इस बैंक की ब्‍याज दरों में हुआ बदलाव, यहां मिलेगी पूरी जानकारी

PNB: पिछले साल ही ये दो बैंक पंजाब नेशनल बैंक में विलय हुआ था. अब इन दोनों बैंक ब्रांच पीएनबी की शाखा के तौर पर काम कर रही हैं.

  • Money9 Hindi
  • Publish Date - September 3, 2021 / 03:15 PM IST
इस बैंक की ब्‍याज दरों में हुआ बदलाव, यहां मिलेगी पूरी जानकारी
पीएनबी तिमाही आधार पर औसत न्यूनतम राशि की गणना करता है. हर दिन क्लोजिंग पर खाते में न्यूनतम राशि होनी चाहिए.

आपका खाता पंजाब नेशनल बैंक (PNB) में है तो आपके लिए काम की खबर है. दरअसल देश के दूसरे सबसे बड़े सरकारी बैंक पीएनबी (PNB) ने सेविंग बैंक अकाउंट पर ब्याज दरों में बदलाव किया है. ये नई दरें 1 सितंबर से लागू हो गई हैं. आपको बता दें कि पंजाब नेशनल बैंक में ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (oriental bank of commerce) और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया (United bank of India) को मर्ज किया गया है. पिछले साल ही ये दो बैंक पंजाब नेशनल बैंक में विलय हुआ था. अब इन दोनों बैंक ब्रांच पीएनबी की शाखा के तौर पर काम कर रही हैं.

PNB की आधिकारिक वेबसाइट से मिली जानकारी के मुताबिक, बैंक (PNB) की सेविंग खाते पर ब्याज दरें 0.10 फीसदी तक घटा दी है. नई ब्याज दर 2.90 फीसदी सालाना होगी. जो फिलहाल 3 फीसदी सालाना है.PNB के अनुसार, नई ब्याज दरें बैंक के मौजूदा और नए खाताधारकों पर लागू होंगी.

जानिए बाकी बैंकों में क्‍या हैं ब्‍याज दरें

पंजाब नेशनल बैंक (PNB) देश का दूसरा सबसे बड़ा सरकारी बैंक है. पहला State Bank of India है और SBI बचत खाते पर सालाना 2.70 फीसदी ब्याज है. वहीं, कोटक महिन्द्रा बैंक और इंडसइंड बैंक के बचत खाते पर सालाना 4-6% ब्याज दर है.

अगर प्राइवेट बैंकों की बात करें तो डीसीबी बैंक में 3 से 6.75 फीसदी, आरबीएल बैंक में 4.25 से 6.25 फीसदी, बंधन बैंक में 3 फीसदी से 6 फीसदी, इंडसइंड बैंक में 4 फीसदी से 5.5 फीसदी और यस बैंक में 4 फीसदी से 5.25 फीसदी ब्याज मिल रहा है.

महीने की एक तय तारीख को बचत खाते से पैसे कटकर निवेश हो जाते हैं. शेयरों में निवेश के लिए बचत खाताधारक एक 3-इन-1 इनवेस्‍टमेंट, ट्रेडिंग और डीमैट अकाउंट खोल सकतें हैं. पीपीएफ, एफडी, इंश्‍योरेंस और अन्‍य निवेश उत्‍पादों में भी इंटरनेट बैंकिंग के जरिये निवेश किया जा सकता है.

बहुत काम आता है सेविंग अकाउंट

सेविंग बैंक अकाउंट का इस्‍तेमाल कोई व्‍यक्ति अपने कैश मैनेजमेंट सिस्‍टम की तरह कर सकता है. इसकी मदद से बिजली-पानी के बिलों का भुगतान, टैक्‍स का पेमेंट, लोन की ईएमाआई और इंश्‍योरेंस का प्रीमियम आसानी से दिया जा सकता है. कई इंटरनेट बैंकिंग पोर्टल ग्राहकों को स्‍नैपशॉट मुहैया कराते हैं. इसमें उनके खाते से जुड़े स‍भी निवेशों को देखा जा सकता है. भुगतान करने के लिए बैंक अकाउंट को भीम, गूगलप्‍ले, या पेटीएम जैसे पेमेंट एप्‍लीकेशन के साथ लिंक किया जा सकता है.

पर्सनल फाइनेंस पर ताजा अपडेट के लिए करें।