भारत गृह रक्षा: जानिए इस होम इंश्योरेंस पॉलिसी की 9 अहम बातें

यह स्टैंडर्ड पॉलिसी मकान को हुए नुकसान, आग, विस्फोट, बिजली गिरने और अन्य प्राकृतिक आपदाओं से हुए विनाश की स्थिति में कवर प्रदान करती है.

  • Money9 Hindi
  • Publish Date - September 10, 2021 / 09:17 AM IST
भारत गृह रक्षा: जानिए इस होम इंश्योरेंस पॉलिसी की 9 अहम बातें
निवेश के हिस्से पर जीएसटी नहीं लगाया जाता है. आइए जानते हैं कि इंश्योरेंस पॉलिसी पर GST का कैलकुलेशन किस आधार पर किया जाता है

Bharat Griha Raksha: होम इंश्योरेंस पॉलिसी आपके मकान और उससे जुड़ी वस्तुओं को किफायती प्रीमियम पर सुरक्षा प्रदान करती है. साथ ही इसमें आप कई एड-ऑन भी ले सकते हैं. जिससे आपको किराए में हुए नुकसान और व्यक्ति दुर्घटना कवर भी मिल जाता है. यहां हम आपको भारत गृह रक्षा, पॉलिसी की 9 विशेषताओं के बारे में बता रहे हैं.

1) कवरेज

यह स्टैंडर्ड पॉलिसी मकान को हुए नुकसान, आग, विस्फोट, बिजली गिरने, भूकंप, चक्रवात और अन्य प्राकृतिक आपदाओं से हुए विनाश की स्थिति में कवर प्रदान करती है. साथ ही इसमें मकान पर पेड़ गिरने, वाहन से हुए नुकसान, हवाई जहाज गिरने से हुए नुकसान भी शामिल हैं. इसके अलावा घरेलू वस्तुओं जैसे पाइप वगैरह में आई खराबी को भी कवर किया जाता है.

2) ऑर्कटेक्ट फीस, किराया घाटा

इस पॉलिसी में ऑर्किटेक्ट, सर्वेयर, इंजीनियर की फीस भी कवर होती है. साथ ही किराया घाटा और वैकल्पिक किराया को भी इसमें शामिल किया जाता है.

3) बीमित राशि

यदि इस पॉलिसी को एक साल से अधिक की अवधि के लिया जाता है तो पॉलिसी प्रत्येक वर्षगांठ पर बीमित राशि 10 फीसदी बढ़ जाती है, जबकि प्रीमियम में कोई बढ़ोतरी नहीं होती. यह बढ़ोतरी, वास्तविक बीमित राशि के अधिक अधिकतम 100 फीसदी तक हो सकती है.

4) अंतर पर छूट

इसका मतलब यह है कि यदि बीमित राशि मकान के वास्तविक मूल्य से कम है तो यह अंतर बीमा कंपनी द्वारा किए गए भुगतान पर कोई असर नहीं डालता. इस स्थिति में कंपनी पॉलिसीधारक को बिना कटौती के भुगतान करती है.

5) नवीनीकरण

यदि आप किसी नुकसान के एवज में क्लेम करते हैं तो पॉलिसी को वास्तविक बीमित राशि के बराबर बहाल कर दिया जाएगा. इस स्थिति में पॉलिसीधारक को नुकसान की तारीख से अनएक्सपायर्ड पॉलिसी के लिए अनुपातिक प्रीमियम देना होगा.

6) रिइम्बर्समेंट

इसके तहत बीमा कंपनी मकान की मरमम्त पर हुए खर्च को रिइम्बर्स करती है. साथ ही कंपनी क्लेम का 5 फीसदी हिस्सा बतौर इंजीनियर फीस और 2 फीसदी बतौर सफाई देती है.

7) चोरी

चोरी होने की स्थिति में पॉलिसी सुरक्षा प्रदान करती है.

8) घरेलू सामान

यदि पॉलिसीधारक ने मकान से साथ-साथ उसकी वस्तुओं का भी बीमा किया है तो वस्तुओं को हुए नुकसान को कवर किया जाता है. यह कवरेज कुल बीमित राशि को 20 फीसदी होता है, जो कि अधिकतम 10 लाख रुपए तक का हो सकता है.

9) अतिरिक्त कवर

इस पॉलिसी में पर्सनल एक्सीडेंट कवर भी मुहैया कराया जाता है. यह प्रति व्यक्ति 5 लाख रुपए तक होता है.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष