दिल की सेहत के लिए कार्डियक हेल्थ बीमा जरूरी, इन बातों का ध्यान रखें ध्यान

यदि बीमित व्यक्ति को हृदय संबंधी किसी बीमारी का पता चलता है तो बीमाकर्ता एकमुश्त राशि का भुगतान करता है.

  • Paurav Joshi
  • Publish Date - October 22, 2021 / 04:06 PM IST
दिल की सेहत के लिए कार्डियक हेल्थ बीमा जरूरी, इन बातों का ध्यान रखें ध्यान
अगर आपके पास ऐसी बीमारी से निपटने के लिए सही कार्डियक प्लान है, तो आपको ऐसे मुश्किल के समय में कोई आर्थिक परेशानी नहीं होगी

आजकल दिल की बीमारियां लगभग हर उम्र के लोगों में सामान्य बात हो गई है. दिल की बीमारियों में खर्च काफी ज्यादा आता है. इससे संबंधित सामान्य बीमारियों में भी लाखों रुपये खर्च हो जाते हैं, जो कि मध्यमवर्गीय लोगों के लिए भी एक बड़ी बात होती है. लोग अब इस तरह के बड़े खर्चों से निपटने के लिए पहले से प्लानिंग करने लगे हैं. अगर आपके पास इस तरह की बीमारियों से निपटने के लिए एक सही कार्डियक प्लान है, तो ऐसे संकट के समय में आपको कम से कम पैसों की दिक्कत नहीं होगी.

हृदय रोग के इलाज में खर्च ज्यादा

बंद धमनियों की एंजियोप्लास्टी कराने के लिए मेट्रो शहर में आपको 3 लाख रुपये से 5 लाख रुपये के बीच कहीं भी खर्च करना पड़ सकता है. इसी तरह ओपन-हार्ट सर्जरी की लागत 5 लाख रुपये से 8 लाख रुपये है, जबकि वाल्व से संबंधित सर्जरी में 4 लाख रुपये से 7 लाख रुपये के बीच कहीं भी खर्च होता है. हर किसी के पास इतना धन होना हमेशा संभव नहीं होता है कि वह इतनी बड़ी लागत को कवर कर सके और सर्वोत्तम संभव उपचार ले सके.

कौन सी पॉलिसी है उपलब्ध

एक 35 साल के व्यक्ति को सम इंस्योर्ड 10 लाख रुपए के लिए कार्डियक पॉलिसी लेनी हो तो स्टार हेल्थ इंश्योरेंस की स्टार कार्डिएक केयर इंश्योरेंसपॉलिसी- प्लेटिनम में आपको 36,621 रुपये का प्रीमियम आएगा. वहीं केयर इंश्योरेंस की केयर हार्ट पॉलिसी में 14,195 रुपये और आदित्य बिड़ला की एक्टिव हेल्थ प्लेटिनम एन्हांस्ड पॉलिसी में 9,566 रुपये के आसपास प्रीमियम चुकाना पड सकता है. (स्रोत: Policybazar.com)

इन बातों का ध्यान रखें

इन-हॉस्पिटल कवरेज – अस्पताल में भर्ती होने से पहले और बाद में लगने वाला चार्ज
फर्स्ट हार्ट अटैक के लिए कवरेज – रिफ्रेक्ट्री हार्ट फेल्योर के लिए कवरेज
वार्षिक आधार पर कार्डियक हेल्थ चेकअप/वेलनेस प्रोग्राम
वैकल्पिक थैरेपी
हॉस्पिटलाइजेशन कवर (Hospitalisation Expenses) – इसमें कार्डियक ट्रीटमेंट की लागत और अन्य खर्च शामिल हैं – जिसमें हॉस्पिटलाइजेशन का खर्च भी शामिल है.
दिल का दौरा पड़ने की स्थिति में फाइनेंशियल कवर
बीमा राशि का एकमुश्त भुगतान
इनकम कवर का नुकसान
विदेशी उपचार
प्रीमियम पर कर लाभ

कार्डियक हेल्थ इंश्योरेंस प्लान की मुख्य खासियत

अस्पताल में भर्ती होने का कवर-

पॉलिसी हृदय संबंधी उपचार लागत और अस्पताल में भर्ती होने के खर्च सहित अन्य संबंधित खर्चों के लिए मुआवजे की पेशकश करती है

बीमित राशि का एकमुश्त भुगतान-

यदि बीमित व्यक्ति को हृदय संबंधी किसी बीमारी का पता चलता है तो बीमाकर्ता एकमुश्त राशि का भुगतान करता है.

आय का नुकसान-

हृदय देखभाल स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत बीमाकर्ता आपकी आय के नुकसान की भरपाई भी करता है क्योंकि पॉलिसी दावा राशि का उपयोग अन्य विविध खर्चों को पूरा करने के लिए भी किया जा सकता है.

विदेश में उपचार-

पॉलिसी कवरेज के आधार पर, हृदय बीमा पॉलिसी विदेशों में किए गए उपचार को भी कवर कर सकती है

हेल्थ इंश्योरेंस क्यों जरूरी

एक स्वास्थ्य बीमा योजना आपको अस्पताल में भर्ती होने से पहले और बाद के खर्चों के साथ-साथ अस्पताल में भर्ती होने के खर्चों के लिए भी कवर करती है.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष