वक्त से पहले चुकाएं पर्सनल लोन, होंगे कई फायदे

प्री क्लोजर या फोर क्लोजर के लिए बैंक कुछ चार्ज वसूलते हैं. आम तौर यह राशि बकाया राशि की दो से चार फीसदी होती है.

  • Paurav Joshi
  • Publish Date - September 15, 2021 / 04:44 PM IST
वक्त से पहले चुकाएं पर्सनल लोन, होंगे कई फायदे
प्री-क्लोजर या फोर क्लोजर के लिए बैंक कुछ चार्ज वसूलते हैं.

लोन आपको अपनी जिंदगी का लक्ष्य पूरा करने में मदद करते हैं. चाहे घर खरीदना हो, आगे की पढ़ाई पूरी करनी हो, या किसी इलेक्ट्रॉनिक सामान की खरीदारी करनी हो. जरूरत के समय में यह आपका दोस्त बन सकता है. लेकिन आपका कर्ज पर्सनल लोन है तो उसकी ब्याज दरें अधिक होती हैं. इसलिए पर्सनल लोन कस्टमर की प्राथमिकता इसे जल्द से जल्द चुकाने पर होनी चाहिए. तो आइये जानते हैं कैसे इसे बेहतर तरीके से चुकाएं?

समय पूर्व लोन चुकाने के फायदे:

1. ब्याज का बोझ कम रहेगा
2. कर्ज से पूरी तरह छुटकारा पाने में मदद करेगा
3. लोन लेकर एसेट बनाने में मदद करेगा

पर्सनल लोन को चुकाने के लिए 3 तरीके

1. रेगुलर क्लोजर (Regular Closure)
2. प्री क्लोजर या फोर क्लोजर (Preclosure/Foreclosure)
3. आशिंक पेमेंट (Part payment)

कैसे करें रेगुलर क्लोजर (Regular Closure)

रेगुलर क्लोजर यानी नियमित तरीके से आप लोन चुका कर बंद कर रहे हैं. इसमें सबसे पहले आपको ये देखना होगा कि आपके लोन एग्रीमेंट में टाइम पीरियड कितना दिया गया है. क्योंकि टाइम के हिसाब से आपकी EMI बनती है. यहां हम आपको पर्सनल लोन बंद करने के बारे में बता रहे हैं. सबसे पहले जब आप पर्सनल लोन की आखिरी किस्त भरें और लोन बंद करने के लिए अपने बैंक से संपर्क करें. अपने सभी डॉक्यूमेंट्स लेकर बैंक अधिकारी के पास जमा कर दें. बैंक अधिकारी आपका लोन बंद करने से पहले आपकी सभी डॉक्यूमेंट्स का वेरिफाई करेंगे. डॉक्यूमेंटेशन के बाद बैंक आपको NOC दे देगा.

प्री-क्लोजर के लिए देना पड़ता है बैंक को चार्ज

प्री-क्लोजर या फोर क्लोजर के लिए बैंक कुछ चार्ज वसूलते हैं. आम तौर यह राशि बकाया राशि की दो से चार फीसदी होती है. आपको अपने सभी डॉक्यूमेंट बैंक को देने होंगे. जितनी राशि बकाया है उसका डिमांड ड्राफ्ट मांगा जाता है. पूरा पैसा मिलने के बाद बैंक एक एकनॉलेजेंट लेटर देता है. सारी प्रक्रिया के के बाद आपको बैंक की ओर एक प्री क्लोजर एग्रीमेंट दिया जाता है.

पार्ट पेमेंट

आप अपने पर्सनल लोन का कुछ हिस्सा चुकाते है तो उसे पार्ट पेमेंट या पार्शियल पेमेंट कहते हैं. इसके लिए बैंक से संपर्क कर सकते है. आपको एक रिक्वेस्ट लेटर देनी होती है. आप जितना पार्ट पेमेंट करना चाहता है तो उसे काट कर बैंक आपका ईएमआई बनाएगा. नई ईएमआई आपको बता दी जाएगी.

बचत की आदत डालें

जल्द कर्ज से छुटाकारा पाने में सक्षम होने का मतलब सिर्फ यही नहीं है कि आप अपनी चुकौती योजना पर अटल रहेंगे बल्कि इसका मतलब यह भी है कि आप समझदारी के साथ बचत करेंगे.आप जितना पैसा बचाएंगे, उतना ही अपने लोन को चुकाने के लिए इस्तेमाल करने में सक्षम होंगे.कुछ लोगों के लिए कर्ज के जाल में फंसने का एक कारण यह है कि वे अपनी क्षमता से अधिक खर्च करते रहते हैं.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष