5G के आते ही होंगे ये बदलाव, इस दिन से होने जा रही शुरुआत

5G: अबतक की सेलुलर टेक्नोलॉजी कनेक्टिविटी पर फोकस किया करती थी, लेकिन 5G सेलुलर टेक्नोलॉजी एक कदम आगे है.

  • Money9 Hindi
  • Publish Date - August 24, 2021 / 02:18 PM IST
5G के आते ही होंगे ये बदलाव, इस दिन से होने जा रही शुरुआत
इसके आते ही आपकी जिंदगी में कई ऐसे बदलाव होंगे जिनपर आप विश्‍वास नहीं कर पाएंगे

देश में डिजिटल क्रांति (Digital Revolution) आने के बाद से लगातार बदलाव हो रहे हैं. पहले जहां 2G का दौर था इसके बाद 3G आया जिसमें लोगों को अच्‍छा इंटरनेट मिला. 4G आने के बाद कई बदलाव हुए लोगों को हाई स्‍पीड इंटरनेट के साथ ऑनलाइन वीडियो कॉल सहित कई सुविधाएं मिलीं. अब आने वाला जमाना 5G का है. यहां G से सामान्य अर्थ Generation समझिए. हम भारतीय मोबाइल तकनीक के 4th Generation में जी रहे ​हैं. इसके आते ही आपकी जिंदगी में कई ऐसे बदलाव होंगे जिनपर आप विश्‍वास नहीं कर पाएंगे. आइए आपको बताते हैं कि 5G आने से आपको क्‍या-क्‍या फायदे होने वाले हैं.

जाने क्‍या है 5G?

5G यानी मोबाइल नेटवर्क की जेनरेशन. तेज नेटवर्क स्पीड, बिना रुकावट एचडी सर्फिंग, बेहतरीन सेवा…और भी बहुत कुछ. भारत सरकार ने 5G ट्रायल की अनुमति दे दी है और टेलीकॉम कंपनियों को जल्द ही इसके लिए स्पेक्ट्रम उपलब्ध करवाया जाएगा. एक कंपनी ने तो 5जी नेटवर्क की टेस्टिंग भी कर ली है.

5G सेलुलर सेवा की लेटेस्ट टेक्नोलॉजी है. इसे 4G नेटवर्क का अगला वर्जन कहा जा सकता है. इसमें यूजर्स को ज्यादा नेट स्पीड, कम लेटेंसी और ज्यादा फ्लेक्सिबिलिटी देखने को मिलेगी. अबतक की सेलुलर टेक्नोलॉजी कनेक्टिविटी पर फोकस किया करती थी, लेकिन 5G सेलुलर टेक्नोलॉजी एक कदम आगे बढ़ कर क्लाउड से क्लाइंट को सीधे कनेक्ट करेगा.

होने वाले हैं ये बदलाव

5G की इंटरनेट स्पीड 4G से काफी ज्यादा होगी. 4G की पीक स्पीड जहां 1 GBPS तक की है. वहीं, 5G की पीक स्पीड 20 GBPS यानी 20 जीबी प्रति सेकेंड तक की होगी. इससे कनेक्टिविटी भी काफी बेहतर होने वाली है. 5G टेक्नोलॉजी से हेल्थकेयर, वर्चुअल रियलिटी, क्लाउड गेमिंग के लिए नए रास्ते खुलेंगे. ड्राइवरलेस कार की संभावना इसके जरिये पूरी होगी.

देश में कब लॉन्च होगा 5G?

लोग 5G नेटवर्क लॉन्च होने का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं और ऐसा कब संभव होगा, इसे लेकर अभी बहुत साफ नहीं कहा जा सकता. कुछ कंपनी इस साल के आखिर में 5G लॉन्च की तैयारी कर रही है, जबकि कुछ का मानना है कि डोमेस्टिक टेलीकॉम मार्केट को 5G सेवाओं के लिए तैयार होने में 2 साल भी लग सकते हैं. केंद्र सरकार ने भारत में अभी तक 5G स्पेक्ट्रम की सेल भी शुरू नहीं की है.

5G नेटवर्क की टेस्टिंग करनेवाली कंपनी एक कंपनी ने दावा किया है कि वह 5G सेवा देने के लिए तैयार है, बशर्ते सरकार देश में 5G कनेक्टिविटी सर्विस की शुरुआत करे.

पर्सनल फाइनेंस पर ताजा अपडेट के लिए करें।