घर बैठे कैसे खोलें सेविंग अकाउंट? इन प्वाइंट्स पर डालें नजर

ऑनलाइन निवेश कर सकते हैं या ऑनलाइन लोन ले सकते हैं. लेकिन डिजिटल सेविंग अकाउंट खोलने से पहले आपको कुछ बातों का ध्यान रखना होगा.

घर बैठे कैसे खोलें सेविंग अकाउंट? इन प्वाइंट्स पर डालें नजर
अगर आप लोन लेने की योजना बना रहे हैं, तो सभी डिटेल्स को पहले से जान लेना चाहिए है. समय आने पर, आपको कम ब्याज दरों से बहुत लाभ हो सकता है

बैंक अब हमारी उंगलियों पर आ गए हैं. लगभग सभी बैंकिंग से जुड़े काम और ट्रांजेक्शन स्मार्टफोन के जरिए किए जा सकते हैं. ज्यादा से ज्यादा बैंक ग्राहकों को डिजिटल बैंकिंग सॉल्युशन दे कर रहे हैं. सभी बड़े लोन देने वाले संस्थान अब कई डिजिटल ऑफर लेकर आ रहे हैं. डिजिटल मोड के जरिए बचत खाता खोलना उनमें से एक है. क्या आपने सोचा है कि अब आप बिना किसी डॉक्यूमेंट जमा किए कुछ ही मिनटों में एक बचत खाता (savings account) खोल सकते हैं और लेन-देन कर सकते हैं? बिना ब्रांच में जाए या ऑनलाइन निवेश कर सकते हैं या ऑनलाइन लोन ले सकते हैं. लेकिन डिजिटल सेविंग अकाउंट (savings account) खोलने से पहले आपको कुछ बातों का ध्यान रखना होगा.

ब्याज की दर

सेविंग अकाउंट खोलने से पहले सबसे जो चीज आपको जांच करनी चाहिए, उनमें पहली है ब्याज की दर. आम तौर पर, सेविंग अकाउंट की ब्याज दर 2.5% और 3.5 के बीच होती है. लेकिन फिर भी कुछ निजी बैंक बचत खाते में 6% से अधिक ब्याज देते हैं.

इसलिए डिजिटल अकाउंट खोलने से पहले, आपको ब्याज दर की जांच जरूर कर लेनी चाहिए. बैंक आपको क्या ब्याज दर ऑफर कर रहा है.

बैंकिंग फीस

सभी कमर्शियल बैंक के अपने कुछ नियम होते हैं. अगर एक निश्चित राशि अकाउंट में नहीं मैंटेन की जाए तो बैंक इसके लिए अकाउंट होल्डर पर पेनल्टी लगाते हैं.

बैंक ग्राहकों से कई तरीके की फीस लेते हैं. जैसे बैलेंस मेंटिनेंस फीस, एसएमएस चार्ज, एटीएम कार्ड चार्ज, बाउंस चेक फीस आदि शामिल हैं. इन हालातों में, जब आप अपना डिजिटल अकाउंट खोल रहे हों तो चार्ट को चेक कर सकते हैं. इसलिए चुनते हुए वक्त सबसे कम फीस का जरूर ध्यान रखें. यह भी चेक करें कि क्या ऑनलाइन खाता खोलने के लिए कोई स्पेशल फीस है. फिलहाल कुछ बैंक इसे ग्राहकों से वसूल रहे हैं.

डिजिटल लेंडिंग

कई बैंक डिजिटल रूप से लोन के लिए ऐप्लीकेशन करने वाले ग्राहकों को आकर्षक ब्याज दरों की पेशकश करते हैं. आप जिस बैंक में अकाउंट खोलने पर विचार कर रहे हैं, उसके बारे में जानकारियां. अगर आप लोन लेने की योजना बना रहे हैं, तो सभी डिटेल्स को पहले से जान लेना चाहिए है. समय आने पर, आपको कम ब्याज दरों से बहुत लाभ हो सकता है.

कस्टमर सपोर्ट

बैंकिंग की दुनिया में ग्राहक सेवा का बहुत महत्व है. यदि आप किसी भी परेशानी में पड़ जाते हैं, तो आपको तुरंत ग्राहक सहायता से संपर्क कर सकते हैं. चाहे डेबिट कार्ड की चोरी हो, डेबिट कार्ड हो या फंड ट्रांसफर करने में समस्या, बैंक को आपकी दिक्कतों को दूर करने के लिए तत्काल कस्टमर सर्विस देने में सक्षम होना चाहिए.ॉ

चेकिंग वेबसाइट और ऐप

सेविंग अकाउंट हमेशा ऑफिस की वेबसाइट या ऐप से ही खोलें. मेल या Whatsapp पर किसी के द्वारा भेजे गए किसी भी लिंक को न खोलें, क्योंकि यह एक ट्रैप हो सकता है.

सबसे बढ़िया को चुनें

आजकल, सभी प्रमुख कमर्शियल बैंक ऑनलाइन बैंकिंग सुविधाएं प्रदान कर रहे हैं. अधिकांश डिजिटल सेविंग अकाउंट सहज तकनीकी और उपयोगकर्ता अनुभव प्रदान करते हैं. कई फाइनेंशियल संस्थान 24×7 कस्टमर सर्विस, एक्सपेंस ट्रैकर, अलग अलग ट्रांजेक्शन पर सीमा निर्धारित करने का ऑप्शन देते हैं. UPI, पॉइंट ऑफ़ सेल, ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म, ऐप के माध्यम से डेबिट कार्ड को लॉक और अनलॉक करना आदि.

कोटक महिंद्रा और इंडसइंड जैसे निजी बैंक स्पेशल सेविंग अकाउंट की पेशकश करते हैं जो केवल डिजिटल जरिए से खोला जाता है. इनमें जीरो बैलेंस अकाउंट, फ्री डेबिट कार्ड, फ्री इंश्योरेंस आदि जैसी खास सुविधाएं हैं.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष