Credit Card स्टेटमेंट को इस तरह आसानी से समझें, पेनाल्टी की नहीं रहेगी फिक्र

Credit Card Statement: क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट से इस बात की जानकारी मिलती है कि ग्राहकों ने बिलिंग अवधि के लिए क्रेडिट कार्ड का उपयोग कैसे किया है.

  • Paurav Joshi
  • Publish Date - August 20, 2021 / 02:34 PM IST
Credit Card स्टेटमेंट को इस तरह आसानी से समझें, पेनाल्टी की नहीं रहेगी फिक्र
स्पेंडिंग के मामले में सबसे बड़ा नुकसान सिटीबैंक को हुआ है, जिसने कई वर्षों तक कार्ड स्पेंडिंग के मामले में रैंकिंग का नेतृत्व किया. 2020 में क्रेडिट कार्ड स्पेंडिंग में सिटीबैंक की हिस्सेदारी 7.8% थी. अब यह केवल 4.9% रह गई है.

Credit Card Statement: आजकल क्रेडिट कार्ड (Credit Card) का इस्तेमाल आम हो चला है. आप अगर क्रेडिट कार्ड (Credit Card) यूज करते हैं तो आपके पास इसके लेनदेन का विवरण हर महीने स्टेटमेंट के रूप में आता होगा. क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट से इस बात की जानकारी मिलती है कि ग्राहकों ने बिलिंग अवधि के लिए क्रेडिट कार्ड का उपयोग कैसे किया है.

स्टेटमेंट अवधि

बिल के टॉप पर, आपको स्टेटमेंट अवधि दिखेगी. स्टेटमेंट अवधि मासिक होती है. उदाहरण के लिए, यदि आपकी स्टेटमेंट अवधि 12 अप्रैल को शुरू होती है, तो यह 13 मई को खत्म हो जाएगी. यदि आप ब्याज फ्री दिनों को जानना चाहते हैं तो इस अवधि को ध्यान में रखा जाना चाहिए. आमतौर पर, बैंक 55 दिनों के लिए ब्याज मुक्त अवधि देते हैं, बस ध्यान रहे कि आप अपनी स्टेटमेंट अवधि बिना किसी बकाया राशि के शुरू करें.

इंटरेस्ट फ्री पीरियड

आपके लिए यह जानना जरूरी है कि “इंटरेस्ट फ्री पीरियड” की शुरुआत स्टेटमेंट तिथि से शुरू से होती है, न कि क्रेडिट कार्ड के माध्यम से अपनी खरीद की तारीख से. उदाहरण के लिए यदि आप 12 अप्रैल को खरीदारी करते हैं तो आपके पास 6 जून तक (55 दिन) तक ब्याज मुक्त दिन होंगे, लेकिन यदि आप 1 मई को खरीदारी करते हैं, तो आपके पास सिर्फ 37 इंटरेस्ट फ्री दिन होंगे.

पेमेंट ड्यू डेट

ये क्रेडिट कार्ड बिल के भुगतान की आखिरी तारीख है. इस तारीख के बाद किए गए पेमेंट पर दो तरह के चार्ज लगते हैं. पहला, आपको बकाया राशि पर ब्याज का भुगतान करना होगा और लेट पेमेंट फीस देनी पड़ती है. पेमेंट ड्यू डेट खत्म होने के बाद 3 दिनों का ग्रेस पीरियड दिया जाता है.

टोटल आउटस्टैंडिंग

आपको प्रति महीने कुल बकाया राशि का भुगतान करना चाहिए, जिससे कोई अतिरिक्त चार्ज नहीं लगे. कुल राशि में सभी EMI शामिल होती हैं, जिसके साथ बिलिंग साइकिल में लगे चार्ज होते हैं.

क्रेडिट लिमिट

क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट में आपको तीन तरह की लिमिट मिलेंगी कुल क्रेडिट लिमिट, उपलब्ध क्रेडिट लिमिट और कैश लिमिट.

फाइनेंस चार्जेज

आपके स्टेटमेंट में आपके अकाउंट का फाइनेंस चार्ज भी दिखता है. महीने के बिलिंग साइकिल के आखिरी में पेमेंट करके आप फाइनेंस चार्ज से मुक्ति पा सकते हैं.

रिवार्ड्स

आपके स्टेटमेंट में रिवार्ड का भी जिक्र होता है जो आपने वक्त के साथ अर्जित किए हैं. यह सिर्फ उन क्रेडिट कार्ड पर लागू होता है जो रिवार्ड्स देते हैं. रिवार्ड्स वाले कॉलम में आप कुल जमा पॉइंट्स देख सकते हैं. आप देख सकते हैं कि पिछले स्टेटमेंट से नए वाले स्टेटमेंट में कितने पॉइंट्स जुड़े. आप यह भी देख सकते हैं कि आपने कितने रिवार्ड्स पॉइंट्स को रिडीम किया है और कितने पॉइंट्स आपके खर्च और बर्बाद हो चुके हैं.

लिया जाने वाला इंट्रेस्ट

आपके अकाउंट स्टेटमेंट में आपके अकाउंट पर लिए जाने वाले टोटल इंट्रेस्ट का डीटेल भी रहता है.

खाते में बदलाव

क्रेडिट कार्ड समझौते के नियमों और शर्तों में किसी भी बदलाव को आम तौर पर भेजे गए मासिक डिटेल में पता लगाया जा सकता है, और अगर आपने इन्हें नहीं देखा तो ये छूट सकता है.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष