Credit Card: क्रेडिट कार्ड के लोन से छुटकारा पाने के ये हैं स्मार्ट तरीके

Credit Card: क्रेडिट कार्ड ग्राहकों को EMI का विकल्प देते हैं. अगर आपकी बकाया राशि बड़ी हो रही है, तो आप स्मार्ट ईएमआई का विकल्प चुन सकते हैं.

  • Money9 Hindi
  • Publish Date - October 4, 2021 / 12:06 PM IST
Credit Card: क्रेडिट कार्ड के लोन से छुटकारा पाने के ये हैं स्मार्ट तरीके
एक हाई क्रेडिट लिमिट चुनने का एकमात्र जोखिम अधिक खर्च करने और लोन-कर्ज के दलदल में फंसने की आदत है

Credit Card: अगर सही तरीके से उपयोग किया जाए तो Credit Card वास्तव में मददगार होते हैं. लेकिन अगर क्रेडिट कार्ड्स का उपयोग लापरवाही से किया जाए, तो यह आसानी आपको लोन के जाल में फसा सकते हैं. क्रेडिट कार्ड में इंटरेस्ट और पेनल्टी की दर सबसे ज्यादा होती है. आपको बता दें, ज्यादातर व्यक्तिगत लोन पर 11 से 20% की ब्याज दर होती है, जबकि क्रेडिट कार्ड 35% से 45% तक की दर से शुल्क चार्ज लेते हैं. इसलिए, सभी इन्वेस्ट एडवाइजर द्वारा समय पर क्रेडिट कार्ड बिलों का भुगतान करने की सलाह दी जाती है. लेकिन क्या होगा अगर कोई क्रेडिट कार्ड के लोन के जाल में फंस जाए? आज मनी9 आपको क्रेडिट कार्ड्स से जुड़े इन लोन्स से छुटकारा पाने के कुछ सुझाव दे रहा है.

स्मार्ट EMI

ज्यादातर सभी क्रेडिट कार्ड ग्राहकों को आकर्षक ईएमआई (EMI) का विकल्प प्रदान करते हैं. ऐसे में अगर आपकी बकाया राशि बड़ी हो रही है, तो आप स्मार्ट ईएमआई का विकल्प चुन सकते हैं.

इस प्रकार आप स्मार्ट ईएमआई का विकल्प चुनकर हर महीने छोटी राशि का भुगतान कर सकते हैं और इसके लिए आपसे कोई अतिरिक्त ब्याज या जुर्माना नहीं लिया जाएगा.

मान लीजिए यदि आपके पास 50,000 रुपये की बकाया राशि है और आप भुगतान करने के लिए छह महीने के कार्यकाल का विकल्प चुनते हैं. तो आपको बिना किसी अतिरिक्त दंड ब्याज के 8,400 रुपये प्रति माह का भुगतान करना होगा.

इस प्रकार यह आपके क्रेडिट कार्ड के बोझ को कम कर सकता है.

बैलेंस ट्रांसफर का उपयोग करना

क्रेडिट कार्ड बैलेंस को ट्रांसफर और शिफ्ट भी किया जा सकता है. उदाहरण के लिए, क्रेडिट कार्ड पर बकाया राशि को दूसरे कार्ड में ट्रांसफर किया जा सकता है.

बैलेंस ट्रांसफर मेथड आपको न केवल एक कार्ड से दूसरे कार्ड में शिफ्ट करने की अनुमति देता है, बल्कि एक कार्ड में कई कार्ड बकाया भी देता है.

एक्सपर्ट्स के मुताबिक, क्रेडिट कार्ड की बकाया राशि को कम करने के लिए, कोई भी बैलेंस ट्रांसफर विधि का उपयोग कर सकता है.

बैलेंस ट्रांसफर के साथ, कार्डधारक को देय राशि पर और ब्याज जोड़े बिना, राशि चुकाने के लिए 90 दिनों तक की एक नई क्रेडिट-मुक्त अवधि मिलती है.

लोन लेना

आप पर्सनल लोन लेकर कोई भी बकाया राशि का भुगतान कर सकते हैं. हालांकि यह एक अच्छा विकल्प नहीं माना जाता है, लेकिन फिर भी यह आपको कर्ज में डूबने से बचा सकता है.

अगर आप पर ज्यादा कर्ज हो गया है, तो आप इस प्रकार के विकल्पों का चयन कर सकते है. जहां पर लोन, क्रेडिट कार्ड के लोन की तुलना में कम इंटरेस्ट पर मिलता हो.

आपको बता दें, ज्यादातर व्यक्तिगत लोन पर 11 से 20% की ब्याज दर होती है जबकि क्रेडिट कार्ड 35% से 45% तक की दर से शुल्क चार्ज लेते हैं.

टॉप-अप लोन

यह एक अन्य प्रकार का लोन है, जिसे आप व्यक्तिगत लोन के अलावा चुन सकते हैं. आप टॉप-अप लोन के लिए तभी अप्लाई कर सकते हैं, जब आपके पास मौजूदा पर्सनल लोन हो.

एक बार जब आप लोन के लिए आवेदन करते हैं, तो ऋणदाता उचित परिश्रम करता है और इसे मंजूरी देता है. यदि आप दो साल या उससे अधिक समय से अपने मौजूदा लोन का भुगतान नियमित रूप से कर रहे हैं, तो आप आसानी से टॉप-अप लोन के लिए अप्रूवल प्राप्त कर सकते हैं.

आप इस पैसे का उपयोग एक बार में अपने क्रेडिट कार्ड लोन का भुगतान करने के लिए कर सकते हैं.

इस तरह कम करें बोझ

विशेषज्ञों के अनुसार, आप पहले छोटे बकाया का भुगतान करने का विकल्प चुन सकते हैं, क्योंकि एक ही कार्ड से बैलेंस क्लियर करने से आपको न केवल अपने क्रेडिट स्कोर बल्कि क्रेडिट उपयोग अनुपात में भी सुधार करने में मदद मिलेगी.

सेविंग्स ब्रेक करके

वैसे यह आपके लिए एक अंतिम ऑप्शन होना चाहिए. जिस पर आपको गंभीरता से विचार करना होता है. अगर आप बकाया राशि का भुगतान करने में असमर्थ हैं, तो आप क्रेडिट कार्ड लोन का भुगतान करने के लिए FD या अन्य कम आय वाले निवेशों से पैसे निकाल कर इसका भुगतान कर सकते हैं.

हालांकि, यह नियमित आधार पर नहीं किया जा सकता है, अन्यथा भविष्य में किसी आपातकालीन स्थिति के लिए आपके पास कोई सेविंग नहीं बचेगी.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष