जानें आखिर नुकसान से फायदे की ओर कैसे बढ़ रही है मल्टीप्लैक्स इंडस्ट्री?

बीते लगभग दो साल (7 तिमाही) से PVR और Inox के शेयर घाटे में थे. सिनेमा के शौकीन लोगों के इस देश में 2020-21 में पहली बार ये कंपनियां घाटे में आई थीं.

  • Varun Kumar
  • Updated On - November 12, 2021 / 05:43 PM IST
जानें आखिर नुकसान से फायदे की ओर कैसे बढ़ रही है मल्टीप्लैक्स इंडस्ट्री?
शेयर बाजार के जानकारों को ये उम्मीद थी कि आज नहीं तो कल एक बार फिर से मल्टीप्लैक्स खुलेंगे और एक बार फिर पीवीआर, आईनॉक्स के शेयरों में तेजी आएगी.


 

मल्टीप्लैक्स इंडस्ट्री, आसान शब्दों में कहें तो सिनेमाघरों की चेन चलाने वाली कंपनियां जैसे पीवीआर (PVR) और आईनॉक्स (Inox). कोरोना से पहले तक ये मल्टीप्लैक्स, सिनेमाप्रेमियों की भीड़ से गुलजार रहते थे. जितनी भीड़, उतना मुनाफा. लेकिन बीते लगभग दो साल (7 तिमाही) से PVR और Inox के शेयर घाटे में थे. सिनेमा के शौकीन लोगों के इस देश में 2020-21 में पहली बार ये दोनों कंपनियां घाटे में आई थीं. लेकिन अब ये कंपनियां फायदे की ओर बढ़ रही हैं. चलिए इस पूरे मामले को समझते हैं 9 पॉइंट्स में-

1. फाइनेंशियल ईयर 2020 की चौथी तिमाही में PVR का घाटा 74 करोड़ और Inox का घाटा 82 करोड़ था. वहीं फाइनेंशियल ईयर 2021 की चौथी तिमाही में PVR का घाटा 289 करोड़ और Inox का घाटा 94 करोड़ तक पहुंच गया. फाइनेंशियल ईयर 2020 की चौथी तिमाही से लेकर फाइनेंशियल ईयर 2022 की दूसरी तिमाही तक PVR का कुल घाटा 1194 करोड़ और Inox का कुल घाटा 632 करोड़ तक पहुंच चुका था.

2. कोरोना के कारण सिनेमाघर लंबे समय तक बंद थे. भुज और बिगबुल जैसी बड़े स्टारकास्ट वाली फिल्में भी ओटीटी पर रिलीज की जा रही थीं. इन सबके बीच ऐसी चर्चा और बहस भी होने लगी थी कि अब ओटीटी ही भविष्य है और आने वाले समय में फिल्में सिनेमा की जगह ओटीटी पर ही रिलीज होंगी. मार्वल सिनेमैटिक यूनिवर्स की बिग बजट फिल्म ब्लैक विडो जब डिज्‍नी हॉटस्टार पर रिलीज हुई तब इस बहस ने और जोर पकड़ लिया.

3. शेयर बाजार के जानकारों को ये उम्मीद थी कि आज नहीं तो कल एक बार फिर से मल्टीप्लैक्स खुलेंगे और फिर PVR , Inox के शेयरों में तेजी आएगी. पिछले एक साल का ग्राफ देखें तो भी ये साफ हो जाता है कि बेशक दोनों के शेयर गिरे लेकिन उसके बाद भी लोग इन दोनों में पैसा लगाते रहे.

शेयर्स का रिटर्न

अवधि      PVR      Inox
1 हफ्ता      4%         5%
1 महीना     6%        8%
6 महीने     56%      63%
1 साल       46%      67%

4. बाजार के जानकारों का मानना था कि सिनेमाघर में जाना और बड़े पर्दे पर सिनेमा का आनंद लेना एक अलग ही अनुभव है. ओटीटी बेशक व्यक्तिगत अनुभव देता हो लेकिन बड़े पर्दे का अनुभव देने में नाकाम है. अधिकतर जानकारों का मानना था कि जैसे ही सिनेमाघर खुलेंगे वैसे ही भीड़ सिनेमा देखने आएगी और हुआ भी यही.

5. PVR  सिनेमा के चेयरमैन अजय बिजली ने भी बार-बार मीडिया में यही कहा था कि जैसे ही हालात सामान्य होंगे. लोग बड़े पर्दे पर फिल्में देखने के लिए वापस मल्टीप्लैक्स का रुख करेंगे.

6. सूर्यवंशी करीब एक साल से बन कर तैयार थी. लेकिन कोरोना के कारण रिलीज नहीं हो सकी. फिल्म के निर्देशक रोहित शेट्टी ने भी मन बना लिया था कि अगर वो फिल्म को रिलीज करेंगे तो केवल बड़े पर्दे पर. आखिर कोरोना प्रोटोकॉल के बीच सरकारों ने सिनेमाघर खोलने का फैसला किया और सूर्यवंशी उम्मीद के मुताबिक कमाई करने में कामयाब रही है.

7. अक्षय कुमार, अजय देवगन और रणवीर सिंह की मल्टीस्टारर फिल्म सूर्यवंशी ने बॉक्सऑफिस पर तगड़ी ओपनिंग की है. पहले ही वीकेंड पर फिल्म ने 80 करोड़ का कलेक्शन किया. पंजाबी और दक्षिण भारत की फिल्मों का कारोबार तो प्री कोविड स्टेज के भी पार जा चुका है. वहीं बॉलीवुड भी जोर पकड़ता दिख रहा है.

8. सूर्यवंशी के अलावा मार्वल की इटर्नल्स रिलीज हुई है जो काफी कमाई करती नजर आ रही है. यही नहीं आने वाले 6 महीनों में कई बड़ी फिल्में रिलीज होने वाली हैं जिनसे मल्टीप्लैक्स इंडस्ट्री का काफी उम्मीदें हैं. चाहे वो ‘बंटी और बबली’ का दूसरा पार्ट हो या फिर क्रिकेट पर बनी फिल्म ’83’. माना जा रहा है कि ये फिल्में अच्छा प्रदर्शन करेंगी.

9. कुछ जानकारों का मानना है कि कोरोना ने मल्टीप्लैक्स इंडस्ट्री को लंबा फायदा दिया है. सिंगल स्क्रीन थियेटर अब करीब-करीब बंद हो चुके हैं. ऐसे में मल्टीप्लैक्स इंडस्ट्री को इसका फायदा मिल सकता है.

पर्सनल फाइनेंस पर ताजा अपडेट के लिए करें।