फाइनेंशियल प्‍लानिंग में इन बातों का जरूर रखें ध्‍यान, रहेंगे फायदे में

Financial Planning: सर्टिफाइड फाईनेंशियल प्लानर विशाल शाह कहते हैं, “आपका मूड कैसा भी हो उसके आधार पर निर्णय न लें.

  • Money9 Hindi
  • Publish Date - September 10, 2021 / 05:15 PM IST
फाइनेंशियल प्‍लानिंग में इन बातों का जरूर रखें ध्‍यान, रहेंगे फायदे में
टर्म इंश्योरेंस खरीदते समय सीनियर सिटीजन से प्री-पॉलिसी मेडिकल टेस्ट के लिए कहा जा सकता है या उन्हें हेल्थ डिक्लेयरेशन देना होगा. टर्म इंश्योरेंस खरीदते समय अपनी किसी भी मेडिकल कंडीशन को न छिपाएं.

Financial Planning: फाइनेंशियल प्लानिंग करते समय कई पॉइंट्स ध्यान में रखना जरूरी है. जानकारों का कहना है कि आपको सबसे पहले अपनी फाइनेंशियल हेल्थ का पता होना चाहिए. इसमें आयखर्च रेशियोबजटपरिवार की बेसिक जरूरतें आदि जानकारियां आती हैंइनके आधार पर ही सही आप एक सही फाइनेंशियल प्लानिंग कर सकते हैं. यहां हम आपको ऐसे ही कुछ पॉइंट्स के बारे में बताने जा रहे हैंः

 

मूड के हिसाब से निर्णय न लें

सर्टिफाइड फाईनेंशियल प्लानर विशाल शाह कहते हैं, “आपका मूड कैसा भी हो उसके आधार पर निर्णय न लेंअपनी रिस्ककैपेसिटी पता करें और फिर निवेश करें.”

50/30/20 ूलः

इस रूल को याद रखें. मान लीजिए कि आपकी कुल आय 10,000 रुपये है तो उसका 50% (5,000 रुपये) अपनी आवश्यकताओं के लिए रखें, 30% (3,000 रुपये) इच्छाएंलग्जरी और जीवनशैली के खर्चों के लिए रखें और 20% (2,000 रुपये) बचत और निवेश पर लगाएं.

कंपाउंडिंग की शक्ति को पहचानिए

मान लिजिएआप हर महीने 10,000 रुपये निवेश करते हैं और उस पर 12 फीसदी सालाना रिटर्न मिलता है तो 10 साल बाद आपको निवेश पर 11.23 लाख, 15 साल बाद 32.45 लाख और 20 साल बाद 75.91 लाख रुपये मिलेंगेयानी जितना लंबा समय देंगे उतना ज्यादा फायदा मिलेगा और यही है पावर ऑफ कंपाउडिंग.

इमरजेंसी फंड

नौकरी चली जाए, बिजनेस बंद हो जाए या आपको अस्पताल में भर्ती होना पडे तो ऐसे वक्त इमरजेंसी फंड ही आपके काम आता है. 6-12 महीनों की बेसिक जरूरतों को पूरा कर सके इतना इमरजेंसी फंड तो होना ही चाहिए.

क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल कम करें

क्रेडिट कार्ड का दुरुपयोग करने से आपके ऊपर एक अच्छा खासा कर्ज चढ़ सकता है क्योंकि क्रेडिट कार्ड कंपनियां कुल बकाया राशि पर भारी जुर्माना और ब्याज चार्ज करती हैंहो सके तो अपनी कुल उपलब्ध क्रेडिट लिमिट का 30% से ज्यादा काम मे नहीं लेने की कोशिश करें.

कर लाभ आपके सबसे अच्छे दोस्त हैं

टैक्स भुगतान में आपकी कमाई का एक बहुत बड़ा हिस्सा जा सकता हैइसीलिए आपको इनकम टैक्स एक्ट द्वारा दिए जाने वाले बहुत से टैक्स लाभ का पूरा उपयोग करना ही चाहिए.

रिटायरमेंट को ध्यान में रखें

रिटायरमेंट के लिए जितनी जल्दी बचत शुरू करें उतना अच्छा हैअगर आप PPF, NPS और पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम जैसी सरकारी योजनाओं के जरिए रिटायरमेंट के लिए सेविंग्स करते हैं तो आपको 1,50,000 रुपये तक का कर लाभ मिलता है.

टर्म प्लान और हेल्थ प्लान

आपका परिवार आर्थिक रूप से स्थिर रहे उसके लिए जीवन बीमा और आरोग्य बीमा लेना बहुत जरूरी हैआपके असामयिक निधन की स्थिति में लाइफ इंश्योरेंस योजनाएं आपके परिवार के बहुत काम में आती हैंयह आपके परिवार को इनकम का स्रोत प्रदान करती ही हैं.

यदि आपको किसी कारण अस्पताल में भर्ती होना पड़े या गंभीर बीमारी के कारण घर पर बैठना पड़े तो ऐसे वक्त में हेल्थ पॉलिसी आपको और परिवार को फाइनेंशियल सुरक्षा कवच देगी.

कर्ज से जल्द छुटकारा पाएं

लोन और दूसरे कर्ज बहुत ज्यादा ब्याज दर वाले होते हैंयह बहुत ही जल्दी और तेजी से आपकी इनकम और सेविंग्स पर बुरा प्रभाव डाल सकते हैं, इसलिए इनसे जितनी जल्दी हो सके छुटकारा पाएं.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष