जानिए क्यों करियर शुरू करते ही डेट फंड में निवेश करना चाहिए

Debt Fund: डेट फंड से शुरुआत करना अच्छा होगा. और इसके जरिए आप अपने खर्च और सेविंग की आदतों के बारे में जान पाएंगे.

  • Money9 Hindi
  • Publish Date - October 21, 2021 / 05:22 PM IST
जानिए क्यों करियर शुरू करते ही डेट फंड में निवेश करना चाहिए
image: pixabay, डेट म्यूचुअल फंड अचानक आए मुश्किल समय में इमरजेंसी फंड उपलब्ध कराता है. युवा पैसे बचाने के बजाय खर्च करना चाहते हैं. इस वजह से इमरजेंसी फंड बनाना मुश्किल है. ऐसे में जब मुश्किल समय आता है तो डेट फंड आपके लिए सेविंग अकाउंट के रूप में काम करेगा.

Debt Fund: शहरों के ज्यादातर यंग प्रोफेशनल्स को जिन्होंने हाल ही मे अपना करियर शुरू किया है उन्हें एक अच्छे भविष्य के लिए पार्टी से ज्यादा कड़ी मेहनत पर फोकस करना चाहिए. शुरुआत में सैलरी अक्सर मामूली होती है और जब आप बड़े शहरों में रहते हैं तो खर्च करने के लिए इतनी सारी चीजें होती हैं कि पैसे बचाना एक बड़ा चैलेंज बन जाता है. यंग लोगों के
पास जो लिमिटेड सेविंग होती है उसे कहां रखा जाए, यह चुनना भी उनके लिए मुश्किल हो सकता है. इस शॉर्ट टर्म
कॉर्पस को हाई वोलैटिलिटी / हाई रिस्क वाले इन्वेस्टमेंट, जैसे स्टॉक में इनवेस्ट करना संभव नहीं है. ऐसे में अपने
करियर की शुरुआत करने वाले यंग प्रोफेशनल्स के लिए डेट फंड में निवेश एक अच्छा तरीका हो सकता है. जानिए क्यों.

अनियमित निवेश

फैंसी फोन और कपड़ों के साथ यदि आप अपना करियर शुरू कर रहे हैं, तो आपके पास पैसे सेव करने के लिए ज्यादा
कुछ नहीं बचेगा इसलिए आपका निवेश कितना रेगुलर होगा ये नहीं कहा जा सकता.

ऐसे में डेट फंड से शुरुआत करना अच्छा होगा. और इसके जरिए आप अपने खर्च और सेविंग की आदतों के बारे में जान
पाएंगे.

लिक्विडिटी का फायदा

डेट म्यूचुअल फंडों के लिए लिक्विडिटी सबसे स्ट्रांग पॉइंट है. चूंकि फंड किसी भी समय विड्रॉल की परमीशन देता है, यह
एक ऐसा इन्वेस्टमेंट ऑप्शन है जिसे इंडिविजुअल इन्वेस्टर की जरूरतों के हिसाब से बनाया जा सकता है.

आप कॉलेज के लिए पैसे भरने, बिजनेस शुरू करने या शादी का अरेंजमेंट करने के लिए इस पैसे का इस्तेमाल कर सकते
हैं. कुछ डेट फंड जैसे शॉर्ट टर्म ड्यूरेशन फंड और लॉन्ग टर्म और मीडियम टर्म ड्यूरेशन फंड में पांच महीने से एक साल
का टेन्योर होता है.

ग्रोथ

सेविंग अकाउंट, लिक्विडिटी ऑफर करते हुए, बहुत कम ब्याज (सालाना 4%) का भुगतान करते हैं. वहीं लिक्विडिटी
प्रोवाइड करने के अलावा, डेट म्यूचुअल फंड तीन साल से अधिक समय तक रखने पर लगभग 8% का कम रिस्क वाला
रिटर्न भी देता है.

इसके अलावा, अगर यह निवेश तीन साल से अधिक समय तक रखा जाता है, तो यह इंडेक्सेशन बेनिफिट की वजह से
टैक्स एफिशिएंट हो जाता है. यह महत्वपूर्ण है, क्योंकि अगले तीन सालों में सैलरी में ग्रोथ से टैक्सेबल इनकम भी बढ़ेगी. इस वजह से, यह फिक्स्ड डिपॉजिट की तुलना में एक बेहतर निवेश है.

इमरजेंसी फंड

डेट म्यूचुअल फंड अचानक आए मुश्किल समय में इमरजेंसी फंड उपलब्ध कराता है. युवा पैसे बचाने के बजाय खर्च
करना चाहते हैं. इस वजह से इमरजेंसी फंड बनाना मुश्किल है. ऐसे में जब मुश्किल समय आता है तो डेट फंड आपके
लिए सेविंग अकाउंट के रूप में काम करेगा.

युवा जो अपने जीवन में काफी कुछ हासिल करना चाहते हैं और एक सॉलिड फाइनेंशियल पोर्टफोलिया डेवलप करना
चाहते हैं, उन्हें डेट फंडों में निवेश करना चाहिए. उनके लिए निवेश शुरू करने का ये अच्छा विकल्प है.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष