क्या है Micro-SIP Schemes? हर महीने 100 रुपये से कर सकते हैं शुरुआत

माइक्रो SIP इंडिविजुअल्स, NRI, माइनर भी खोल सकते हैं. माइक्रो SIP के लिए HUF या दूसरी कैटिगरी के इंस्टीट्यूशनल इन्वेस्टर्स को छूट नहीं है.

  • Paurav Joshi
  • Publish Date - September 14, 2021 / 04:12 PM IST
क्या है Micro-SIP Schemes? हर महीने 100 रुपये से कर सकते हैं शुरुआत
माइक्रो SIP इंडिविजुअल्स, NRI, माइनर भी खोल सकते हैं. माइक्रो SIP के लिए HUF या दूसरी कैटिगरी के इंस्टीट्यूशनल इन्वेस्टर्स को छूट नहीं है.

हर कोई चाहता है कि वो अपनी इनकम का कुछ हिस्सा जमा करे या उसे निवेश कर दे. खास बात ये है कि अब निवेश करने के बाजार में कई तरीके आ गए हैं, जिससे आप आसानी से कम से कम रुपये भी निवेश कर सकते हैं. अगर आप चाहते हैं कि आप सिर्फ 100 रुपये निवेश करें तो आप ऐसा भी कर सकते हैं. इसके लिए आप माइक्रो-एसआईपी (Micro-SIP) का सहारा ले सकते हैं. बता दें कि सिर्फ 100 रुपये का एक छोटा सा निवेश भी आपको लंबे समय में लाखों रुपये दे सकता है.

क्या होती है माइक्रो SIP?

SIP का निवेश अगर सिर्फ 100 रुपए से शुरू किया जाए तो Micro SIP कहलाता है. म्यूचुअल फंड रेगुलेटर सिक्योरिटीज एक्सचेंज एंड बोर्ड ऑफ इंडिया (SEBI) ने माइक्रो-सिप (Micro SIP) में निवेश करने वालों के लिए KYC नियमों को आसान किया था. बिना PAN के भी इन्वेस्टर्स इसमें निवेश कर सकते हैं. दो शर्तों का पालन करना होगा है. साल में कोई 50,000 रुपए से ज्यादा का निवेश नहीं कर रहा हो और नाम-पते के साथ पहचान पत्र देना होगा.

कितना हो सकता है फायदा?

अगर आप 100 रुपये का हर महीने एसआईपी करते हैं तो एक साल में आप 1200 रुपये जमा करेंगे. इसी को देखें तो आने वाले 20 सालों में ये धनराशि 24000 रुपये तक होगी. अब अगर आप प्रति वर्ष इस धनराशि पर 12 प्रतिशत तक का रिटर्न मानते हैं तो ये राशि 98925 रुपये हो जाएगी. ऐसे में देखें तो 30 साल के बाद ये करीब 3.5 लाख रुपये होगी. वहीं इसी को अगर आप 50 साल में देखें तो ये 39 लाख रुपये होगी.

कौन से डॉक्युमेंट है जरूरी

माइक्रो SIP के लिए पैन या KYC (Know your customer) डॉक्युमेंटेशन की जरूरत नहीं पड़ती. हालांकि, आपके पास फोटो आइडेंटिफिकेशन डॉक्युमेंट की फोटोकॉपी, वोटर आईडी या ड्राइविंग लाइसेंस होना चाहिए. इनके वेरिफिकेशन के लिए ओरिजिनल डॉक्युमेंट्स भी दिखाने पड़ते हैं. छोटू SIP के लिए जरूरी डॉक्युमेंट्स की जानकारी एसेट मैनेजमेंट कंपनियों से हासिल की जा सकती है.

कौन कर सकता है निवेश

माइक्रो SIP इंडिविजुअल्स, NRI, माइनर भी खोल सकते हैं. माइक्रो SIP के लिए HUF या दूसरी कैटिगरी के इंस्टीट्यूशनल इन्वेस्टर्स को छूट नहीं है.

नहीं कर सकते एकमुश्त निवेश

माइक्रो SIP में एकमुश्त निवेश के लिए छूट नहीं मिलती है. एक फाइनेंशियल ईयर में 50,000 से कम होने पर भी एकमुश्त निवेश लागू नहीं होता. यह सिर्फ SIP के लिए है और इसके तहत कुल रकम एक फाइनेंशियल ईयर में 50,000 से ज्यादा नहीं होनी चाहिए. एक से ज्यादा माइक्रो SIP भी शुरू की जा सकती हैं. अगर माइक्रो SIP एसआईपी के डॉक्युमेंट्स गलत या अधूरे मिलते हैं तो निवेशक को डिफिशिएंसी मेमो मिलेगा और SIP एप्लिकेशन रद्द हो जाएगी.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष