SBI सेविंग प्लस अकाउंट के हैं कई फायदे, यहां मिलेगी पूरी जानकारी

सेविंग बैंक अकाउंट कस्टमर्स के लिए पासबुक, ATM कार्ड, मोबाइल बैंकिंग, इंटरनेट बैंकिंग, SMS अलर्ट की सुविधा भी उपलब्ध है.

SBI सेविंग प्लस अकाउंट के हैं कई फायदे, यहां मिलेगी पूरी जानकारी
टैक्सपेयर को अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से योनो ऐप पर लॉग इन करना होगा. फिर 'शॉप एंड ऑर्डर' सेक्शन में जाएं

SBI Savings Plus account: कैश रखने के लिए सेविंग अकाउंट एक अच्छा विकल्प है. हालांकि इंटरेस्ट रेट बहुत कम है लेकिन लिक्विडिटी इसका एडवानटेज है. हमारे देश में हर बैंक यह सुविधा प्रदान करता है. भारतीय स्टेट बैंक, देश का सबसे बड़ा बैंक, अपने कस्टमर्स को नॉर्मल सेविंग अकाउंट की तुलना में ज्यादा इंटरेस्ट रेट कमाने का मौका दे रहा है. SBI सेविंग प्लस अकाउंट एक यूनिक सेविंग अकाउंट है जो आपको सेविंग अकाउंट के बैलेंस पर ज्यादा इंटरेस्ट रेट कमाने में मदद कर सकता है.

यह कैसे काम करता है

यह अकाउंट मल्टी ऑप्शन डिपॉजिट (MOD) से जुड़ा हुआ है, यह एक ऐसी सुविधा है जिसमें सेविंग बैंक अकाउंट से एक लिमिट से ज्यादा सरप्लस अमाउंट ऑटोमेटिकली ओपन किए गए फिक्स्ड डिपॉजिट में ट्रांसफर हो जाता है. फिक्स्ड डिपॉजिट में ट्रांसफर की न्यूनतम सीमा 35,000 रुपये है.

दूसरी तरफ, यदि सेविंग अकाउंट का बैलेंस 3,000 रुपये से कम हो जाता है, तो अमाउंट FD से निकालकर सेविंग अकाउंट में जमा कर दिया जाएगा, जिससे अकाउंट में मिनिमम बैलेंस बना रहेगा.

अवधि और इंटरेस्ट रेट

इस टर्म डिपॉजिट की अवधि एक साल से लेकर पांच साल तक है. इस पर लागू इंटरेस्ट रेट समान अवधि की FD के समान होगा.

SBI एक साल से पांच साल के बीच FD पर 5.00% से 5.30% के बीच इंटरेस्ट रेट ऑफर करता है. दूसरी ओर, SBI नॉर्मल सेविंग अकाउंट के बैलेंस पर केवल 2.70% इंटरेस्ट रेट ऑफर करता है.

एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया

SBI की ऑफिशियल वेबसाइट के अनुसार, वैलिड KYC डॉक्युमेंट रखने वाले सभी व्यक्ति सेविंग प्लस अकाउंट खोल सकते हैं. यह अकाउंट अकेले या संयुक्त रूप से खोला जा सकता है.

खास फीचर

– मल्टी ऑप्शन डिपॉजिट (जो कि FD की तरह है) में ट्रांसफर की न्यूनतम सीमा 35,000 रुपये है.

– MOD में ट्रांसफर की न्यूनतम राशि 10,000 रुपये है.

– मैक्सिमम बैलेंस की कोई लिमिट नहीं है.

– कोई मंथली एवरेज बैलेंस की आवश्यकता नहीं है.

– MOD पर लोन भी उपलब्ध है.

– सालाना 25 फ्री चेक लीव.

– सेविंग बैंक अकाउंट कस्टमर्स के लिए पासबुक, ATM कार्ड, मोबाइल बैंकिंग, इंटरनेट बैंकिंग, SMS अलर्ट की सुविधा भी उपलब्ध है.

HDFC, ICICI

HDFC बैंक और ICICI बैंक भी अपने कस्टमर्स को ये सुविधाएं ऑफर करते हैं. HDFC बैंक के मामले में, यदि सेविंग अकाउंट में फंड इंसफिशिएंट हो जाता है, तो जरूरत भर के अमाउंट को एफडी से काट लिया जाएगा और सेविंग अकाउंट में मिनिमम बैलेंस मेंटेन किया जाएगा.

ICICI बैंक, देश का एक और लीडिंग प्राइवेट सेक्टर का बैंक, स्पेशल मनी मल्टीप्लायर FD ऑफर करता है. इस सुविधा के तहत, सभी लिंक्ड फिक्स्ड डिपॉजिट ऑटोमैटिक रिवर्स स्वीप के लिए इनेबल होते हैं जब सेविंग अकाउंट में बैलेंस 10,000 रुपये से कम हो जाता है. यानी सेविंग अकाउंट में बैलेंस 10,000 रुपये से कम होने पर लिंक्ड FD से अमाउंट काटकर सेविंग अकाउंट में क्रेडिट कर दिया जाएगा.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष