टारगेट मैच्योरिटी फंड ब्याज दर में उतार-चढ़ाव को मात देने में कर सकते मदद

Maturity Fund: ब्याज दर में अनिश्चितता के कारण निश्चित आय वाले इन्वेस्टर्स के लिए फायदेमंद हो सकता है टारगेट मैच्योरिटी फंड.

  • Money9 Hindi
  • Publish Date - September 21, 2021 / 04:10 PM IST
टारगेट मैच्योरिटी फंड ब्याज दर में उतार-चढ़ाव को मात देने में कर सकते मदद
5 से 6 साल के लॉन्ग मैच्योरिटी बॉन्ड में निवेश करके, निवेशक शॉर्ट टर्म बॉन्ड की तुलना में 150 से 200 बेसिस पॉइंट ज्यादा कमा सकते हैं. जैसे-जैसे यील्ड बढ़ती है, वे लॉन्ग टर्म की तुलना में शॉर्ट टर्म मैच्योरिटी सेगमेंट में तेजी से बढ़ेंगे.

Maturity Fund: निवेश सलाहकारों के मुताबिक निश्चित आय वाले इन्वेस्टर्स ब्याज दरों में उतार-चढ़ाव से घबराए हुए हैं, इसलिए उनका रुझान अब कम जोखिम वाले म्यूचुअल फंड के अनुमानित टारगेट रिटर्न की तरफ बढ़ रहा है. कम जोखिम वाले म्यूचुअल फंड श्रेणी निष्क्रिय रूप से समान परिपक्वता वाले बॉन्ड में निवेश करती है जो फंड का बेंचमार्क इंडेक्स बनाते हैं. फंड की परिपक्वता पर, निवेशकों को उनकी निवेश आय वापस कर दी जाती है.

टारगेट मैच्योरिटी फंड में क्रेडिट रिस्क कम

वित्तीय योजनाकारों (Financial planners) के मुताबिक टारगेट मैच्योरिटी फंड में सरकारी सिक्योरिटीज, पीएसयू बॉन्ड और राज्य विकास ऋण (एसडीएल) शामिल हैं. इन पेपर्स में क्रेडिट रिस्क कम होता है.

मनी मंत्रा के संस्थापक विरल भट्ट ने कहा कि ये उत्पाद उन निवेशकों के लिए एक अच्छे विकल्प के रूप में काम करते हैं, जिनके पास बैंक की फिक्स्ड डिपॉजिट से अधिक कमाई करने के लिए पांच साल से अधिक का समय है.

जहां एक बैंक के साथ एक फिक्स्ड डिपॉजिट पांच साल के लिए 5.0 से 5.5 फीसद की पेशकश करता है, निवेशक लगभग छह साल के कार्यकाल के साथ टारगेट मैच्योरिटी फंड से लगभग 5.9 से 6.3 फीसद कमा सकते हैं.

लॉन्ग मैच्योरिटी बॉन्ड में फायदा ज्यादा

5 से 6 साल के लॉन्ग मैच्योरिटी बॉन्ड में निवेश करके, निवेशक शॉर्ट टर्म बॉन्ड की तुलना में 150 से 200 बेसिस पॉइंट ज्यादा कमा सकते हैं. जैसे-जैसे यील्ड बढ़ती है, वे लॉन्ग टर्म की तुलना में शॉर्ट टर्म मैच्योरिटी सेगमेंट में तेजी से बढ़ेंगे.

एडलवाइस एएमसी (Edelweiss AMC) के प्रमुख निरंजन अवस्थी ने कहा कि लंबी अवधि के बॉन्ड पर एटीएम (मार्क टू मार्केट) प्रभाव को कुछ हद तक कम होता है.

ऐसे टारगेट मैच्योरिटी फंड में निवेशक अगले 5 से 6 साल में 5.9 फीसद और 6.3 फीसद के बीच कमा सकते हैं.

टारगेट मैच्योरिटी फंड निवेशक को लाभ

कुछ वित्तीय योजनाकारों का मानना है कि बेहतर टारगेट के लिए योजना बना रहे निवेशकों के लिए टारगेट मैच्योरिटी फंड (उत्पाद) सबसे उपयुक्त है.

fisdom के शोध प्रमुख नीरव करकरा ने कहा कि टारगेट मैच्योरिटी फंड उन निवेशकों के लिए अच्छा काम करते हैं, जिनका लक्ष्य फंड की मैच्योरिटी से मेल खाता है या मैच्योरिटी से थोड़ा पहले समाप्त होता है.

इन योजनाओं को तीन साल से अधिक समय तक रखने वाले निवेशकों को इंडेक्सेशन का भी लाभ मिलता है.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष