कम ब्याज दर पर चाहिए पर्सनल लोन? जानिए किन 5 बातों का ध्यान रखना है जरूरी

पर्सनल लोन लेने से पहले बाजार में मौजूद लैंडर्स की तरफ से दिए जाने वाली ब्याज दरों की तुलना करें. जहां सबसे कम ब्याज दर है, वहां अप्लाई कर सकते हैं.

  • Paurav Joshi
  • Publish Date - October 21, 2021 / 05:12 PM IST
कम ब्याज दर पर चाहिए पर्सनल लोन? जानिए किन 5 बातों का ध्यान रखना है जरूरी
पर्सनल लोन लेने से पहले बाजार में मौजूद लैंडर्स की तरफ से दिए जाने वाली ब्याज दरों की तुलना करें.

कोरोना क्राइसिस के कारण कई लोगों को आर्थिक संकट का सामना करना पड़ रहा है. इससे निपटने के लिए लोग पर्सनल लोन का सहारा ले रहे हैं. हालांकि ये लोन मिलना भी इतना आसान नहीं रहता. बैंक किसी भी व्यक्ति को लोन देने से पहले कई बातों पर ध्यान देता है. इन बातों के आधार पर ही लोन की रकम और उस पर लगने वाली ब्याज दर निर्भर करती है. पर्सनल लोन लेने से पहले मार्केट में अलग-अलग लेंडर्स द्वारा ऑफर किए जा रहे ब्याज दरों के बारे में रिसर्च कर लेना चाहिए, ताकि आप सबसे कम ब्याज दर का फायदा उठा सकें. यहां हम आपको पांच ऐसे टिप्स देने जा रहे हैं जिनकी मदद से आप सबसे कम ब्याज दर पर पर्सनल लोन प्राप्त कर सकते हैं.

क्रेडिट स्कोर

क्रेडिट कार्ड तो सभी लोग रखते हैं लेकिन उसे मैनेज करते हैं, यह अहम बात है. यही बात लोन के साथ भी है. लोन लेना और उसे मैनेज करना, समय पर उसे चुकाना बहुत बड़े मैनेजमेंट स्किल की मांग करते हैं. इस कला में सभी लोग माहिर नहीं होते और सही ढंग से प्रबंधन न करें तो कर्ज के जाल में फंस जाते हैं. अगर आपका क्रेडिट स्कोर 800 है तो बैंक आपको आसानी से लोन दे देते हैं. इससे ज्यादा क्रेडिट स्कोर हो तो और अच्छी बात क्योंकि बैंकों के लिए आप लो-रिस्क लेनदार हैं. क्रेडिट स्कोर से यह भी तय होता है कि आप लोन के लिए या क्रेडिट कार्ड, किसके लिए योग्य हैं. अगर आपका क्रेडिट स्कोर ठीक नहीं है तो आप लोन के कई ऑफर नहीं प्राप्त कर पाएंगे. बैंक आपको लोन देंगे भी तो बहुत ज्यादा ब्याज वसूलेंगे.

समय पर करें लोन रिपेमेंट

पर्सनल लोन के लिए ब्याज दर तय करने से पहले बैंक न केवल आपका सिबिल स्कोर चेक करता है बल्कि आपके लोन रिपेमेंट हिस्ट्री की भी जांच करता है. बैंक आमतौर पर उन लोगों को कर्ज देते हैं जिन्होंने पिछले 12 महीनों में डिफॉल्ट नहीं किया है. अगर एक लोन डिफॉल्टर को कर्ज दिया जाता है, तो वहां ब्याज दर ज्यादा हो सकता है. इसलिए, पर्सनल लोन पर कम ब्याज दर के लिए यह जरूरी है कि आपके लोन रिपेमेंट में अनुशासन हो.

प्रोफेशन

पर्सनल लोन की ब्याज दरों पर इस बात से भी फर्क पड़ता है कि लोन लेने वाला व्यक्ति करता क्या है? और उसे कितनी सैलरी मिलती है? ज्यादातर केस में नॉन सैलरी वाले लोगों के लिए लोन की ब्याज दरें महंगी होती है.

ब्याज दरों की तुलना करें

पर्सनल लोन लेने से पहले बाजार में मौजूद लैंडर्स की तरफ से दिए जाने वाली ब्याज दरों की तुलना करें. जहां सबसे कम ब्याज दर है, वहां से पर्सनल लोन अप्लाई कर सकते हैं. इसमें आप एनबीएफसी (NBFCs) को भी शामिल कर सकते हैं. इसके अलावा अगर आपका बैंक आपको प्री अप्रूव्ड लोन की सुविधा दे रहा है तो आप वो भी देख सकते हैं.

बैंक के साथ बनाएं अच्छा रिलेशन

बैंक में अपने आप को एक लॉयल कस्टमर के तौर पर साबित करना भी आपके लिए फायदेमंद हो सकता है. अगर बैंक में आपकी फिक्स्ड डिपॉजिट और सेविंग अकाउंट को खोलने और मैनेज करने से संबंधित हिस्ट्री अच्छी होगी तो इस स्थिति में भी आपको कम ब्याज दर पर लोन मिलने की संभावना बढ़ जाती है. बैंक के साथ अच्छे संबंध स्थापित करके आप आकर्षक ब्याज दरों पर पर्सनल लोन हासिल कर सकते हैं.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष