Bitcoin: ऐसा क्या हुआ कि बिटकॉइन हुआ 4% धड़ाम

इस देश में क्रिप्टोकरेंसी के जरिए पेमेंट पर प्रतिबंध लगने से गिरावट आई, दरअसल वहां की करेंसी में दबाव से लोगों को Bitcoin लुभावने लग रहे हैं

Bitcoin: ऐसा क्या हुआ कि बिटकॉइन हुआ 4% धड़ाम
image: pixabay, ये कदम उन ट्रेडर्स को प्लेटफॉर्म देने का है, जहां वो बैंकों की नियम शर्तों से बिना प्रभावित हुए क्रिप्टो में व्यापार करना चाहते हैं.

सबसे ज्यादा जानी मानी क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन (Bitcoin) में शुक्रवार को 4 फीसदी का गोता लगाया है. ऐसा क्या हुआ कि रिकॉर्ड पर रिकॉर्ड बना रही ये करेंसी एक ही बार में 4 फीसदी टूट गई? दरअसल तुर्की (Turkey) में क्रिप्टोकरेंसी के इस्तेमाल पर बैन लगा दिया गया है जिसके बाद से ये गिरावट आई. तुर्की के केंद्रीय बैंक ने अन्य सामान या सेवाएं के लिए बिटकॉइन के इस्तेमाल पर रोक लगाई है. उनका कहना है कि इससे ट्रांजेक्शन रिस्क है और इससे जो नुकसान हो सकता है उसकी भरपाई नहीं हो पाएगी.

तुर्की के सेंट्रल बैंक ने साफ कहा है कि इन क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) को बतौर पेमेंट इस्तेमाल नहीं किया जा सकेगा. सेंट्रल बैंक का कहना है कि क्रिप्टोकरेंसी की चाल बेहद वॉलेटाइल है और इसे गैर-कानूनी काम के लिए भी इस्तेमाल किए जाने की आशंका है. उन्होंने माना कि क्रिप्टोकरेंसी किसी रेगुलेटरी अथॉरिटी के तहत नहीं है और ना ही इसकी निगरानी के लिए कोई मैकेनिज्म बनाया गया है.

 Bitcoin पर ये फैसला क्यों लिया गया?

तुर्की की आधिकारिक करेंसी लीरा में आई गिरावट के बाद लोगों ने बिटकॉइन और अन्य क्रिप्टोकरेंसी का रुख करना शुरू किया था. 1 डॉलर की कीमत लगभग 8.07 लीरा होती है. वहीं कॉइनबेस के मुताबिक 1 बिटकॉइन की कीमत 62,139.46 डॉलर के करीब है. कुल मिलाकर ये कि एक बिटकॉइन की वैल्यू 5 लाख लीरा से ज्यादा होती है. ऐसे में लोगों को बिटकॉइन और अन्य क्रिप्टोकरेंसी काफी लुभावने लग रहे हैं.

तुर्की के इन्फॉर्मेशन एंड कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी अथॉरिटी की एक रिपोर्ट के मुताबिक साल 2020 में देश में 24 लाख से ज्यादा क्रिप्टोकरेंसी यूजर्स थे.

कितना होगा असर?

हालांकि एक्सपर्ट के मुताबिक इस बैन का ज्यादा असर नहीं होगा. बिजनेस अखबार मिंट (Mint) की एक रिपोर्ट में BtcTurk क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज के CEO ओजगुर गुनेरी का कहना है कि इससे उनके बिजनेस पर ज्यादा असर नहीं होगा क्योंकि लोग क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) को बतौर एसेट निवेश के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं ना कि पेमेंट करने के लिए. लोग अब भी तुर्की में क्रिप्टोकरेंसी को खरीद-बेच या होल्ड कर सकते हैं. वे मानते हैं कि लंबी अवधि में इससे ज्यादा कोई असर नहीं होगा.

इस दौर में क्रिप्टोकरेंसी का विश्वभर में बोलबाला है. बिटकॉइन हो या ईथर और डोजेकॉइन, इन सभी ने पिछले हफ्ते ही रिकॉर्ड ऊंचाई हासिल की थी. वहीं इसी हफ्ते क्रिप्टोकरेंसी की दुनिया में एक बड़ा कदम ये रहा कि क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज कॉइबेस (Coinbase) ने अमेरिकी बाजार में डेब्यू किया है. लिस्टिंग के दूसरे दिन 16 अप्रैल को शेयर 5.96 फीसदी चढ़कर  342 डॉलर पर बंद हुआ. ये लिस्टिंग इसलिए भी अहम है क्योंकि ये दिखाती है कि लोगों क्रिप्टोकरेंसी में ट्रेड करने की सुविधा मुहैया कराने वाले प्लेटफॉर्म के बिजनेस पर भी भरोसा दिखा रहे हैं.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष