टर्म प्लान, यूलिप, होल लाइफ, मनी-बैक इंश्योरेंस में से किसे चुनेंगे आप?

टर्म प्लान में प्रीमियम चुकाने के बाद आपको किसी भी तरह का मैच्योरिटी बेनिफिट नहीं मिलता. सिर्फ आपकी मृत्यु होने पर नोमिनी को तय राशि मिलती हैं.

  • Vijay Parmar
  • Publish Date - October 18, 2021 / 02:08 PM IST
टर्म प्लान, यूलिप, होल लाइफ, मनी-बैक इंश्योरेंस में से किसे चुनेंगे आप?
Pixabay - जीवन बीमा को इंवेस्टमेंट समझने कि गलती नहीं करनी चाहिए, और पर्याप्त अमाउंट का जीवन बीमा करवाना चाहिए.

Different Types of Life Insurance Plans: परिवार में कमाने वाले व्यक्ति का जीवन बीमा होना आवश्यक हैं, क्योंकि दुर्भाग्यपूर्ण से उनकी मृत्यु होती हैं, तो उनकी गैर-मोजूदगी में परिवार को जीवन बीमा से ही वित्तीय सहारा मिलता हैं. यदि आप अपने लिए या परिवार के सदस्य के लिए लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी लेना चाहते हैं, तो इसके साथ जुडे सभी नियमों को अच्छी तरह से समझ लेना चाहिए और पर्याप्त अमाउंट का जीवन बीमा खरीदना चाहिए. जीवन बीमा कई प्रकार के होते हैं, और लोग इतने सारे प्रकार से उलजन में फंस जाते हैं. यहां हमने जीवन बीमा के विभिन्न प्रकार को सरल शब्दों में समझाने कि कोशिश की हैं.

टर्म इंश्योरेंस प्लान

इनमें मैच्योरिटी बेनिफिट नहीं मिलता, क्योंकि ये प्योर टर्म प्लान हैं. इसमें पॉलिसी धारक की मृत्यु टर्म के दौरान होने पर नोमिनी को एक तय रकम का भुगतान किया जाता हैं. आपकी मृत्यु के बाद आपके परिवार को अधिकतम बेनिफिट मिले उसके लिए एक्सपर्ट टर्म इंश्योरेंस प्लान लेने की सलाह देते है. आप निश्चित अवधि (10, 20 या 30) के लिए इसे खरीद सकते है.

यूलिप (यूनिट लिंक्ड इंश्योरेंस प्लान)

इसमें प्रोटेक्शन और इंवेस्टमेंट दोनों शामिल हैं. ये मार्केट के साथ लिंक्ड प्लान है. यूलिप में निवेश वाले हिस्से को बॉन्ड और शेयर में लगाया जाता है और म्यूचुअल फंड की तरह आपको यूनिट मिलते है, ऐसे में रिटर्न मार्केट के उतार-चढ़ाव पर आधारित होता है, और रिटर्न की गॉरंटी नहीं होती है.

होल लाइफ इंश्योरेंस प्लान

Whole Life Insurance Plan यानि आजीवन लाइफ इंश्योरेंस में आपको जीवनभर सुरक्षा कवर मिलता है, वहीं दूसरी लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी में आमतौर पर 65-70 साल की अधिकतम सीमा होती है, उसके बाद मौत होने पर नॉमिनी डेथ क्लेम नहीं ले सकता. ये प्लान खरीदने वाले की मौत 99 साल की उम्र में होती है तो भी नॉमिनी क्लैम करने का हकदार है. इस पॉलिसी का प्रीमियम काफी ज्यादा रहता है.

मनीबैक इंश्योरेंस पॉलिसी

निवेश और बीमा के मेल वाली यह पॉलिसी के टर्म दौरान पॉलिसीधारक की मृत्यु होती है तो पूरा एश्योर्ड सम लाभार्थी को मिलता है. इसमें प्रीमियम सबसे ज्यादा होता है. इस पॉलिसी में बोनस के साथ एश्योर्ड सम पॉलिसी टर्म के दौरान ही किस्तों में वापस किया जाता है. आखिरी किस्त पॉलिसी खत्म होने पर मिलती है.

चाइल्ड इंश्योरेंस पॉलिसी

चाइल्ड प्लान में पॉलिसीधारक की मृत्यु के बाद बच्चे को एक निश्चित अवधि तक एकमुश्त रकम का भुगतान होता है लेकिन पॉलिसी खत्म नहीं होती है. भविष्य के सारे प्रीमियम माफ कर दिए जाते हैं और इंश्योरेंस कंपनी पॉलिसीधारक की ओर से निवेश जारी रखती है.

सेविंग्स कम इन्वेस्टमेंट प्लान्स

इस प्रकार की लाइफ इंश्योरेंस कैटेगरी में ट्रेडिशनल और यूनिट लिंक्ड दोनों तरह के प्लान्स कवर होते हैं. इस तरह का लाइफ इंश्योरेंस प्लान बीमा लेने वाले और उसके परिवार को भविष्य के खर्चों के लिए एकमुश्त फंड का भरोसा दिलाता है.

एंडोमेंट पॉलिसी

एंडोमेंट पॉलिसी के तहत पॉलिसीधारक की मौत होने पर या निर्धारित सालों के बाद पॉलिसी अमाउंट की फेस वैल्यू का भुगतान किया जाता है. इसमें भी बीमा और निवेश दोनों होते हैं. इस पॉलिसी में एक निश्चित अवधि के लिए रिस्क कवर होता है और उस अवधि के खत्म होने के बाद बोनस के साथ एश्योर्ड सम पॉलिसीधारक को वापस किया जाता है.

रिटायरमेंट प्लान

यह एक रिटायरमेंट सॉल्यूशन प्लान है, इसलिए लाइफ इंश्योरेंस कवर नहीं मिलता. इसमें तय की गई एक अवधि के बाद आपको या आपके बाद बेनिफीशियरी को पेंशन के तौर पर एक निश्चित रकम का भुगतान किया जाएगा.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष