डाकघर की इन 9 स्कीम्स में मिलेगा रिटर्न और सेफ्टी, आंख बंद करके लगाएं पैसा

डाकघर की इन स्कीमों को सरकार की गारंटी हासिल है. इन SSS में मिलने वाला रिटर्न बैंकों के बचत इंस्ट्रूमेंट्स के मुकाबले कहीं ज्यादा है.

डाकघर की इन 9 स्कीम्स में मिलेगा रिटर्न और सेफ्टी, आंख बंद करके लगाएं पैसा
PTI

गुजरे कुछ वर्षों में छोटी बचत योजनाओं (small savings schemes – SSS) में ब्याज दरों में लगातार कटौती हुई है, लेकिन ये योजनाएं अभी भी करोड़ों भारतीयों की पहली पंसद बनी हुई हैं.

इनसे आपको महामारी जैसे मुश्किल वक्त में भी गारंटीड रिटर्न मिलता है. इन SSS में मिलने वाला रिटर्न बैंकों के बचत इंस्ट्रूमेंट्स के मुकाबले कहीं ज्यादा है.

इन सभी SSS को सरकार की गारंटी हासिल है. यहां हम ऐसी ही नौ योजनाओं के बारे में बताने जा रहे हैं जिन पर आपको बैंकों से बढ़िया रिटर्न मिलता है.

NSC

नेशनल सेविंग्स स्कीम (NSC) पोस्ट ऑफिस की सबसे बढ़िया और सुरक्षित निवेश स्कीमों में आती है. हालांकि, इसमें 5 साल का लॉक-इन है, लेकिन इस पर मिलने वाला ब्याज ज्यादातर बैंकों की FD (Fixed Deposits) से ऊंचा है.

फिलहाल NSC पर 6.8 फीसदी ब्याज मिल रहा है. इसके अलावा, इसमें आपको सेक्शन 80C के तहत टैक्स बेनेफिट भी मिलता है.

रेकरिंग डिपॉजिट (RD)

पोस्ट ऑफिस भी RD ऑफर करते हैं और इनमें 5 साल का टेन्योर होता है. डाकघर में इससे कम वक्त की RD आप नहीं खोल सकते हैं. इनमें 5.8% ब्याज दर मिलता है और इसकी तिमाही आधार पर कंपाउंडिंग होती है.

हालांकि, इनमें एक सीमा के बाद टैक्स लगता है. दूसरी ओर, आप बैंक में छह महीने की भी RD खोल सकते हैं.

सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम (SSS)

वरिष्ठ नागरिकों की इस बचत योजना में आपको 7.4 फीसदी सालाना का रिटर्न मिलता है. 60 साल से ऊपर का कोई भी शख्स इसमें अकाउंट खोल सकता है.

इसे संयुक्त रूप से भी खोला जा सकता है. इसमें भी आपको IT एक्ट के 80C के तहत टैक्स बेनेफिट मिलता है.

PPF

आप चाहे संगठित या असंगठित सेक्टर में काम करते हों, आप प्रॉविडेंट फंड (PPF) में खाता खुलवा सकते हैं. पोस्ट ऑफिस और बैंकों का ये सबसे बेहतरीन लॉन्ग-टर्म इनवेस्टमेंट साधन है.

PPF में 15 साल का लॉक-इन होता है और इसके बाद इसे 5 साल के स्लैब में बढ़ाया जा सकता है. ये पूरी तरह से टैक्स फ्री है और इस पर 7.1% ब्याज मिल रहा है. आप केवल एक ही PPF खाता खुलवा सकते हैं.

KVP

किसान विकास पत्र में जमा की गई रकम 131 महीनों में दोगुनी हो जाती है. इस पर 6.9% सालाना ब्याज मिल रहा है और इसकी सालाना आधार पर कंपाउंडिंग होती है.

सुरक्षित निवेश और बैंक से अच्छे ब्याज के लिहाज से ये एक बढ़िया स्कीम है. इसमें भी टैक्स बेनेफिट मिलता है.

5 साल की FD

बैंकों की तरह से ही पोस्ट ऑफिस भी 5 साल की अवधि वाले Fixed Deposits ऑफर करते हैं. इनमें फिलहाल 6.77% ब्याज मिल रहा है.

डाकघर की FD पर 6.7% ब्याज मिल रहा है जो कि ज्यादातर बैंकों से थोड़ा ज्यादा है. निजी सेक्टर के यस बैंक और इंडसइंड हालांकि, 5 साल की FD पर 6.7-6.75% ब्याज दर ऑफर कर रहे हैं.

दूसरी तरफ, सरकारी बैंकों में 5.3-5.6% ब्याज मिल रहा है.

MIS

डाकघर की इस स्कीम में आपको हर महीने 1,000 रुपये मिलते हैं. इंडीविजुअल खाते में आप इस स्कीम के तहत अधिकतम 4.5 लाख रुपये निवेश कर सकते हैं. संयुक्त खाते में ये रकम बढ़कर 9 लाख रुपये हो जाती है.

इसमें 6.6% ब्याज के साथ रेगुलर मासिक आमदनी मिलती है.

सुकन्या समृद्धि योजना

लोग अपनी बेटी के नाम पर सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) में खाता खोल सकते हैं. इसमे टैक्स भी बचता है और सालाना 7.6% की दर से ब्याज भी मिलता है.

इसमें हर वित्त वर्ष में न्यूनतम 250 रुपये डाल सकते हैं. इसकी अधिकतम सीमा 1.5 लाख रुपये है. इसे 21 साल बाद या बेटी की शादी के वक्त भुना सकते हैं.

सेविंग्स अकाउंट

बैंकों की तरह से ही पोस्ट ऑफिस भी सामान्य बचत खाते ऑफर करते हैं. इन पर 4 फीसदी ब्याज डाकघर देता है.

हालांकि, कोई भी बैंक 1 लाख रुपये से कम रकम पर 4 फीसदी इंटरेस्ट नहीं देता है.

पर्सनल फाइनेंस पर ताजा अपडेट के लिए करें।