भारतीय मूल के ये भाई-बहन क्रिप्टो माइनिंग से हर माह कमाते 30,000 डॉलर

Crypto Mining: भाई-बहनों ने समझाया कि घर में अत्यधिक ताप और शोर को रोकने के लिए शुरू में उन्हें माइनिंग के लिए गैरेज में जाना पड़ा.

  • Money9 Hindi
  • Publish Date - September 29, 2021 / 03:02 PM IST
 भारतीय मूल के ये भाई-बहन क्रिप्टो माइनिंग से हर माह कमाते 30,000 डॉलर
image: pixabay, जैसे ही बच्चों ने माइनिंग में कमान हासिल की, उन्होंने अधिक प्रोसेसर और एनवीडिया आरटीएक्स 3080-टीआई जीपीयू के साथ SHA256 सक्षम एएससी एंटीमिनर्स जैसे अधिक उपकरण भी जोड़े और 1000 डॉलर कमाने लगे.

Crypto Mining: अमेरिका के टेक्सास में रहने वाली भारतीय मूल के भाई-बहन की जोड़ी क्रिप्टो एसेट की माइनिंग से प्रतिमाह 30 हजार डॉलर से अधिक कमाने को लेकर चर्चा में हैं. 14 वर्षीय ईशान ठाकुर और 9 वर्षीय अनन्या ठाकुर की ये जोड़ी की कहानी सीएनबीसी में दिखाई गई थी. सीएनबीसी की इस रिपोर्ट में उन्होंने बताया था कैसे उन्होंने गर्मियों में क्रिप्टोकरेंसी की माइनिंग को शुरू किया ताकि नई टेक्नोलॉजी को सीखने के साथ कमाई भी की जा सके. बच्चों ने क्रिप्टो माइनिंग के लिए ऐसी टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जो 100 प्रतिशत रिनिवेबल है. ईशान को लगता है कि क्रिप्टो माइनिंग सोने या हीरे की माइनिंग के समान है.

माइनिंग के लिए गैरेज में जाना पड़ा

भाई-बहनों ने समझाया कि घर में अत्यधिक ताप और शोर को रोकने के लिए शुरू में उन्हें माइनिंग के लिए गैरेज में जाना पड़ा. अब वे केवल माइनिंग रिग के निर्माण और परीक्षण के लिए गैरेज का उपयोग करना पसंद करते हैं.
माइनिंग रिग के परीक्षण के बाद वे डाउनटाउन डलास में वातानुकूलित प्रोफेशनल डेटा सेंटर में चले जाते हैं.

बिटकॉइन, एथेरियम और रेवेनकोइन की माइनिंग

बच्चों ने सीएनबीसी को बताया कि उन्होंने एथेरियम कॉइन के साथ शुरुआत की और अब तीन प्रकार की क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन, एथेरियम और रेवेनकोइन की माइनिंग करते हैं.
जैसे ही बच्चों ने माइनिंग में कमान हासिल की, उन्होंने अधिक प्रोसेसर और एनवीडिया आरटीएक्स 3080-टीआई जीपीयू के साथ SHA256 सक्षम एएससी एंटीमिनर्स जैसे अधिक उपकरण भी जोड़े और 1000 डॉलर कमाने लगे.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष