कोविन वेबसाइट में हुआ बदलाव, अब कंपनियों को चलेगा पता क‍ि कर्मचारी ने वैक्सीन लिया है या नहीं

केंद्र सरकार ने कोविन वेबसाइट में कुछ बदलाव किए हैं. रेलवे से लेकर एयरलाइंस कंपनियों और होटल इंडस्ट्री को भी मिलेगा इस बदलाव का फायदा.

  • Money9 Hindi
  • Updated On - September 10, 2021 / 04:11 PM IST
कोविन वेबसाइट में हुआ बदलाव, अब कंपनियों को चलेगा पता क‍ि कर्मचारी ने वैक्सीन लिया है या नहीं
ट्रेन में बुकिंग करा चुके यात्रियों के वैक्सीनेशन के बारे में रेलवे भी पता कर सकेगी

कोरोना की वैक्सीन आने के बाद से इस महामारी से बचने के लिए कई पब्लिक प्लेस और ऑफिस में वैक्सीनेशन का सर्टिफिकेट मांगा जा रहा है. वहीं कई कंपनियां भी अपने कर्मचारियों से वैक्सीनेशन का सर्टिफिकेट मांग रही हैं. इसी दिशा में केंद्र सरकार ने अब कोविन वेबसाइट में कुछ बदलाव किए हैं. इस बदलाव के होने के बाद अब कंपनी इस बात की जांच कर सकेगी कि उनके कर्मचारी ने वैक्सीन ली है या नहीं.

इसी के साथ ट्रेन में बुकिंग करा चुके यात्रियों के वैक्सीनेशन के बारे में रेलवे भी पता कर सकेगी. वहीं एयरलाइंस को भी वैक्सीनेशन के बारे में पता चल जाएगा. एयरलाइंस को भी इस बात को जांचने में आसानी होगी की उनकी फ्लाइट में सफर कर रहे यात्रियों ने वैक्सीन ली है या नहीं. सरकार के वेबसाइट में बदलाव करने का फायदा होटल इंडस्ट्री के लोगों को भी मिलेगा.

कोविन ने एक नया API डेवलप किया है

शुक्रवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह जानकारी देते हुए बताया कि वैक्सीन की दोनों खुराक लेने के बाद लोगों को डिजिटल सर्टिफिकेट दिया जा रहा है जिसे वेबसाइट, फोन या फिर लैपटॉप में सेव किया जा सकता है लेकिन इन लोगों के वैक्सीनेशन की स्थिति को डिजिटल रूप से उन संस्थाओं तक पहुंचाने की जरूरत है जिनके पास वे कर्मचारियों, यात्री या फिर ग्राहक के रुप में पहुंच रहे हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय ने बयान जारी करते हुए बताया कि कोविन ने एक नया API डेवलप किया है जिसे ग्राहक या फिर कर्मचारी के वैक्सीनेशन की स्थिति को जानने में इस्तेमाल किया जा सकता है.

ऐसा पता चलेगी वैक्सीनेशन की डिटेल

इस API का यूज करने के लिए किसी व्यक्ति को अपना मोबाइल नंबर और नाम दर्ज करना होगा. इसके बाद उन्हें एक OTP मिलेगा. OTP डालने पर कोविन, व्यक्ति के वैक्सीनेशन की स्थिति को सर्टिफाइड करने वाली यूनिट को रिस्पॉन्स भेजेगी. यह रिस्पॉन्स इस प्रकार होगा.
0- व्यक्ति को टीका नहीं लगाया गया है.
1 – व्यक्ति को आंशिक रूप से टीका लगाया गया है.
2- व्यक्ति को पूरी तरह से टीका लगा है.
यह प्रोसेस डिजिटली साइन होगी. इसे KYC-VS का नाम दिया गया है.

 

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष