जानिए क्रेडिट कार्ड पेमेंट देर से करने के क्या हैं नुकसान

यदि आप ड्यू डेट पर क्रेडिट कार्ड का मंथली पेमेंट नहीं करते हैं, तो बैंक आपसे लेट फीस वसूल करेगा. यदि आप मिनिमम अमाउंट का पेमेंट नहीं कर सकते हैं.

  • Himali Patel
  • Publish Date - October 14, 2021 / 08:21 AM IST
जानिए क्रेडिट कार्ड पेमेंट देर से करने के क्या हैं नुकसान
यदि आप जरूरी पेमेंट, सुपर मार्केट से खरीदारी और अन्य खरीदारी करने के लिए अपने क्रेडिट कार्ड पर निर्भर हैं

हम कई बार चीजों को टालते हैं लेकिन पैसों के मामले में ये आदत बहुत भारी पड़ सकती है. क्रेडिट कार्ड (Credit Card) की ड्यू डेट पर पेमेंट न करना आपको काफी महंगा पड़ सकता है. आपको बताते ही कि लेट पेमेंट करने के क्या-क्या नुकसान हैं.

लेट पेमेंट के लिए पेनल्टी

यदि आप ड्यू डेट पर क्रेडिट कार्ड का मंथली पेमेंट नहीं करते हैं, तो बैंक आपसे लेट फीस वसूल करेगा. यदि आप मिनिमम अमाउंट का पेमेंट नहीं कर सकते हैं, तो आपको ये लेट फीस भरनी होगी. उदाहरण के लिए, अनपेड अमाउंट पर लेट पेमेंट चार्ज 30% से 40% तक सालाना होता है. आप भले ही बाद में सारा ड्यू अमाउंट एक बार में भरने को तैयार हों लेकिन आपको लेट फीस भरनी ही पड़ेगी.

इंटरेस्ट रेट बढ़ने की उम्मीद

यदि आप अपना मंथली पेमेंट करने में देरी करते हैं तो आप अपने क्रेडिट कार्ड पर ज्यादा इंटरेस्ट भरने का रिस्क भी उठाते हैं. यदि आपने समय पर अपने क्रेडिट कार्ड का पेमेंट नहीं किया है, लेकिन इसके बावजूद खरीदारी करने के लिए इसका इस्तेमाल करते हैं, तो आपकी खरीदारी पर लगाया गया इंटरेस्ट रेट बढ़ सकता है. यदि आप EMI या विद्ड्रॉल करने के लिए अपने क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं, तो बैंक इंटरेस्ट बढ़ा सकता है.

क्रेडिट लिमिट कम करना

यदि आप अक्सर समय पर अपने क्रेडिट कार्ड का पेमेंट नहीं करते तो आपकी क्रेडिट लिमिट प्रभावित हो सकती है. बैंक इस तरह के रवैये को बर्दाश्त नहीं करते हैं. मान लीजिए कि आप लगातार अपने पेमेंट समय पर नहीं कर रहे तो ऐसी स्थिति में, आपकी क्रेडिट लिमिट काफी कम हो जाएगी, जो आपको एक समस्या में डाल देगी, यदि आप जरूरी पेमेंट, सुपर मार्केट से खरीदारी और अन्य खरीदारी करने के लिए अपने क्रेडिट कार्ड पर निर्भर हैं.

क्रेडिट विद्ड्रॉल

समय पर क्रेडिट कार्ड का पेमेंट न कर पाने के सबसे गंभीर परिणामों में से एक है बैंक द्वारा आपके इंटरेस्ट-फ्री क्रेडिट पीरियड को कम करना या समाप्त करना है. इसका मतलब यह है कि आपको अपना बकाया चुकाने के मामले में कोई अतिरिक्त छूट नहीं दी जाएगी. आप जितनी देर करेंगे, समय के साथ आपको उतना ही ज्यादा इंटरेस्ट भरना होगा.

क्रेडिट स्कोर पर नेगेटिव इम्पैक्ट

जिस तरह समय पर काम पूरा न करने वाले पर कोई भरोसा नहीं करता कि वो काम समय पर कर सकता है, वैसे ही बैंक पर्सनल लोन, होम लोन या कार लोन देते समय पेमेंट समय पर नहीं करने वालों पर भरोसा नहीं करते हैं. लगातार क्रेडिट कार्ड का भुगतान न करना आपके क्रेडिट स्कोर को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकता है, जिसकी वजह से बैंक भविष्य में आपकी किसी भी लोन एप्लीकेशन को रिजेक्ट कर सकते हैं.

रिकवरी एजेंट

मान लीजिए आपने अपने क्रेडिट कार्ड का 90 दिनों से अधिक समय से भुगतान नहीं किया है. उस स्थिति में, आपको कुछ अनवांटेड गेस्ट से मुलाकात करनी पड़ सकती है – यानी बैंक के रिकवरी एजेंट या आउटसाइड कलेक्शन एजेंसी – ये आपसे तब तक लगातार मिलते रहेंगे जब तक कि आप पूरा पेमेंट नहीं कर देते. यकीनन, आप इनसे मिलना बिल्कुल नहीं चाहेंगे. इसलिए क्रेडिट कार्ड के बिल का पेमेंट समय पर करना याद रखें.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष