Financial Planning से जुड़ी ये जानकारियां जरूर पता होनी चाहिए

Financial Planning: बड़ी संख्या में लोगों ने फाइनेंशियल प्लानिंग में निवेश किया है लेकिन अपनी अचानक प्लानिंग को नजर अंदाज करते हुए.

  • Viral Bhatt
  • Publish Date - October 3, 2021 / 01:19 PM IST
Financial Planning से जुड़ी ये जानकारियां जरूर पता होनी चाहिए
यह संभव है कि यदि लॉन्ग टर्म इनवेस्टमेंट जल्दी वापस ले लिया जाए तो पर्याप्त रिटर्न नहीं दे सकता है. पूंजी के नुकसान की भी आशंका रहती है. ऐसे में बनाई गई सभी फाइनेंशियल प्लानिंग बेकार हैं.

Financial Planning: एक अच्छी फाइनेंशियल प्लानिंग (Financial Planning) में निम्नलिखित चीजें शामिल होनी चाहिए – अचानक प्लानिंग, रिस्क प्लानिंग, रिटायरमेंट प्लानिंग, टैक्स प्लानिंग, निवेश और सेविंग ऑप्शन, प्रॉपर्टी प्लानिंग और कैश फ्लो की प्लानिंग. किसी व्यक्ति को फाइनेंशियल प्लानिंग के साथ आगे बढ़ने से पहले अपनी संपत्ति की स्थिति की भी पहचान करनी चाहिए.

अचानक बनाई योजना

अचानक का अर्थ है कोई भी अप्रत्याशित घटना जो भविष्य में घटित हो भी सकती है और नहीं भी हो सकती है. अचानक योजना फाइनेंशियल प्लानिंग बेसिक और पहला कदम है.

यह पाया गया कि बड़ी संख्या में लोगों ने फाइनेंशियल प्लानिंग में निवेश किया है लेकिन अपनी अचानक प्लानिंग को नजर अंदाज करते हुए.

इस बात की बहुत संभावनाएं हैं कि बीमारी, चोट या परिवार के किसी सदस्य की देखभाल के लिए काफी पैसों की जरूरत होती है.

इसके अलावा, यह बेहद जरूरी नहीं है कि अगली नौकरी जल्द से जल्द मिल पाएगी. ये अस्थाई स्थिति है और एक छोटे चरण के लिए रहता है लेकिन इसे नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है.

यदि व्यक्ति ने अचानक आने वाली समस्याओं के लिए योजना नहीं बनाई है तो वह ऐसे संकटों के लिए लॉन्ग टर्म निवेश का इस्तेमाल करता है.

यह संभव है कि यदि लॉन्ग टर्म इनवेस्टमेंट जल्दी वापस ले लिया जाए तो पर्याप्त रिटर्न नहीं दे सकता है. पूंजी के नुकसान की भी आशंका रहती है. ऐसे में बनाई गई सभी फाइनेंशियल प्लानिंग बेकार हैं.

लॉन्ग टर्म प्लानिंग के साथ, व्यक्ति को फाइनेंशियल टारगेट को वास्तव में प्राप्त करने के लिए वर्तमान स्थिति का भी ध्यान रखना होगा.

यह एक नियम है कि अचानक आई समस्या को निपटाने के लिए किसी के भी पास मासिक वेतन का 3 गुना कैश रूप में होना चाहिए.

रिस्क प्लानिंग

प्रत्येक व्यक्ति को कुछ प्रकार के जोखिम का सामना करना पड़ता है चाहे वह पर्सनल प्रॉपर्टी के नुकसान के कारण हो, बीमारी या विकलांगता के कारण वेतन की कमी; या मृत्यु के कारण भी.

इस तरह के जोखिमों का निर्धारण नहीं किया जा सकता है लेकिन घटना होने पर व्यक्ति या उनके परिवार को फाइनेंशियल नुकसान हो सकता है. उचित पर्सनल प्लानिंगमें निश्चित रूप से इंश्योरेंस शामिल होना चाहिए.

पर्सनल फाइनेंशियल प्लानिंग की भूमिका का एक मुख्य क्षेत्र यह सुनिश्चित करना है कि किसी अप्रत्याशित और दुर्भाग्यपूर्ण घटना में जीने की क्षमता हो.

मूल रूप से, जब कोई दुर्घटना, दिव्यांगता या बीमारी जैसी समस्याएं आती हैं, तो इंश्योरेंस आवश्यक राशि प्रदान करने के लिए एक सिक्योरिटी देता है.

इंश्योरेंस का एक मुख्य योगदान यह है कि यह मन की शांति प्रदान करने में मदद करता है, यह जानते हुए कि किसी भी खराब हालात में पैसा मौजूद है. मन की यह शांति व्यक्ति को आगे बढ़ने के लिए ऊर्जा और आत्मविश्वास के साथ छोड़ देती है.

लाइफ रिस्क

प्रत्येक व्यक्ति को जीवन का खतरा होता है लेकिन जो निश्चित नहीं है वह मृत्यु का समय है. हर कोई जीवन जोखिम से ग्रस्त है, लेकिन जोखिम की डिग्री अलग अलग हो सकती है.

फाइनेंशियल प्लानिंग के संदर्भ में, लाइफ रिस्क को कवर करने का अर्थ है उचित लाइफ इंश्योरेंस बीमा प्लानिंग के जरिए व्यक्ति के जीवन का बीमा करना.

यह बेहद जरूरी है कि प्रत्येक व्यक्ति, विशेष रूप से कमाने वाला, अपने जीवन के जोखिमों को कवर करता है, ताकि किसी दुर्भाग्यपूर्ण घटना के मामले में उसके परिवार के लाइफ स्टाइल में भारी परिवर्तन न हो.

बीमा कंपनियों द्वारा दी जाने वाली अलग अलग प्लान हैं जो किसी व्यक्ति की आवश्यकताओं के अनुरूप हो सकती हैं.

हेल्थ रिस्क

भारतीयों का जीवनकाल आजकल बढ़ गया है, और वरिष्ठ नागरिक उम्र बढ़ने के साथ स्वास्थ और सक्रिय रहने का प्रयास करते हैं. हालांकि, जैसे-जैसे व्यक्ति बूढ़ा होता जाता है, व्यापक स्वास्थ्य देखभाल की आवश्यकता होती है.

स्वास्थ्य बीमा एक बीमा पॉलिसी है जो किसी भी मेडिकल खर्च से व्यक्ति को बचाने का काम करती हैं. इंश्योरेंस कंपनी द्वारा इंश्योर्ड मेडिकल खर्च का ध्यान रखा जाएगा बशर्ते व्यक्ति लगातार अपने प्रीमियम का भुगतान करता हो.

ये कवर क्रमशः 30 दिनों और 60 दिनों की अवधि के लिए प्री-अस्पताल में भर्ती होने और अस्पताल में भर्ती होने के बाद तक आपको सेवाएं देता है. घरेलू अस्पताल में भर्ती भी कवर किया गया है.

प्रॉपर्टी कवरेज

प्रॉपर्टी कवरेज पर्सनल प्रॉपर्टी को नुकसान, खतरा या चोरी से सुरक्षा देता है. प्रॉपर्टी कवरेज, जिसे होम ऑनर इंश्योरेंस के रूप में भी जाना जाता है, घर को होने वाली डायरेक्ट फिजिकल नुकसान से सुरक्षा प्रदान करता है, जिसमें कमरे, फायरप्लेस, कारपेटिंग, टाइल फर्श और सजावट के सामान शामिल हैं.

इंफ्रास्ट्रक्चर, जो एक ही नींव पर इंश्योर्ड घर से जुड़ी होती हैं, जैसे कि गैरेज भी होम ऑनर इंश्योरेंस के इस सेगमेंट के तहत कवरेज के लिए उत्तरदायी हैं. इसके अलावा, पॉलिसी के इस खंड में घर के पुनर्निर्माण या मरम्मत के लिए आवश्यक सामग्री और आपूर्ति शामिल हैं.

टैक्स प्लानिंग

टैक्स प्लानिंग वह है जो हर कमाई करने वाला टैक्स बचाने के लिए प्लानिंग करता है. एक अच्छी प्लानिंग वह है जो देश के इनकम टैक्स कानूनों द्वारा दिए जाने वाले अलग अलग इनसेंटिव का लाभ उठाती है.

फाइनेंशियल प्लानिंग का उद्देश्य अलग अलग माध्यमों से ज्यादा से ज्यादा लाभ प्राप्त करना होना चाहिए. यह याद रखना चाहिए कि टैक्स प्लानिंग एक हिस्सा है न कि फाइनेंशियल प्लानिंग का.

एक अच्छी फाइनेंशियल प्लानिंग का पहला उद्देश्य संपत्ति को अधिकतम करना है, न कि टैक्सपेयर्स पर दवाब डालना है.

इनकम टैक्स (आईटी) एक्ट के ज्ञान के साथ, कोई भी टैक्स को कम कर सकता है. यह यह तय करने में भी मदद करता है कि कहां निवेश करना है और अलग अलग दरों के तहत कटौती का दावा करना है. अर्जित आय सरकार द्वारा इनकम टैक्स के तहत आती हैं.

अलग अलग कमाई के स्तरों के लिए आयकर की दर अलग-अलग होती है, और इस प्रकार, टैक्स किसी दिए गए साल में मिली कुल आय पर निर्भर करता है.

रिटायरमेंट प्लानिंग

एक रिटायरमेंट प्लान एक आश्वासन है कि एक व्यक्ति एक संतोषजनक आय अर्जित करना जारी रखेगा और एक बेहतर लाइफ स्टाइल का आनंद लेगा, तब भी जब वे काम नहीं कर रहे हों.

बेहतर रहने की स्थिति और बेहतर मेडिकल सर्विसेज तक पहुंच के कारण लोगों की जीवन प्रत्याशा बढ़ रही है. हालात ऐसे हो गए हैं, जहां लोग रिटायरमेंट में लगभग उतने ही ,साल बिताएंगे जितने उन्होंने अपने एक्टिव कामकाजी जीवन के दौरान बिताए हैं.

इस प्रकार, यह सुनिश्चित करना जरूरी हो गया है कि जीवन के बेहतर साल यानि रिटायरमेंट का वक्त फाइनेंशियल चिंताओं में व्यतीत न हों. एक बेहतर रिटायरमेंट प्लान, काफी हद तक, यह तय करता है.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष