ऑक्सीजन सप्लाई से लेकर वैक्सीन में मदद, ये देश निभा रहे हैं भारत से दोस्ती

Coronavirus Crisis: अमेरिका ने भारत की मदद करने का भरोसा दिया है. वहीं सिंगापुर, सऊदी अरब कोरोना संकट के बीच भारत की मदद कर रहे हैं.

ऑक्सीजन सप्लाई से लेकर वैक्सीन में मदद, ये देश निभा रहे हैं भारत से दोस्ती

Coronavirus Crisis: कोरोना संकट की दूसरी लहर से जूझते भारत की मदद के लिए कई देश आगे आए हैं. अमेरिका फर्स्ट कहकर पहले वैक्सीन के लिए कच्चे माल के निर्यात पर प्रतिबंध को लेकर अमेरिका ने भी यूटर्न लिया है और भारत की सहायता के लिए मेडिकल सप्लाई और इक्विप्मेंट भेजने का निर्णय लिया है. अमेरिका ही नहीं सिंगापुर, सऊदी अरब, यूरोपीय संघ, फ्रांस भी भारत की मदद के लिए आगे आए हैं.

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने ट्वीट कर लिखा, “जैसे भारत ने महामारी के शुरुआती दौर में युनाइटेड स्टेट्स की मदद की जब यहां के अस्पतालों पर दबाव था, वैसे ही हम भी इस संकट की घड़ी में दृढ़ता से भारत की मदद करेंगे.”

आपको बता दें कि भारत में कोविशील्ड का उत्पादन कर रही कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट के प्रमुख अदार पूनावाला ने अमेरिका से वैक्सीन के लिए जरूरी कच्चे माल के निर्यात पर लगाए प्रतिबंध को हटाने की मांग की थी.

अब अमेरिका की उप-राष्ट्रति कमला हैरिस ने भी कहा है कि अमेरिकी सरकार भारत सरकार के साथ सप्लाई और अतिरिक्त सहायता देने के लिए काम कर रही है.

ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए भारत ने कई देशों से ऑक्सीजन मैत्री के तहत सहायता मांगी है जिसमें कंटेनर और ऑक्सीजन सिलेंडर सप्लाई में मदद मिलेगी.

भारतीय वायुसेना ने शनिवार को ही C-17 हेवी लिफ्ट एयरक्राफ्ट के जरिए सिंगापुर से 4 क्रायोजेनिक टैंक भारत लाए हैं जिनसे ऑक्सीजन का ट्रांसपोर्टेशन आसान होगा. या लाकर पानागढ़ सुरक्षित पहुंचाए गए हैं.

सऊदी अरब भी भारत को इस मुश्किल घड़ी में 80 मेट्रिक टन लिक्विड ऑक्सजीन भेज रहा है. अडानी ग्रुप और लिंडे के साथ मिलकर ये सप्लाई की जा रही है.

यूरोपीय काउंसिल के प्रेसिडेंट चार्ल्स माइकल ने कहा है कि वे भारत की मदद के लिए सहायता और सपोर्ट पर 8 मई को होने वाली EU-भारत बैठक में इसपर चर्चा करेंगे.

वहीं फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने भी भारत की मदद के लिए हाथ बढ़ाया है. उन्होंने कहा है कि वे भारत को सहायता देने के लिए तैयार हैं.

वहीं नई दिल्ली स्थित ब्रिटेन के उच्चायुक्त ने एक वीडियो संदेश में कहा कि उनका देश महामारी से निपटने के लिए भारत को आवश्यक चिकित्सा उपकरण उपलब्ध करा रहा है। उन्होंने कहा कि दोनों देश मिलकर इस संकट को परास्त करेंगे.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष