इंडसइंड बैंक ने Q2 में दर्ज की 10% लोन ग्रोथ, डिपॉजिट में 21% की वृद्धि

IndusInd Bank Q2 Advances: बैंक ने रेगुलेटरी फाइलिंग में बताया कि उसके एड्वांसेस 2,21,821 करोड़ रुपये रहे, जो सालभर पहले 2,01,247 करोड़ रुपये थे

  • Money9 Hindi
  • Publish Date - October 5, 2021 / 01:49 PM IST
इंडसइंड बैंक ने Q2 में दर्ज की 10% लोन ग्रोथ, डिपॉजिट में 21% की वृद्धि
बैंक के डिपॉजिट सितंबर तिमाही में 21% बढ़कर 2,75,486 करोड़ रुपये पहुंच गए. बीते वित्त वर्ष की इसी तिमाही में ये 2,28,279 करोड़ रुपये थे

निजी क्षेत्र के कर्जदाता इंडसइंड बैंक (IndusInd Bank) ने चालू वित्त वर्ष की सितंबर तिमाही में एड्वांसेस (ग्राहकों को दिए जाने वाले कर्ज) में 10 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की है. बैंक ने मंगलवार को रेगुलेटरी फाइलिंग में बताया कि उसके एड्वांसेस (advances) दूसरी तिमाही के अंत में 2,21,821 करोड़ रुपये रहे, जो सालभर पहले 2,01,247 करोड़ रुपये पर थे.

बैंक के डिपॉजिट (deposits) भी सितंबर तिमाही में सालाना आधार पर 21 प्रतिशत बढ़कर 2,75,486 करोड़ रुपये पहुंच गए. बीते वित्त वर्ष की इसी तिमाही में ये 2,28,279 करोड़ रुपये थे. तिमाही आधार पर इसके डिपॉजिट में तीन प्रतिशत की वृद्धि हुई है. इस वित्त वर्ष की जून तिमाही में बैंक में 2,67,630 करोड़ रुपये जमा किए गए थे.

डिपॉजिट में इनकी रही हिस्सेदारी

इंडसइंड बैंक के लो-कॉस्ट डिपॉजिट (low cost deposit) – करेंट अकाउंट और सेविंग डिपॉजिट (CASA) – मौजूदा वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में कुल देनदारियों (liabilities) के 42.1 प्रतिशत रहे.

वहीं, रिटेल डिपॉजिट (retail deposits) और छोटा कारोबारियों की ओर से किए गए डिपॉजिट (deposits from small business customers) की कुल राशि सितंबर तिमाही के अंत में 111,749 करोड़ रुपये रही. यह जून तिमाही में 105,737 करोड़ रुपये थी.

इंडसइंड बैंक ने सेबी (Sebi) के नियमों के तहत अपने तिमाही आंकड़ों को जारी किया है. उसने रेगुलेटरी फाइलिंग में बताया है कि पेश किए गए आंकड़े बैंक के स्टैचुटेरी ऑडिटरों की ओर से किए गए लिमिटेड रिव्यू पर आधारित हैं.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष