स्टूडेंट्स और बेरोजगारों को भी मिल सकता है क्रेडिट कार्ड, जानिए कैसे

ऐड-ऑन कार्ड एक एडिशनल कार्ड है, जो प्राइमरी क्रेडिट कार्ड के तहत जारी किया जाता है.

  • Paurav Joshi
  • Publish Date - September 19, 2021 / 01:17 PM IST
स्टूडेंट्स और बेरोजगारों को भी मिल सकता है क्रेडिट कार्ड, जानिए कैसे
स्पेंडिंग के मामले में सबसे बड़ा नुकसान सिटीबैंक को हुआ है, जिसने कई वर्षों तक कार्ड स्पेंडिंग के मामले में रैंकिंग का नेतृत्व किया. 2020 में क्रेडिट कार्ड स्पेंडिंग में सिटीबैंक की हिस्सेदारी 7.8% थी. अब यह केवल 4.9% रह गई है.

CREDIT CARD आज के जमाने में एक जरूरत बनता जा रहा है. यह आजकल युवाओं में काफी लोकप्रिय हो रहा है. कई कंपनियां क्रेडिट कार्ड से पेमेंट करने पर ज्यादा DISCOUNT देतीं हैं. इसलिए क्रेडिट कार्ड एक तरह से सेविंग कार्ड बन जाता है. नौकरी होने पर क्रेडिट कार्ड आसानी से मिल जाता है. कारण है कि क्रेडिट कार्ड जारी करने से पहले बैंक और कार्ड कंपनियां आवेदक की इनकम का मूल्यांकन करते हैं. इसके लिए आपको सैलरी स्टेटमेंट, इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) जैसे दस्तावेजों का प्रूफ देना पड़ता है.

लेकिन, क्या आप जानते हैं कि नौकरी न होने पर (मसलन छात्र, रिटायर्ड व्यक्ति या गृहिणी) भी क्रेडिट कार्ड बनवाया जा सकता हैं? यह सही है कि स्वरोजगार करने वालों और नौकरी नहीं करने वालों को क्रेडिट कार्ड मिलना मुश्किल होता है, लेकिन यह असंभव नहीं है. ऐसे लोग कुछ शर्तों के साथ कार्ड पा सकते हैं.

FD पर मिलता है क्रेडिट कार्ड

कई बैंक FD पर क्रेडिट कार्ड देते हैं. इसमें बैंक उन ग्राहकों से क्रेडिट कार्ड की पेशकश करते हैं, जो उनके साथ FD भी खुलवाना चाहते हैं. जिनके पास स्थाई जॉब नहीं है, वे इस तरह से क्रेडिट कार्ड का लाभ ले सकते हैं. इन क्रेडिट कार्ड्स की लिमिट FD के 80-90 प्रतिशत तक की क्रेडिट लिमिट दी जाती है, हालांकि रकम निकासी 100% भी हो सकती है. कोटक महिंद्रा बैंक में 25,000 का फिक्स्ड डिपॉजिट अकाउंट खुलवाकर आप एक्वा गोल्ड क्रेडिट कार्ड ले सकते हैं.

स्टैंडर्ड क्रेडिट कार्ड

अगर आपके पास नौकरी नहीं है, लेकिन बैंक खाते में नियमित मनी फ्लो होता है यानी अलग-अलग स्रोतों से पैसे का आवागमन लगा रहता है तो कुछ जरूरी दस्तावेज देकर क्रेडिट कार्ड लिया जा सकता है. यह पैसा प्रफेशनल फीस या म्यूचुअल फंड से भी आ सकता है. बैंक आवेदक की कर्ज लौटाने की क्षमता का विश्लेषण करने के बाद क्रेडिट कार्ड इशू कर देती हैं. हालांकि जिनके पास नौकरी नहीं है वे ऑनलाइन एप्लाई नहीं कर सकते. उन्हें स्टैंडर्ड क्रेडिट कार्ड के लिए जरूरी दस्तावेज के साथ बैंक जाना पड़ेगा. ऐसे में नियमित रूप से ITR भरने के दस्तावेज भी देने होते हैं.

ऐड-ऑन कार्ड क्या है?

ऐड-ऑन कार्ड एक एडिशनल कार्ड है, जो प्राइमरी क्रेडिट कार्ड के तहत जारी किया जाता है. यह सामान्यतया प्राइमरी कार्डधारकों के करीबियों, 18 साल से ऊपर के बच्चों और पेरेंट्स के लिए जारी किया जाता है. अगर कोई बेरोजगार है और उसके परिवार में से किसी के पास प्राइमरी क्रेडिट कार्ड है, तो वह ऐड-ऑन क्रेडिट कार्ड का फायदा उठा सकता है.

आपको क्या करना चाहिए

क्रेडिट कार्ड से आपको आसानी से पैसा मिल जाता है लेकिन ध्यान रखें कि लापरवाही से आप कर्ज में भी फंस सकते हैं. क्रेडिट कार्ड आपके लिए तभी मददगार है जब आप सतर्क रहना और नियमित रहना जानते हों. खर्च के अलावा आपको और भी कई बातें जाननी चाहिए. इनमें समय पर बिल भरना, केवल न्यूनतम बिल नहीं बल्कि पूरा बिल भरने की आदत भी शामिल है.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष