हेल्थ इंश्योरेंस को रिन्यू करते वक्त याद रखें ये काम की बातें

Health Insurance: रिन्यू करने से पहले आवश्यक बीमा रकम का आकलन कर सकते हैं. इंश्योरर पॉलिसी रिन्यू करते वक्त पॉलिसी होल्डर को यह विकल्प देता है.

  • Money9 Hindi
  • Publish Date - September 11, 2021 / 11:59 AM IST
हेल्थ इंश्योरेंस को रिन्यू करते वक्त याद रखें ये काम की बातें
हेल्थ इंश्योरेंस पोर्टेबिलिटी किसी की पॉलिसी को मौजूदा इंश्योरेंस कंपनी से दूसरी में बदलने का एक विकल्प है. जब आप अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी को एक इंश्योरेंस कंपनी से दूसरी इंश्योरेंस कंपनी में बदलते हैं, तो आप अपने द्वारा कमाए बेनिफिट को खोते नहीं हैं. पॉलिसी रिन्यू करते समय कोई इस विकल्प पर विचार कर सकता है यदि वो ऐसा करना चाहता है.

Health Insurance: इसमें कोई शक नहीं कि Health Insurance लोगों की जिंदगी में अहम भूमिका निभाता है. यह किसी भी हेल्थ इमरजेंसी की स्थिति में आपको और आपके परिवार को आर्थिक रूप से सुरक्षा प्रदान करता है. हेल्थ इंश्योरेंस को खरीदने की तरह ही समय पर उसे रिन्यू कराना भी जरूरी है ताकि प्लान वैलिड रहे. आपको हर साल पॉलिसी को रिन्यू करने की जरूरत होती है. लेकिन इसके लिए आखिरी मिनट तक इंतजार न करें. एक्सपर्ट आमतौर पर सलाह देते हैं कि ड्यू डेट से कम से कम 15 से 30 दिन पहले प्लान को रिन्यू करा लेना चाहिए. आम तौर पर ज्यादातर हेल्थ इंश्योरेंस प्रोवाइडर 15 से 30 दिनों का ग्रेस पीरियड देते हैं. अगर ग्रेस पीरियड में प्रीमियम का भुगतान नहीं किया जाता है, तो पॉलिसी लैप्स हो जाती है.

इंश्योर्ड सदस्यों की संख्या में परिवर्तन

एक हेल्थ इंश्योरेंस रिन्यूअल आपकी बदलती जरूरतों के हिसाब से किसी भी सदस्य को आपकी पॉलिसी कवरेज से जोड़ने या हटाने का सबसे अच्छा समय है.

बीमा रकम बढ़ाएं

हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी को रिन्यू करने से पहले, आप आवश्यक बीमा रकम का आकलन कर सकते हैं. हर इंश्योरर पॉलिसी रिन्यू करते वक्त पॉलिसी होल्डर को यह विकल्प देता है.

टॉप अप प्लान

इंश्योरेंस बेनिफिट को बढ़ाने में टॉप-अप खास भूमिका निभाते हैं. यदि आपको लगता है कि आपकी मौजूदा हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी पर्याप्त नहीं है, तो आप पॉलिसी रिन्यू करते वक्त प्लान को टॉप-अप करने का विकल्प चुन सकते हैं.

नियम और शर्तें

कंपनी की पॉलिसी या रेगुलेटरी नॉर्म्स में बदलाव के कारण इंश्योरेंस के नियम और शर्तें समय-समय पर बदल सकती हैं.

इसलिए, पॉलिसी रिन्यू करते समय किसी को पॉलिसी डिटेल जैसे बीमा राशि, किए गए क्लेम और उनकी संख्या, नो-क्लेम बोनस आदि को चेक करना चाहिए.

आवश्यकताओं की समीक्षा

एक मेडिकल इंश्योरेंस रिन्यूअल आपके हेल्थ और दूसरे इंश्योर्ड सदस्यों की मौजूदा स्थिति की समीक्षा करने का एक अच्छा समय है ताकि आपकी पॉलिसी में जरुरत के हिसाब से बदलाव किया जा सके.

किसी भी नई बीमारी का खुलासा

यदि आपको या परिवार के किसी इंश्योर्ड सदस्य को कोई नई बीमारी होती है, तो आपको पॉलिसी रिन्यू करते समय अपनी इंश्योरेंस कंपनी को इन्फॉर्म करना चाहिए.

पोर्टेबिलिटी पर विचार करें

हेल्थ इंश्योरेंस पोर्टेबिलिटी किसी की पॉलिसी को मौजूदा इंश्योरेंस कंपनी से दूसरी में बदलने का एक विकल्प है. जब आप अपनी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी को एक इंश्योरेंस कंपनी से दूसरी इंश्योरेंस कंपनी में बदलते हैं, तो आप अपने द्वारा कमाए बेनिफिट को खोते नहीं हैं. पॉलिसी रिन्यू करते समय कोई इस विकल्प पर विचार कर सकता है यदि वो ऐसा करना चाहता है.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष