-कॉमर्स प्लेटफॉर्म फ्लिपकार्ट के साथ साझेदारी में लिबर्टी सिक्योर ट्रैवल के तहत ‘कैंसिल फॉर एनी रीज़न’ विकल्प लॉन्च किया हैं. इस विकल्प को चुनने के बाद आप प्रस्थान से 24 घंटे पहले तक अपनी उड़ानें रद्द कर सकेंगे और आपको 5,000 रुपये तक के नुकसान की प्रतिपूर्ति की जाएगी. यह पॉलिसी सिर्फ घरेलू यात्रा के लिए उपलब्ध हैं.

सम इंश्योर्ड

यात्रा रद्द करने के लिए, आपको 5,000 रूपये तक की बीमा राशि (Sum Insured) प्रदान होती है. आकस्मिक मृत्यु, स्थायी और पूर्ण अपंगता दोनों के लिए बीमा राशि 1,00,000 रूपये होगी. यदि आप निर्धारित प्रस्थान तिथि से कम से कम एक दिन (24 घंटे) पहले अपना फ्लाइट टिकट रद्द करते हैं तो भी आप फ्लाइट कैंसिलेशन कवर के लिए दावा कर सकते हैं.

प्रीमियम

फ्लाइट टिकट बूक करवाते समय आप ऐसे प्लान को चुन सकते हैं, जिसके लिए प्रीमियम की शुरुआत 399 रूपये होती हैं, जो अधिकतम 700 रूपये तक हो सकती हैं. 3 महीने से 70 साल के बीच का कोई भी व्यक्ति यह बीमा पॉलिसी खरीद सकता है.

इन बातों का रखें ध्यान

हवाई यात्रा की तारीखों में गड़बड़ी होने से टिकिट कैंसिल करवाने पर आपको काफी सारा नुकासन झेलना पडता हैं, क्योंकि एयरलाइन के द्वारा जितना पैसा रिफंड किया जाता हैं वह मामूली होता हैं. ऐसी परिस्थिति में पैसा न खोना पडे यह सुनिश्चित करने के लिए ऐसे इंश्योरेंस उत्पाद खरीदने के लिए आप प्रेरित हो सकते है, लेकिन यह समझने के लिए कि वास्तव में क्या कवर किया जाएगा, आपको कंपनी के नियम और शर्त को अच्छी तरह से समझ लेना चाहिए.

– फ्लाइट कैंसिलेशन इंश्योरेंस कवर चुनने के बजाय, फ्लाइट बुक करने से पहले स्थिति का अध्ययन करें, जब तक कि यह कोई आपात स्थिति न हो.

– ध्यान दें कि अगर आपके टिकट की कीमत 5,000 रूपये से ऊपर है तो आपको पूरा रिफंड नहीं मिलेगा. अधिकांश मार्गों की टिकट 5,000 रुपये से अधिक है. ऐसे में, यदि आप ऐसे प्लान खरीदते हैं, तो आपको केवल 5,000 रूपये वापस मिलेंगे.

– कंपनियां आपको बिना किसी शुल्क के टिकटों को पुनर्निर्धारित (reschedule) करने का विकल्प देती हैं. यात्रियों को यह समझने की जरूरत है कि हालांकि वे पुनर्निर्धारण (reschedule) शुल्क का भुगतान नहीं करेंगे, लेकिन उन्हें किराए में अंतर के लिए भुगतान करना होगा.
– उदाहरण के लिए, यदि आपने 5,000 रूपये के लिए एक फ्लाइट बुक की है और आप इसे पुनर्निर्धारित करना चाहते हैं, तो आपको अतिरिक्त पुनर्निर्धारण शुल्क का भुगतान नहीं करना होगा, लेकिन अगर नई फ्लाइट टिकट की कीमत 7,000 रूपये है, तो आपको किराए में अंतर के कारण 2,000 रूपये अतिरिक्त भुगतान करने होंगे.

– यदि एयरलाइन को निलंबित कर दिया जाता है, या कंपनी अपना ऑपरेशन बंद कर देती है या इसके लिए संचालन नहीं किया जाता है तो आपको कवर नहीं मिलेगा. ऐसी परिस्थिति में आपको कंपनी से या सरकार से रिफंड मांगना पडेगा.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष