बहुत अच्छी दिखने वाली फाइनेंशियल स्कीम्स से रहें दूर, नहीं तो पड़ेगा पछताना

सीनियर सिटीजन को वित्तीय धोखेबाजों से ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है. उन्‍हें अपना पैसा किसी भी अज्ञात साधनों में लगाने से बचना चाहिए.

  • Money9 Hindi
  • Publish Date - October 17, 2021 / 11:24 AM IST
बहुत अच्छी दिखने वाली फाइनेंशियल स्कीम्स से रहें दूर, नहीं तो पड़ेगा पछताना
भोले भाले सीनियर सिटीजन को ठगने के लिए जालसाज नए-नए तरीके अपना रहे हैं.

financial schemes: अखबार के कोने में कई बार खबर दिखाई देती है कि सीनियर सिटीजन को उनके रिटायरमेंट फंड पर बेहतर रिटर्न देने का वादा कर धोखेबाजों द्वारा ठगा गया. निवेश के लोकप्रिय साधनों जैसे फिक्स डिपॉजिट या फिर अन्य छोटी बचत योजना की बढ़ती कीमतों और उन पर मिलने वाले कम रिटर्न से परेशान सीनियर सिटीजन को अन्य प्रोडक्ट में बेहतर रिटर्न की तलाश करने के लिए मजबूर किया गया है.

मास मीडिया में BFSI सेक्टर द्वारा आक्रामक मार्केटिंग कैंपेन ने भी निवेश के नए ऑप्शन को आजमाने के लिए सीनियर सिटीजन को प्रभावित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है. लेकिन रिटायरमेंट फंड के एक बड़े हिस्से को आपराधिक तत्वों द्वारा ठगे जाने से दुखी होने के बजाय कम खर्चे वाला जीवन जीना बेहतर है.

भोले भाले सीनियर सिटीजन को ठगने के लिए जालसाज नए-नए तरीके अपना रहे हैं. डिजिटल जागरूकता की कमी और ज्यादा रिटर्न का लालच उन्हें बेहद कमजोर बनाता है. जैसे-जैसे ट्रेडिशनल सेविंग स्कीम्स, निवेश के आधुनिक विकल्पों के कारण अपनी जमीन खोती जा रही हैं, वैसे वैसे जालसाज लोगों को ठगने के लिए तैयार हो रहे हैं.

सीनियर सिटीजन को सही दिखने और बहुत अच्छी लगने वाली इन फाइनेंशियल स्कीम्स से दूर रहना चाहिए. उन्हें मित्रों और रिश्तेदारों से मिलने वाली अवांछित सलाह और बहकावे में नहीं आना चाहिए, जो रिटायरमेंट के बाद अक्सर उन्हें दी जाने लगती है. किसी भी विशेष स्कीम में निवेश करने से पहले आपको अपने जीवनसाथी और बच्चों के साथ चर्चा करनी चाहिए. ढलते जीवन को गलत निवेश निर्णय में बर्बाद नहीं किया जाना चाहिए. अपने पैसों को अज्ञात साधनों में लगाने का निर्णय लेने से पहले एक्सपर्ट की सलाह जरूर लेनी चाहिए.

पुलिस, बैंक और वित्तीय संस्थान आम लोगों को सुरक्षित वित्तीय लेनदेन के बारे में शिक्षित करने और संभावित धोखाधड़ी के प्रयासों और साइबर हमलों पर नजर रखने के बारें में लगातार बता रहे हैं. एक क्षेत्र का समानांतर उपयोग करने के लिए, बुजुर्गों को विशेष रूप से साइबर हमले से उतना ही सावधान रहना चाहिए जितना कि कोरोना वायरस से संक्रमित होने से रहते हैं. डिस्टेंसिंग और सेफ्टी प्रोटोकॉल की तरह ट्रांजैक्शन सेफ्टी भी बनाए रखें. अफसोस करने से बेहतर है सुरक्षित रहना.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष