क्या लेना चाहिए नई कार के लिए ‘ऐड ऑन’ इंश्योरेंस कवर? क्या होता है इससे फायदा

आजकल साधारण बीमा कंपनियां कार बीमा पॉलिसी के तहत कई तरह के ऐड-ऑन कवर की पेशकश करती हैं. ऐड-ऑन कवर कार बीमा पॉलिसी के बेस कवर का दायरा बढ़ा देते हैं.

क्या लेना चाहिए नई कार के लिए 'ऐड ऑन' इंश्योरेंस कवर? क्या होता है इससे फायदा
थर्ड पार्टी इंश्योरेंस कंपल्सरी होता है. थर्ड पार्टी इंश्योरेंस के बिना आप अपने वाहन को सड़क पर नहीं चला सकते हैं

यदि आपके पास कार है तो आपके पास या तो कॉम्प्रिहेंसिव मोटर इंश्योरेंस होगी या फिर थर्ड पार्टी इंश्योरेंस ले रखा होगा. मोटर इंश्योरेंस पॉलिसी एक्सपायर हो, इससे पहले इसे रिन्यू कराने की जरूरत होती है.जब आप कॉम्प्रिहेंसिव (व्यापक) इंश्योरेंस कवर भी लेते हैं, तो ये भी नुकसान के विभिन्न प्रकारों के लिए आपको पूरी कवरेज नहीं देता. किसी भी व्यक्ति को जोखिम कवर के साथ साथ एड ऑन कवर भी लेना चाहिए. आजकल साधारण बीमा कंपनियां कार बीमा पॉलिसी के तहत कई तरह के एड-ऑन कवर की पेशकश करती हैं. एड-ऑन कवर कार बीमा पॉलिसी के बेस कवर का दायरा बढ़ा देते हैं. आइए, ऐसे ही कुछ एड ऑन कवर पर एक निगाह डालते हैं.

रिटर्न टू इनवॉयस

रिटर्न टू इनवॉइस’ ऐड-ऑन यह सुनिश्चित करेगा कि किसी दुर्घटना या चोरी की स्थिति में अगर आप अपनी कार से पूरी तरह हाथ धो बैठते हैं, तो आपको कार की बाज़ार कीमत और साथ ही रजिस्ट्रेशन शुल्क और रोड टैक्स वापस मिल जाएंगे. संक्षिप्त में समझें तो जो बीमा वाले कार की कीमत लगाते हैं और जो मूल कीमत होती है, उसके बीच की जगह को ये एड ऑन कवर भर देता है.

जीरो डेप्रिसिएशन कवर

तीन साल से कम पुराने वाहनों के लिए डेप्रिसिएशन कवर बीमा कंपनियां ऑफर करती हैं. इस कवर के जबरदस्त फायदे हैं. इसके अंतर्गत बीमा कंपनियां दुर्घटना की वजह से किसी क्षतिग्रस्त पुर्जे की रीप्लेसमेंट की क्षतिपूर्ति करती हैं. इसका मतलब हुआ कि अगर दुर्घटना के बाद वाहन के कुछ पुर्जे बदले जाते हैं तो बीमा कंपनी पुर्जे की वास्तविक कीमत का भुगतान करेगी न कि उसके डेप्रिसिएटेड वैल्‍यू का.साधारण मोटर इंश्योरेंस में आमतौर पर पॉलिसी में कार के डैमेज पार्ट्स की डेप्रिसिएटेड वैल्यू को रिइम्बर्स किया जाता है. इसे ‘बम्पर टू बम्पर’ कवर के तौर पर भी जाना जाता है.

रोडसाइड असिस्टेंस कवर

अगर आपका वाहन बीच रास्ते में खराब हो जाता है या कार की चाबी गुम हो जाती है तो यह कवर पॉलिसीधारक को डुप्लीकेट चाबी, ईधन आदि उपलब्ध कराता है. रोड साइड असिस्टेंस के तहत लगभग 12 एड ऑन कवर पॉलिसीधारक को मिलते हैं जिनमें 24×7 स्पॉट असिस्टेंस, टोइंग सुविधा, टायर और बैटरी की मरम्मत/रीप्लेसमेंट, छोटे-छोटे मरम्मत, टैक्सी सुविधा और ठहरने की व्यवस्था प्रमुख हैं. यह काफी उपयोगी कवर प्लान होता है. यह उन ग्राहकों को जरूर ऐड ऑन करना चाहिए जो अक्सर लंबी ड्राइव पर आते-जाते हैं.

इंजन प्रोटेक्शन

किसी भी कार या गाड़ी में सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है उसका इंजन. इसको लेकर आपको खासतौर पर इंजन प्रोटेक्ट कवर जरूर कवर कराना चाहिए. अगर महंगी कार है तो इसे जरूर ऐड कराएं. साधारण कार इंश्योरेंस में इंजन के डैमेज होने पर कवर नहीं मिलता है. इसमें डैमेज इंजन का खर्च आप पर नहीं आएगा.

NCB प्रोटेक्टर

अगर कार इंश्योरेंस पॉलिसीधारक ने सालभर में कोई क्लेम नहीं किया है, तो उसे नो क्लेम बोनस मिलता हैं. NCB ऐड-ऑन की सिक्योरिटी के साथ, अगर आपने पिछले वर्ष में क्लेम किया है, तो आप NCB बोनस को बरकरार रख सकते हैं. NCB संचित हो सकते हैं और अधिकतम 50% तक जा सकते हैं.

पर्सनल फाइनेंस पर ताजा अपडेट के लिए करें।