Zomato होगा आपकी पसंदीदा चाय-टपरी का नया अड्डा, वेंडर्स की बढ़ेगी कमाई

Zomato: प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि स्कीम (PM SVANidhi Scheme) के तहत हुए इस करार में जोमैटो स्ट्रीट वेंडर्स को अपना प्लैटफॉर्म मुहैया कराएगा. 

Zomato होगा आपकी पसंदीदा चाय-टपरी का नया अड्डा, वेंडर्स की बढ़ेगी कमाई
PM स्वनिधि योजना में छोटा कारोबार शुरू करने के लिए कर्ज मिलता है. Pic Courtesy: Pixabay

अब आपकी पसंदीदा चाय-पकौड़े से लेकर छोले-कुल्चे तक जोमैटो  (Zomato) पर होंगे और आप एक क्लिक से घर बैठे ये मजा ले पाएंगे. तो वहीं स्ट्रीट वेंडर्स को अपनी गली से आगे के कस्टमर्स भी आसानी से ढूंढ सकेंगे ताकि बिजनेस भी बढ़े और कमाई भी.

आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय ने फूड डिलिवरी ऐप जोमैटो (Zomato) के साथ करार किया है जिसके तहत स्ट्रीट फूड वेंडर्स डिजिटल टेक्नोलॉजी का बेहतर इस्तेमाल कर सकेंगे. जोमैटो के साथ टाइ-अप से उनकी आय बढ़ने के मौके खुलेंगे. प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि स्कीम (PM SVANidhi Scheme) के तहत हुए इस करार में जोमैटो स्ट्रीट वेंडर्स (Street Vendors) को अपना प्लैटफॉर्म मुहैया कराएगा.

इस प्रोजेक्ट के तहत जोमैटो (Zomato) 300 वेंडर्स के साथ पायलट प्रोग्राम चलाएगा. फिलहाल भोपाल, लुधियाना, नागपुर, पटना और वडोदरा में ये सर्विस शुरू होगी. स्ट्रीट वेंडर्स को रिजिस्ट्रेशन में आसानी हो इसके लिए मदद भी दी जाएगी. स्ट्रीट वेंडर्स (Street Vendors) का मेनु बनेगा, ट्रेनिंग मिलेगी, सही दाम मिलेगा और साथ ही PAN और FSSAI रजिस्ट्रेशन भी होगा.

स्विगी के साथ भी करार

इससे पहले मंत्रालय ने प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना (PM SVANidhi Scheme) के अंतर्गत फूड डिलिवरी ऐप स्वगी (Swiggy) के साथ भी करार किया. स्विगी अभी इसे पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर शुरू कर रहा है है और अहमदाबाद, चेन्नई, दिल्ली, इंदौर और वाराणसी के स्ट्रीट फूड वेंडर्स को इसमें शामिल करेगा.

क्या है प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना?

मंत्रालय ने पिछले साल जून में प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना (PM SVANidhi Scheme) को लागू करना शुरू कर दिया था. जिस वक्त कोरोना संकट में स्ट्रीट वेंडर्स सबसे ज्यादा मुश्किल से जूझ रहे थे उस समय उन्हें वर्किंग कैपिटल के लिए लोन मुहैया कराया जा रहा था.

पहले शहरों में स्ट्रीट वेंडर्स के रूप में काम करने वाले 50 लाख से ज्यादा स्ट्रीट वेंडर्स को फायदा पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया था. स्ट्रीट वेंडर कारोबार शुरू करने के लिए 10,000 रुपए का छोटा लोन भी ले सकते हैं. 1 साल की अवधि में उन्हें वापस लौटाना होगा. समय पर, या समय से पहले लोन चुकाने पर खाताधारक के खाते में 7 प्रतिशत प्रतिवर्ष की ब्याज सब्सिडी तिमाही आधार पर दी जाएगी.

अब तक प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना (PM SVANidhi Scheme) के तहत 36.4 लाख लोन आवेदन आ चुके हैं जबकि 18.8 लाख लोन सैंक्शन कर दिए गए हैं. अब स्ट्रीट वेंडर्स की आय बढ़ाने के लिए जोमैटो (Zomato) और स्विगी (Swiggy) जैसे प्लेटफॉर्म्स के साथ करार किया जा रहा है.

पर्सनल फाइनेंस पर ताजा अपडेट के लिए करें।