म्यूचुअल फंड का आकर्षण, सितंबर में रिकॉर्ड 2.68 मिलियन नए SIP खाते खुले

SIP: सितंबर में एसआईपी के जरिये 10,351.3 करोड़ का शुद्ध निवेश हुआ है वहीं मार्च 2020 में एसआईपी में 8641 करोड़ रुपए का निवेश आया था.

  • Money9 Hindi
  • Publish Date - October 12, 2021 / 02:26 PM IST
म्यूचुअल फंड का आकर्षण, सितंबर में रिकॉर्ड 2.68 मिलियन नए SIP खाते खुले
एएमएफआई के मुताबिक, इक्विटी-लिंक्ड फंड से लगभग 90% एसआईपी खाते जुड़े होते हैं. इसका मतलब है कि एसआईपी प्रवाह के माध्यम से लगभग 50,807 करोड़ ने इक्विटी बाजार में प्रवेश किया है. 

SIP: कोरोना काल के चैलेंज के बावजूद निवेशकों के बीच म्यूचुअल फंड का आकर्षण कायम है. लोगों का रुझान तेजी से म्यूचुअल फंड में निवेश की ओर तेजी से बढ़ता जा रहा है. म्यूचुअल फंड के सिस्टमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) का पंजीकरण तेज गति से बढ़ रहा है, जिससे शेयर बाजार में भी तेजी देखी जा रही है. एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (एएमएफआई) के आंकड़ों के अनुसार, सितंबर 2021 में नए एसआईपी खाता का पंजीकरण रिकॉर्ड स्तर पर रहा. सितंबर में रिकॉर्ड 2.68 मिलियन (26.8 लाख) नए एसआईपी खाते खुले हैं, जो औसत से लगभग 2.5 गुना अधिक हैं.

SIP निवेश 10 हजार करोड़ रुपए के पार 

AMFI के मुताबिक, सितंबर में एसआईपी के जरिये 10,351.3 करोड़ का शुद्ध निवेश हुआ है वहीं मार्च 2020 में एसआईपी में 8641 करोड़ रुपए का निवेश आया था.

उसी माह कोरोना से बचने के लिए सरकार ने लॉकडाउन लगाया गया था. तब से अब तक लगभग 20 फीसदी के बढ़ोतरी दर्ज की गई है.

इकोनॉमिक टाइम्स में छपी एक खबर के मुताबिक एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (एएमएफआई) के सीईओ एन एस वेंकटेश ने बताया कि एसआईपी में रिकॉर्ड प्रवाह के कारण एयूएम (ऐसेट्स अंडर मैनेजमेंट) में बढ़ोतरी हुई.

एसआईपी में निवेश पिछले पांच वर्षों में वार्षिक आधार पर 22.8% की दर से बढ़ा है. इससे लगता है कि लोगों का भरोसा अब म्यूचुअल फंड में निवेश पर कायम है.

SIP खातों में निवेश के लिए टिकट का शुल्क हुआ कम 

बता दें कि कुछ दिनों पहले ही एसआईपी खातों में निवेश के लिए टिकट का शुल्क औसत 2,305 रुपए था, जिसे अब कम कर दिया गया है.

दरअसल अब नए एसआईपी पंजीकरण टिकट को डिजिटल प्लेटफॉर्म द्वारा भी लिया जा सकता है जहां नए निवेशकों के लिए टिकट का शुल्क 500 से कम हो गया है.

बाजार की तेजी लोगों को कर रही आकर्षित 

एएमएफआई के मुताबिक, इक्विटी-लिंक्ड फंड से लगभग 90% एसआईपी खाते जुड़े होते हैं. इसका मतलब है कि एसआईपी प्रवाह के माध्यम से लगभग 50,807 करोड़ ने इक्विटी बाजार में प्रवेश किया है.

म्यूचु्अल फंड्स से जुड़े जानकारों के मुताबिक शेयर बाजार में उछाल ही लोगों को इक्विटी फंड की ओर आकर्षित कर रहा है.

पहली बार सितंबर में सेंसेक्स ने 60,000 का स्तर छुआ था और इस तेजी के साथ ही निवेशकों का रुझान म्यूचुअल फंड में  निवेश की ओर बढ़ा. अगर बाजार में तेजी इसी तरह बनी रही तो आगामी महीनों में एक नया रिकॉर्ड दर्ज होगा.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष